• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चीन की जगह अब भारतीय कपड़ों से तैयार होंगे आर्मी यूनिफॉर्म, थैक्स टू डीआरडीओ

|

नई दिल्ली। भारतीय कपड़ा उद्योगों को सैन्य वर्दी तैयार करने में रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा मदद कर रहा है, जिससे अब भारतीय सेना के सैनिकों की सैन्य वर्दी को तैयार करने के लिए चीनी और अन्य विदेशी कपड़ों के आयात पर निर्भरता को समाप्त हो जाएगी। दरअसल, भारतीय सैनिकों के यूनिफॉर्म के लिए उपयोग होने वाले खास धागे के उत्पादन में मदद के लिए डीआरडीओ आगे आई है।

army
    Atmanirbhar Bharat: China की जगह अब भारतीय कपड़ों से तैयार होंगे Army Uniform | वनइंडिया हिंदी

    प्रशंसकों को इंतजार है कि 40 पार कर चुके ये दर्जनभर बॉलीवुड सेलेब्स कब करेंगे शादी?

    DRDO में उद्योग इंटरफेस और प्रौद्योगिकी प्रबंधन निदेशालय (DIITM) के निदेशक डॉ. मयंक द्विवेदी ने बताया कि भारतीय सेना की ग्रीष्मकालीन वर्दी के लिए कपड़े की अनुमानित जरूरत 55 लाख मीटर है और यदि नौसेना, वायु सेना और पैरा मिलिट्री की सभी जरूरतों को को जोड़ा जाता है, तो प्रतिवर्ष 1.5 करोड़ मीटर से अधिक की जरूरत हो सकती है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी के आत्मनिर्भर अभियान के आह्वान से प्रेरित होकर डीआरडीओ ने सभी उत्पादों और विशेष रूप से रक्षा उत्पादों में आत्मनिर्भरता के लिए यह कदम उठाया है।

    DRDO

    महबूबा मुफ्ती को फिर लगा जोर का झटका, 3 सीनियर पीडीपी नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दिया

    डॉ द्ववेदी ने आगे कहा कि अगर ये खास धागे और कपड़े सशस्त्र बलों के वर्दी बनाने के उद्देश्य से भारत में निर्मित किए जाते हैं, तो यह बड़ी उपलब्धि होगी क्योंकि इससे आत्मानिर्भर भारत की ओर एक और कदम आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी। उन्होंने आगे कहा कि उन्नत कपड़े का उपयोग पैराशूट और बुलेटप्रूफ जैकेट की भविष्य की जरूरत के लिए भी किया जा सकता है।

    बॉलीवुड की दर्जनभर वो अभिनेत्रियां, जिन्होंने हीरो के बजाय 'खलनायकों' से रचाई है शादी, देखिए पूरी लिस्ट

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Indian textile industries are being helped by the Defense Research and Development Organization (DRDO) in the preparation of military uniforms, which will now eliminate the dependence on imports of Chinese and other foreign clothing from Bharti Army soldiers to produce military uniforms. In fact, DRDO has come forward to help in the production of special threads used for the uniforms of Indian soldiers.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X