• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

एपीजे अब्दुल कलाम पुण्यतिथि: मिसाइल मैन के बारे में ये 10 बातें, शायद ही जानते होंगे आप

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 27 जुलाई: देश के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की आज पुण्यतिथि है। इस खास मौके पर आज देश में हर कोई उन्हें याद कर रहा है। भारत के 11वें राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को मिसाइल मैन भी कहा जाता था, उन्हे भारत के सर्वोच्च सम्मान 'भारत रत्न' से नवाजा गया था। 'मिसाइल मैन ऑफ इंडिया' ने 2002 से 2007 के बीच भारत के 11वें राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया। एपीजे अब्दुल कलाम एक महान वैज्ञानिक और विचारक थे। इनका पूरा नाम अवुल पकिर जैनुलाब्दीन अब्दुल कलाम था।

    APJ Abdul Kalam Death Anniversary: जानिए एपीजे अब्दुल कलाम के बारे में | वनइंडिया हिंदी
    APJ Abdul Kalam Death Anniversary

    एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम में हुआ था। अब्दुल कलाम पांच भाई-बहनों में सबसे छोटे थे। उनके पिता एक नौका चालक थे, जो हिंदू तीर्थयात्रियों को लाने जाने का काम करते थे। उनकी मां एक गृहिणी थीं। एपीजे अब्दुल कलाम का निधन 27 जुलाई 2015 को मेघालय के शिलांग में हुआ था। उनकी पुण्यतिथि पर हम उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ खास बातें जानते हैं।

    1. एपीजे अब्दुल कलाम ने 1998 के पोखरण-द्वितीय परमाणु परीक्षणों में अहम भूमिका निभाई थी। वैज्ञानिकों की पूरी टीम को उन्होंने लीड किया था। इसके अलावा भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम और मिसाइल विकास कार्यक्रम से भी वह जुड़े रहे थे। भारत की मिसाइल परियोजनाओं के विकास में कलाम के योगदान के लिए उन्हें 'मिसाइल मैन' कहा जाता है। अग्नि और पृथ्वी मिसाइलों के विकास और संचालन का श्रेय उन्हें ही जाता है।

    2. इंडिया 2020, विजन फॉर द न्यू मिलेनियम, मिशन ऑफ इंडिया: ए विजन ऑफ इंडियन यूथ जैसी लगभग 25 किताबें एपीजे अब्दुल कलाम अपने जीवन में लिखी हैं।

    3. एपीजे अब्दुल कलाम ने 2002-07 तक भारत के 11वें राष्ट्रपति थे। अब्दुल कलाम भारत के पहले ऐसे राष्ट्रपति थे जो कुंवारे और शाकाहारी थे।

    4. आपको जानकर हैरानी होगी कि एपीजे अब्दुल कलाम ने देश-विदेश के 48 विश्वविद्यालयों और संस्थानों से डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की थी।

    5. एपीजे अब्दुल कलाम को प्रतिष्ठित नागरिक पुरस्कार- पद्म भूषण (1981), पद्म विभूषण (1990) और भारत में सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार- भारत रत्न (1997) से सम्मानित किया जा चुका है। अब्दुल कलाम भारत रत्न से सम्मानित होने वाले भारत के तीसरे राष्ट्रपति थे।

    ये भी पढ़ें- Indian Railways ने पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को दी रचनात्मक श्रद्धांजलि, क्या है खास जानिएये भी पढ़ें- Indian Railways ने पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को दी रचनात्मक श्रद्धांजलि, क्या है खास जानिए

    6. एपीजे अब्दुल कलाम 1992 से 1999 यानी 7 सालों तक पीएम के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार और डीआरडीओ के सचिव रहे थे।

    7. एपीजे अब्दुल कलाम की बॉयोग्राफी 'विंग्स ऑफ फायर: एन ऑटोबायोग्राफी' पहली बार अंग्रेजी में छपी थी। बाद फ्रेंच और चीनी सहित 13 भाषाओं में इस किताब का अनुवाद किया गया था। एपीजे अब्दुल कलाम के जीवन और उनके किए कामों पर छह आत्मकथाएं हैं।

    8. एपीजे अब्दुल कलाम के घर में कभी टेलीविजन नहीं था। वह हमेशा रेडियो सुनते थे। उन्होंने इस बात का खुलासा एक इंटरव्यू में किया था।

    9. जब अब्दुल कलाम 10 साल के थे, तो वह तमिलनाडु में अपने गृहनगर रामेश्वरम में अखबार बेचा करते थे। डॉ कलाम धर्म से मुसलमान थे। लेकिन वह दिल से एक धर्मनिरपेक्षतावादी थे। उनका मानना था कि मानवता अन्य सभी धर्मों से ऊपर है।

    10.अब्दुल कलाम ने 1963 में नासा गए थे। जिसके बाद उन्होंने पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (PSLV) और SLV-III प्रोजेक्ट डेवलप किए थे। ये दोनों सैटेलाइट सफल साबित हुए थे।

    English summary
    APJ Abdul Kalam remembering: 10 facts on Missile Man
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X