• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

क्या बाबुल सुप्रियो दूसरी पार्टी में शामिल हो रहे हैं? सिंगर ने एडिट की अपनी एफबी पोस्ट, हटाया ये हिस्सा

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, जुलाई 31 पश्चिम बंगाल के आसनसोल से बीजेपी सांसद और मशहूर सिंगर बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से संन्यास का ऐलान किया है। उन्हें हाल ही में मोदी सरकार में मंत्री पद से हटाया गया था। पद से हटाए जाने के कुछ सप्ताह बाद आज उन्होंने राजनीति से संन्यास का ऐलान कर दिया। उन्होंने राजनीति छोड़ने का ऐलान फेसबुक पर पोस्ट शेयर कर किया था। इस पोस्ट के लिए के एक घंटे बाद बाबुल ने अपनी उस पोस्ट को एडिट किया है। जिसके बाद ऐसे अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं कि क्या वे किसी और पार्टी में शामिल होने वाले हैं?

Babul Supriyo Edits his FB Post Political circles are currently buzzing with speculation

आसनसोल के सांसद बाबुल सुप्रियो ने फेसबुक पर अपनी पहली पोस्ट जिसमें उन्होंने राजनीति को 'अलविदा' कहा था, वह शाम लगभग 4:30 बजे पोस्ट की गई थी। उन्होंने लिखा था कि, चलता हूँ, अलविदा, अपने माँ-बाप, पत्नी, दोस्तों से बात करके मैं कह रहा हूँ कि मैं अब (राजनीति) छोड़ रहा हूं। मैं किसी राजनीतिक दल में नहीं जा रहा हूं। टीएमसी, कांग्रेस, सीपीआई (एम)...किसी ने मुझे नहीं बुलाया है। मैं कहीं नहीं जा रहा हूं। मैं एक टीम के साथ रहने वाला खिलाड़ी हूं। हमेशा सिर्फ़ एक टीम मोहन बागान का समर्थन किया है। सिर्फ़ एक पार्टी बीजेपी (पश्चिम बंगाल) के साथ रहा हूँ। बस यही है, अब चलता हूँ।

हालाँकि, वर्तमान पोस्ट को संपादित किया गया है और उसमें वह हिस्सा गायब है। जिसमें उन्होंने कहा था कि वह किसी भी पार्टी - टीएमसी, कांग्रेस, सीपीआईएम, या किसी अन्य पार्टी में शामिल नहीं हो रहे हैं। इसके बाद राजनीतिक गलियारा में अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। लोग अटकलें लगा रहे है कि कही वे किसी अन्य पार्टी में तो शामिल होने नहीं जा रहे हैं।माना जा रहा है कि उन्होंने पूरी तरह से राजनीति को नहीं छोड़ रहे हैं जैसा कि उन्होंने अपने पहले पोस्ट में दावा किया था।

Babul Supriyo Edits his FB Post Political circles are currently buzzing with speculation

मोदी सरकार ने हाल में मंत्रिमंडल का विस्तार और उसमें फेरबदल किया था तो बाबुल सुप्रियो को मंत्री पदा से हटा दिया था। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भी बाबुल सुप्रियो को पार्टी ने उम्मीदवार बनाया था लेकिन सुप्रियो करीब 50 हजार वोट के अंतर से टीएमसी के अरूप बिस्वास से हार गए थे। साल 2014 में लोकसभा सांसद बनकर संसद पहुंचने वाले बाबुल सुप्रियो अब तक कई मंत्रालयों का कार्यभार संभाल चुके हैं।

ललन सिंह बने JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष, कार्यकारिणी के बैठक में लिया गया फैसलाललन सिंह बने JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष, कार्यकारिणी के बैठक में लिया गया फैसला

फेसबुक पोस्ट में बाबुल सुप्रियो ने दावा किया है कि वह बहुत पहले ही राजनीति से तौबा का मन बना चुके थे, बस इसलिए हिचक रहे थे कि लोग गलत मतलब न निकालने लगें, उसे सौदेबाजी के लिए कोई पैंतरा न समझने लगें। तो क्या सचमुच वह राजनीति से संन्यास का फैसला काफी पहले ही ले चुके थे, जैसा कि वह दावा कर रहे हैं? सच्चाई को उनसे बेहतर कोई नहीं जान सकता लेकिन कई बातें उनके दावे पर सवाल उठाती हैं। राजनीति से संन्यास का मन बना रहा कोई मौजूदा सांसद भला विधानसभा का चुनाव लड़ने के लिए क्यों तैयार होगा?

English summary
Babul Supriyo Edits his FB Post Political circles are currently buzzing with speculation
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X