• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

राजनीति से संन्यास क्यों? बाबुल सुप्रियो बोले-'मैं कुछ नहीं कहना चाहता, प्लीज गरिमा बनाए रखने दें'

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 1 अगस्त: पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से संन्यास लेने की शनिवार (31 जुलाई) को घोषणा की। बाबुल सुप्रियो ने इस बात की जानकारी अपने सोशल मीडिया पोस्ट से दी। बाबुल सुप्रियो ने कहा है कि वह जल्द ही लोकसभा सांसद से इस्तीफा दे देंगे और सरकारी आवास खाली कर देंगे। उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में बीजेपी से विरोधाभास का भी जिक्र किया है। लेकिन शनिवार को ही जब वह बाहर निकले तो पत्रकारों ने उनसे पूछा कि उन्होंने राजनीति से संन्यास की घोषणा क्यों की है? जिसपर किसी भी तरह से कोई भी टिप्पणी करने से बाबुल सुप्रियो ने इनकार कर दिया।

    Babul Supriyo Quits Politics, बोले- जो कहना चाहता था सब लिख दिया | वनइंडिया हिंदी
    मैं एक भी शब्द नहीं बोलना चाहता हूं: बाबुल सुप्रियो

    मैं एक भी शब्द नहीं बोलना चाहता हूं: बाबुल सुप्रियो

    बाबुल सुप्रियो ने कहा, ''मैं सच में इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं। मेरे पास वास्तव में टिप्पणी करने के लिए कुछ नहीं है। कृपया मुझे अपनी गरिमा बनाए रखने दें। मैं एक भी शब्द नहीं बोलना चाहता हूं। मैं जो कहना चाहता था, मैंने लिखा है।''

    मैं किसी भी राजनीतिक पार्टी में शामिल नहीं होने वाला हूं: बाबुल सुप्रियो

    मैं किसी भी राजनीतिक पार्टी में शामिल नहीं होने वाला हूं: बाबुल सुप्रियो

    बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से संन्यास लेते हुए अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, ''चलता हूं, अलविदा, अपने मां-पिता, पत्नी, दोस्तों से बात करके मैंने ये फैसला किया है कि मैं अब राजनीति छोड़ रहा हूं।''

    बाबुल सुप्रियो ने कहा, ''मैं किसी भी राजनीतिक पार्टी में शामिल नहीं होने जा रहा हूं। टीएमसी, कांग्रेस, सीपीआई (एम)...किसी ने मुझे नहीं बुलाया है, मैं कहीं नहीं जा रही हूं। मैं एक टीम के साथ रहने वाला खिलाड़ी हूं।''

    क्या मंत्री पद हाथ से जाने पर बाबुल सुप्रियो ने छोड़ी राजनीति?

    क्या मंत्री पद हाथ से जाने पर बाबुल सुप्रियो ने छोड़ी राजनीति?

    बाबुल सुप्रियो ने कहा, ''अगर कोई मुझसे से पूछे कि क्या मंत्री पद हाथ से जाना राजनीति छोड़ने से जुड़ा हुआ है तो मैं कहूंगा कि ये एक हद तक सच है। लेकिन चुनाव (पश्चिम बंगाल) शुरू होने से पहले से ही मेरे राज्य प्रभारियों के सात मतभेद थे। चुनाव से पहले ही मेरे पार्टी नेतृत्व में काफी विरोधाभास था। कुछ लोग इन घटनाओं को अक्सर उठा रहे थे, इसके लिए कुछ लोग जिम्मेदार थे और मैं भी उतना ही जिम्मेदार था।''

    ये भी पढ़ें-क्या बाबुल सुप्रियो दूसरी पार्टी में शामिल हो रहे हैं? सिंगर ने एडिट की अपनी एफबी पोस्ट, हटाया ये हिस्साये भी पढ़ें-क्या बाबुल सुप्रियो दूसरी पार्टी में शामिल हो रहे हैं? सिंगर ने एडिट की अपनी एफबी पोस्ट, हटाया ये हिस्सा

    'मुझे लगता है कि ये सही फैसला होगा'

    'मुझे लगता है कि ये सही फैसला होगा'

    बाबुल सुप्रियो ने कहा, 5 सालों के अंदर बीजेपी ने पश्चिम बंगाल में एक लंबा सफर तय किया है। पहले सिर्फ मैं था और आज काफी नए नेता हैं। आज पार्टी में कई नए और शानदार नेता हैं। उनमें से कुछ युवा हैं और कुछ अनुभवी हैं। मुझे इसमें कोई दो राय नहीं हैं कि उनके मार्गदर्शन में पार्टी पश्चिम बंगाल में बहुत आगे जाएगी। पार्टी के लिए आज कोई भी एक शख्स अहमियत नहीं रखता है। मुझे लगता है कि ये सही फैसला होगा।''

    English summary
    Babul Supriyo on why he announced retirement from politics says Please let me keep my dignity
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X