India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

जिग्नेश मेवाणी की जमानत के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंची असम सरकार, निचली अदालत के फैसले को बताया गलत

|
Google Oneindia News

गुवाहटी, मई 02। गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी की जमानत के खिलाफ असर की सरकार ने हाईकोर्ट जाने का फैसला किया है। आपको बता दें कि निचली अदालत ने जिग्नेश मेवाणी को एक मामले में जमानत दे दी थी, लेकिन राज्य सरकार ने इस फैसले को अनुचित कहते हुए इसके खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर दी है। यह जानकारी सोमवार को असम सरकार के अधिवक्ता देबोजीत सैकिया ने दी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने मेवाणी को मिली जमानत को चुनौती देने का फैसला किया है।

Jignesh Mevani

'निचली अदालत का फैसला पुलिस का मनोबल गिराएगा'

देबोजीत सौकिया ने बताया कि निचली अदालत ने एक आदेश पारित किया जहां उन्होंने न केवल जिग्नेश मेवाणी को जमानत दी, बल्कि असम पुलिस के साथ-साथ असम राज्य के खिलाफ कुछ टिप्पणियां भी पारित कीं, जिसमें आशंका है कि असम एक पुलिस राज्य बन सकता है। उन्होंने कहा कि निचली अदालत का फैसला पुलिस के मनोबल को तोड़ने वाला है, इसलिए असम सरकार गुवाहटी हाईकोर्ट के समक्ष निचली अदालत के फैसले को चुनौती देगी।

जिग्नेश को हाईकोर्ट ने भेजा नोटिस

देवजीत सैकिया ने कहा कि जिग्नेश मेवाणी को निचली अदालत ने जो जमानत दी थी, उस फैसले ने असम पुलिस के हित और कामकाज के साथ-साथ राज्य सरकार की प्रतिष्ठा को भी नुकसान पहुंचाया है। हाईकोर्ट ने भी बहुत स्पष्ट रूप से कहा कि जिला और सत्र न्यायाधीश को इस तरह के फैसले देने का कोई अधिकार नहीं था। हाईकोर्ट ने जिग्नेश मेवाणी को 27 मई को मामले की आगे की सुनवाई के लिए एक नोटिस भी जारी कर दिया है।

ये भी पढ़ें: गुजरात कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने अपने ट्विटर बायो से हटाया पार्टी का नामये भी पढ़ें: गुजरात कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने अपने ट्विटर बायो से हटाया पार्टी का नाम

Comments
English summary
Assam Govt moves to high court against bail of Jignesh mevani
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X