• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बाबरी मस्जिद विध्वंस केसः विशेष कोर्ट 4 जून को दर्ज करेगी 32 आरोपियों के बयान

|

नई दिल्ली। अयोध्या बाबरी मस्जिद विध्वंस केस पर लखनऊ में सीबीआई की विशेष कोर्ट में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई के बाद आगामी 4 जून के लिए सभी 32 आरोपियों के बयान दर्ज करने की तारीख तय की हैं। हालांकि सीबीआई ने मामले में कुल 49 लोगों को आरोपित किया था, लेकिन अब तक आरोपितों में से 19 की मौत हो चुकी है।

ayodhya

गुरूवार को विशेष कोर्ट में जब सुनवाई शुरू हुई तो बचाव पक्ष की ओर से दलील दी गई कि लॉकडाउन के चलते लोगो से संपर्क नहीं हो पाया और बयान दर्ज करने के लिए अतिरिक्त समय की मांग की गई, जिसको मंजूरी करते हुए कोर्ट ने नई तारीख 4 जून तय कर दी है, जिसमें पूर्व गृह मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत 32 लोगों का बयान दर्ज होना है।

ayodhya

बाबरी मस्जिद के पूर्व पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा- देश के गद्दार हैं जमाती, कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए

गौरतलब है गत 8 मई को जारी एक आदेश में सुप्रीम कोर्ट ने हर हाल में 31 अगस्त तक मामले की सुनवाई पूरी करने को कहा था। कोर्ट ने सुनवाई पूरी करने के लिए विशेष कोर्ट का कार्यकाल तीन महीने के लिए बढ़ाते हुए कहा था कि मामले में आगामी 31 अगस्त तक फैसला सुनाया जाना चाहिए।

ayodhya

बाबरी मस्जिद के दावेदारों को अब चाहिए ढांचे का बचा हुआ मलबा, जानिए राम लला के सखा ने क्या कहा ?

गुरुवार की हुई सुनवाई के लिए विशेष न्यायाधीश एसके यादव ने लाल कृष्ण आडवाणी, उमा भारती, कल्याण सिंह, मुरली मनोहर जोशी, पवन कुमार पांडेय, बृजभूषण शरण सिंह, सतीश प्रधान, विनय कटियार, साध्वी ऋतभरा, राम विलास वेदांती, चंपत राय, नृत्यगोपाल दास, लल्लू सिंह, महंत धर्मदास, साक्षी महाराज, आरएन श्रीवास्तव समेत 32 आरोपियों को गवाही के लिए तलब किया था।

ayodhya

'हम बनाएंगे बाबरी मस्जिद', फरहान आजमी के बयान पर क्या बोले योगी के मंत्री मोहसिन रजा?

हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने बाबरी मस्जिद विध्वंश मामले में सीबीआई को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई करने का निर्देश दिया था। इस मामले में राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह, पूर्व सांसद विनय कटियार, साध्वी ऋतंबरा का नाम भी आरोपियों में शामिल हैं। हालांकि पूर्व में कुल 49 आरोपी बनाए गए थे, लेकिन अब केवल 32 आरोपी ही जीवित बचे हुए हैं।

ayodhya

अबु आजमी के बेटे का बयान- उद्धव ठाकरे के साथ मैं भी जाऊंगा अयोध्या, वो राम मंदिर बनाएंगे और हम बाबरी मस्जिद

उल्लेखनीय है आज से करीब 28 वर्ष पूर्व शुरू हुए केस में गत 6 दिसंबर, 1992 को अयोध्या में थाना राम जन्मभूमि में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। सीबीआई ने मामले की जांच करते हुए कुल 49 आरोपियों के खिलाफ विशेष कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किया था, जिनमें प्रमुख रूप से पूर्व उप प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी, पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह और बजरंग दल प्रमुख विनय कटियार और साध्वी ऋतंबरा का नाम शामिल है।

बाबरी मस्जिद विध्वंस केस: सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई अदालत से 31 अगस्त तक फैसला सुनाने को कहा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
When the hearing started in the special court on Thursday, the defense argued that due to the lockdown, the people could not be contacted and demanded additional time to record the statement, which was cleared by the court on the new date 4. June has been set, in which statements of 32 people, including former Home Minister and senior BJP leader LK Advani, Murali Manohar Joshi and Uma Bharti, are to be recorded.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more