• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

शैलजा की हत्‍या के बाद दोबारा मौका ए वारदात पर गया था मेजर हांडा, पुलिस को बताया- वो मेरी नहीं हुई इसलिए मार दिया

By Ankur Kumar Srivastava
|

नई दिल्‍ली। भारतीय सेना के मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा द्विवेदी की हत्या मामले में दिल्‍ली पुलिस ने 24 घंटे के भीतर आरोपी मेजर निखिल हांडा को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने यह भी दावा किया है कि मेजर हांडा ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है और बताया है कि जब शैलजा ने उसके साथ एक्‍स्‍ट्रा मैरिटल अफेयर (विवाह के बाद भी अन्‍य मर्द से संबंध) आगे जारी रखने से इनकार कर दिया तब उसने कार में ही शैलजा की हत्‍या कर दी थी। जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है नए-नए खुलासे हो रहे हैं। ताजा खुलासा यह हुआ है कि हत्‍या करने के बाद मेजर हांडा दोबारा मौका ए वारदात पर आया था। शैलजा के पति मेजर अमित ने हांडा को स्‍पॉट पर देखा भी था।

शैलजा की हत्‍या के बाद दोबारा मौका ए वारदात पर गया था मेजर हांडा, पुलिस को बताया- वो मेरी नहीं हुई इसलिए मार दिया

पुलिस से प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक हॉस्पिटल से शैलजा को पिकअप करने के बाद कार में हांडा ने शैलजा की हत्या कर दी थी। इसके बाद वह वापस हॉस्पिटल आया था, बेटे से मिला और फिर दोबारा मर्डर के स्पॉट पर भी गया। इनता ही नहीं दिल्‍ली से मेरठ जाने से पहले हांडा ने अपनी एक और गर्लफ्रेंड को हत्‍या के बारे में बता दिया था। वो लड़की दिल्‍ली के पटेल नगर इलाके में रहती है और पुलिस उससे भी पूछताछ कर सकती है। वहीं पूछताछ में मेजर हांडा ने पुलिस को बताया है कि 'शैलजा मेरी नहीं हुई इसलिए मैंने उसे मार दिया'।

इसे भी पढ़ें- मेजर हांडा पर इस कदर सवार थी शैलजा की दीवानगी, 6 महीने में की 3000 कॉल, ऐसे आए दोनों करीब

पूछताछ में मेजर हांडा ने बताया कि उसने शैलजा से छह माह तक अपनी पहचान छुपाकर रखी। तब उसकी पोस्टिंग श्रीनगर में थी। 2016 में ट्रांसफर होकर दीमापुर आ गया था। दोस्ती परवान चढ़ी तो आरोपी ने शैलजा को हकीकत बयां कर दी। वह शैलजा के घर के पास ही रहता था। शैलजा ने अपने घर दी पार्टी में आरोपी को बुलाया था। इसमें शैलजा ने ही उसे पति अमित द्विवेदी से पहली बार मिलवाया था।

इसे भी पढ़ें- प्रेमी से संबंध बनाने के बाद पैसे मांगती थी सोनम, विरोध पर कर दी हत्‍या, गिरफ्तार

इसके बाद हांडा ने अमित से दोस्ताना बढ़ाया। कॉल डिटेल से पता चला कि मेजर निखिल हांडा ने शैलजा द्विवेदी को छह महीने में तीन हजार बार कॉल किए थे। हांडा ने पुलिस को बताया कि शैलजा ने उसे पीछा न छोड़ने पर सेना के अफसरों से शिकायत करके कोर्ट मार्शल करवाने की धमकी दी थी। नौकरी पर आंच आती देख उसने शैलजा की हत्या कर दी। पुलिस ने शैलजा का मोबाइल दिल्ली के साकेत स्थित मेजर हांडा के घर के बाहर एक कूड़ेदान से बरामद किया है। दोनों की कॉल डिटेल से उनके बीच लंबी बातचीत का पता चला है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
After killing Shailza Dwivedi, Nikhil Handa went to Army Base Hospital where his son was admitted. Later he visited the spot of murder around 2 pm, where he noticed police and fled away.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X