• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

6 दिसम्बर को याद रखना और आने वाली पीढ़ियों को भी बताना, बाबरी की बरसी पर ओवैसी

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। आज 6 दिसम्बर के दिन आल इंडिया मसलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने बाबरी मस्जिद के विध्वंस को लेकर तीखी प्रतिक्रिया दी है। ओवैसी ने कहा कि इस दिन को याद रखना और आने वाली पीढ़ियों को भी सिखाना कि वे इसे याद रखें।

    Babri Masjid demolition anniversary: बाबरी विध्वंस की बरसी पर क्या बोले Owaisi? | वनइंडिया हिंदी
    Asaduddin Owaisi

    ओवैसी ने ट्विवटर पर लिखा "400 से ज्यादा वर्षों तक हमारी बाबरी मस्जिद अयोध्या में खड़ी रही। हमारे पुरखे इसके हाल में खड़े होकर प्रार्थना करते रहे इसके अहाते में एक साथ अपना उपवास तोड़ा और जब वे मरे तो उन्हें इसी के बगल अहाते में दफना दिया गया। इस नाइंसाफी को कभी मत भूलना।"

    ओवैसी ने आगे लिखा कि "23-23 दिसम्बर 1949 की रात में हमारी बाबरी मस्जिद अपवित्र कर दी गई और इस पर 42 साल तक अवैध रूप से कब्जा कर लिया गया।... इसी दिन (6 दिसम्बर) 1992 में पूरी दुनिया के सामने हमारी मस्जिद ढहा दी गई। जो लोग इसके जिम्मेदार थे उन्हें एक दिन की भी सज़ा नहीं मिली।"

    इसके साथ ही ओवैसी ने एक पुराना वीडियो भी ट्वीट किया गया है जिसमें वो कह रहे हैं कि लड़ाई जमीन की नहीं थी। हमारी तौहीन की जा रही जमीन देकर। हमारी लड़ाई मस्जिद की थी, लीगल राइट की थी। हमको भीख में नहीं चाहिए कोई चीज। हमको हमारा हक दो। हम हिंदुस्तान के बाइज्जत शहरी हैं। हम कोई किरायेदार नहीं है।

    बाबरी मस्जिद विध्वंस: सुप्रीम कोर्ट और सीबीआई अदालत की राय बिल्कुल अलग कैसे हो गई?बाबरी मस्जिद विध्वंस: सुप्रीम कोर्ट और सीबीआई अदालत की राय बिल्कुल अलग कैसे हो गई?

    English summary
    asaduddin owaisi remember babri masjid on 6 december
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X