• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

NRC पर विरोध में अखिलेश, लेकिन मुलायम की छोटी बहू ने समर्थन में किया ट्वीट

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध देखने को मिल रहा है। पूर्वोत्तर के राज्यों के बाद दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी और यूपी की अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्र संगठनों ने रविवार को इस कानून का विरोध किया, जिसके बाद हिंसा भड़क गई और दोनों यूनिवर्सिटी को 5 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया। नागरिकता संशोधन कानून पर राजनीति भी गर्माई हुई है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी का विरोध कर रहे है। वहीं, मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने एनआरसी का समर्थन किया है।

अपर्णा ने किया ये ट्वीट

अपर्णा ने किया ये ट्वीट

अपर्णा यादव ने नागरिकता संशोधन बिल और एनआरसी पर ट्वीट करते हुए कहा, 'जो भारत का है उसे रजिस्टर में अंकित होने में क्या समस्या है?' आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी ने लोकसभा और राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल का विरोध किया था। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बिल को लेकर बयान दिया था कि भाजपा के CAB जैसे क़दम ऐतिहासिक नहीं बल्कि ऐतिहासिक भूल साबित होंगे। गौरतलब है कि अपर्णा यादव इससे पहले भी कई मुद्दों पर मोदी सरकार का समर्थन कर चुकी हैं।

'जब लोग हारने लगते हैं तो वो दमनकारी हो जाते हैं'

वहीं, अखिलेश यादव ने दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में हुए विरोध प्रदर्शन को लेकर ट्वीट कर कहा, 'भाजपा सरकार ने अपने विध्वंसकारी कानून से देश के वर्तमान को हिंसा की आग में झोंक दिया है और विद्यार्थियों पर हमले करके देश के भविष्य पर प्राणांतक चोट की है। कहते हैं जब लोग हारने लगते हैं तो वो दमनकारी हो जाते हैं। भाजपा जैसी सत्ता की भूख भारत के इतिहास ने पहले कभी नहीं देखी।'

संसद का आपातकालीन सत्र बुलाने की मांग

संसद का आपातकालीन सत्र बुलाने की मांग

इससे पहले सोमवार को मीडिया से बात करते हुए सपा नेता राम गोपाल यादव ने कहा, 'मैं मांग करता हूं कि संसद का एक आपातकालीन सत्र जल्द बुलाया जाना चाहिए। साथ ही नागरिकता संशोधन काननू में एक संशोधन किया जाना चाहिए कि धर्म के आधार पर किसी से कोई भेदभाव ना किया जाए। या फिर इस कानून को वापस लिया जाना चाहिए।' आपको बता दें कि एएमयू में हुए विरोध प्रदर्शन को देखते हुए उत्तर प्रदेश के 6 जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। साथ ही सहारनपुर में इंटरनेट सेवा अस्थाई तौर पर रोक दी गई है।

5 जनवरी तक एएमयू और जामिया बंद

5 जनवरी तक एएमयू और जामिया बंद

रविवार को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्र इस कानून के खिलाफ सड़कों पर उतर आए थे। विरोध प्रदर्शन को देखते हुए सरकार ने अलीगढ़ में सोमवार रात 10 बजे तक इंटरनेट सेवा बंद कर दी। इसके अलावा 5 जनवरी तक अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी कैंपस को भी बंद कर दिया गया है। एएमयू (अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी) के रजिस्ट्रार अब्दुल हमीद ने बताया कि पांच जनवरी तक एएमयू में कोई कक्षा या परीक्षा नहीं होगी। साथ ही विश्वविद्यालय भी 5 जनवरी तक बंद रहेगा। अब्दुल हमीद ने बताया कि वर्तमान हालातों को देखते हुए विश्वविद्यालय में शीतकालीन छुट्टियों की घोषणा कर दी गई है। अब विश्वविद्यालय 5 जनवरी को खुलेगा।

English summary
Aparna Yadav Supports NRC Despite Akhilesh Yadav Opposition.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X