• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बर्थडे स्‍पेशल: चुनाव हारने के बाद आजकल क्या कर रही दंगल गर्ल बबीता फोगाट, जानिए तमाम दिलचस्‍प बातें

|

बेंगलुरु। दंगल गर्ल बबीता फोगाट आज अपना 30वां जन्‍मदिन मना रही हैं। 20नवंबर 1989 को छोटे से गांव भिवानी में फोगाट परिवार में बबीता कुमारी फोगाट का जन्‍म हुआ। कुस्‍ती के दम पर पूरी दुनिया में भारत का मान बढ़ाने वाली रेस्‍लर बबीता पिछले कुछ समय से कुश्‍ती नहीं बल्कि अन्‍य कई मुद्दों की वजह से चर्चा में बनी हुई हैं। दरअसल पुलिस की नौकरी छोड़ भाजपा से हरियाणा विधान सभा में चुनाव हार चुकी बबीता ने अब अपने जीवन से जुड़ा अहम फैसला लिया है।

babita

1 दिसंबंर को शादी के बंधन में बंधने जा रही है

बबीता 1 दिसंबर 2019 को शादी के बंधन में बंधने जा रही हैं। जिसकी तैयारियों में बहुत व्‍यस्‍त हैं। बबीता ने हाल ही में यह खुलासा मीडिया के सामने किया था। बबीता ने नजफगढ़ के पहलवान विवेक सुहाग को अपना जीवनसाथी चुना हैं। शादी एक दिसंबर को चरखी दादरी के बलाली गांव में होगी। शादी के रीति रिवाज हरियाणवी होगें। वहीं रिसेप्शन 2 दिसंबर को दिल्ली में रखा गया है। बबीता ने फिल्म व खेल जगत की तमाम बड़ी हस्तियों को शादी समारोह में शामिल होने के लिए न्योता भेजा हैं। बबीता फोगाट ने प्रधानमंत्री नरेंद मोदी को भी शादी में सम्मिलित होने के लिए आमंत्रित किया हैं।

babita

बबीता को रेस्लर बनाने में पिता का है अहम योगदान

बता दें बबीता अपनी सभी बहनों में दूसरे नंबर पर हैं। पहलवानों के इस परिवार में सबसे बड़ी गीता हैं। गीता के बाद बबीता, ऋतु और फिर संगीता हैं। फोगाट बहनों के नाम से दुनियाभर में मशहूर ये पहलवान बहनें पूरे विश्व में न सिर्फ अपने माता-पिता का नाम रोशन कर रही हैं बल्कि देश का गौरव भी बढ़ा रही हैं। फोगाट बहनों को दुनियाभर में पहचान दिलाने वाला कोई बाहरी शख्स नहीं बल्कि खुद उनके पिता महावीर फोगाट हैं। बबीता कुमारी फोगाट के पिता महावीर फोगाट को पहलवानी का शौक था।

babita

महावीर चाहते थे कि उनकी पत्नी को बेटा हो, लेकिन दूसरी बार भी उनको बेटी हुई। कुछ दिन तक वे इस गम को अंदर संभाले रखे, लेकिन बाद में उनका मन बदल गया और एक इरादा बन गया कि देश को गोल्ड दिलाना है तो दिलाना है फिर चाहे गोल्ड छोरा लाए या फिर छोरी। महावीर ने अपनी बेटियों को तराश कर हीरा बनाया।

babita

चार बेटियों को विश्व स्तरीय पहलवान बनाने वाले महावीर फोगाट को भारत सरकार ने गुरु द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित किया था। बबीता फोगाट को रेस्लर बबीता कुमारी फोगाट बनाने में अहम योगदान उनके पिता का है, लेकिन बबीता ने कड़ी मेहनत और मजबूत इरादों से अपने विरोधियों को चारों खाने चित कर कई तमगे हासिल किए हैं।

babita

अर्जुन पुरस्‍कार से सम्मानित हो चुकी है बबीता

फ्रीस्टाइल रेस्लर बबीता फोगाट ने अपने करियर में कुल 7 पदक जीते हैं, जिसमें 4 गोल्ड मेडल, 2 ब्रॉन्ज और एक सिल्वर मेडल शामिल है। सबसे पहले बबीता फोगाट साल 2010 में दिल्ली में खेले गए राष्ट्रमंडल खेलों से चर्चा में आईं। जिसमें उन्होंने रजत पदक जीता था। बबीता ने साल 2012 में विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता। साल 2009 से 2013 तक किए गए प्रदर्शन के दम पर हरियाणा की तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने उनको हरियाणा पुलिस में सबइंस्‍पेक्टर की नौकरी दी।

babita

उन्होंने 2014 के ग्लासगो राष्ट्रमंडल खेलों में गोल्ड मेडल जीतकर देश का गौरव बढ़ाया। बबीता की जीत का सिलसिला लगातार जारी रहा। 2013 में हुई एशियन चैंम्पियनशिप में भी बबीता को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था, जबकि 2009(जालंधर) और 2011(मेलबर्न) में कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में उन्होंने गोल्ड मेडल हासिल किया था। बबिता ने 2014 ग्लास्गो कॉमनवेल्थ इसके बाद 2018 में गोल्डकोस्ट में में एक बार फिर गोल्ड मेडल जीतकर पूरी दुनिया में भारत की पहलवानी का डंका बजाया। बबीता को शानदार प्रदर्शन के लिए अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका हैं।

babitamodi

कुश्‍ती छोड़ राजनीति में भी अजमाईं किस्‍मत

गोल्डकोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों के बाद ही बबीता फोगाट ने अपने कुश्‍ती के करियर से कूच करने का मन बना लिया। सिंतबर में बबीता फोगाट ने पिता के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सदस्यता ले ली। कुश्‍ती से दूर होने के बाद बबिता ने राजनीति में अपनी किस्‍मत अजमायीं । हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 में फोगाट ने दादरी सीट से विधायक पद का चुनाव लड़ा। जिसके चलते बबीता को हरियाणा पुलिस में सब-इंस्पेक्टर की नौकरी बबीता ने छोड़नी पड़ी। भाजपा के उन्हें दादरी विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने का मौका दिया था लेकिन वे हार गईं।

7th Pay Commission:योगी सरकार का बड़ा फैसला, 45000 रू बढ़ी इन कर्मचारियों की सैलरी,केंद्रीय कर्मचारियों को जल्द मिलेगा ये तोहफा

Haryana Election 2019: बबीता फोगाट से सनी देओल ने मांगी माफी, फिर पहलवान ने भी दिया जवाब

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Babita Phogat's 20th November is the 30th birthday. Babita, who quit the police job and is going to contest Haryana elections, is going to marry on 1 December. Important things related to the life of Gold Medalist wrestler Babita Phogat from ordinary Babita Phogat
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more
X