• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

उसैन बोल्‍ट का रिकॉर्ड तोड़ने वाले कंबाला जॉकी श्रीनिवास का भी टूटा कीर्तिमान, जानिए किसने तोड़ा?

|

बेंगलुरु। कर्नाटक के कंबाला रेस (भैंसों की परंपरागत दौड़) में श्रीनिवास गौड़ा ने 13.62 सेकंड में 142.50 मीटर दूरी ( इसका मतलब 100 मीटर की दूरी सिर्फ और सिर्फ 9.55 सेकंड में) तय की। ऐसा करते ही श्रीनिवास रातों-रात छा गए क्‍योंकि दावा किया जाने लगा कि उन्‍होंने दुनिया के सबसे तेज धावक उसैन बोल्‍ट का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। ओलंपिक खेलों में बोल्ट के नाम 9.58 सेकेंड में 100 मीटर की दूरी तय करने का रिकॉर्ड है। श्रीनिवास को भारतीय बोल्‍ट कहा जाने लगा। लेकिन अफसोस, श्रीनिवास का ये रिकॉर्ड एक हफ्ते भी कायम नहीं रह सका। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक निशांत शेट्टी नामक कंबाला जॉकी ने भैंसों के साथ 9.51 सेकंड में 100 मीटर दौड़कर उनका ये कीर्तिमान ध्वस्त कर दिया है। निशांत ने 13.68 सेकंड में 143 मीटर की दूरी तय की। उनका ये प्रदर्शन श्रीनिवास गौड़ा से .04 सेकंड बेहतर रहा।

निशांत शेट्टी ने वेन्नूर कंबाला रेस में बनाया नया रिकॉर्ड

निशांत शेट्टी ने वेन्नूर कंबाला रेस में बनाया नया रिकॉर्ड

बाजागोली जोगीबेट्टू के निशांत शेट्टी ने रविवार को वेन्नूर में ये नया रिकॉर्ड बनाया। हाल ही में कंबाला रेस में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले श्रीनिवास गौड़ा को मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने सम्मानित किया था। साथ ही राज्य सरकार ने उन्हें 3 लाख रुपये बतौर पुरस्कार देने का भी ऐलान किया था। यहां तक कि खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने श्रीनिवास गौड़ा को भारतीय खेल प्राधिकरण के बेंगलुरु स्थित सेंटर पर ट्रायल देने को कहा था। हालांकि गौड़ा ने ट्रायल की बजाय दस मार्च को कंबाला रेस में दूसरी बार दौड़ने को तरजीह देने का फैसला किया।

भारतीय खेल प्राधिकरण ने ट्रायल से पहले फिट होने का दिया समय

भारतीय खेल प्राधिकरण ने ट्रायल से पहले फिट होने का दिया समय

श्रीनिवास गौड़ा के ट्रायल की असल तारीख अभी तय नहीं की गई है। गौड़ा को भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) के बेंगलुरु केंद्र में आकलन के लिए बुलाया गया है। साइ के सूत्रों ने बताया कि गौड़ा को वास्तविक ट्रायल से पहले सामंजस्य बैठाने का समय दिया जाएगा। उनके सोमवार को साइ के बेंगलुरु केंद्र में पहुंचने की उम्मीद है। साइ सूत्रों ने बताया, ''श्रीनिवास गौड़ा सोमवार को साइ बेंगलुरु केंद्र पहुंच रहे हैं। उसे आराम करने और सामंजस्य बैठाने के लिए एक या दो दिन का समय दिया जाएगा जिसके बाद उसका ट्रायल होगा। ट्रायल की तारीख अभी तय नहीं हुई है।'' वहीं, दूसरी तरफ श्रीनिवास गौड़ा ने भी यह तय नहीं किया है कि वह ट्रायल के लिए जाएंगे या नहीं।

Read Also- Bigg Boss के विनर तो बने सिद्धार्थ शुक्‍ला लेकिन बाजीगर बना कोई और, विजेता से भी किए मोटी कमाई

क्‍या कहा श्रीनिवास ने

क्‍या कहा श्रीनिवास ने

श्रीनिवास ने कहा ‘लोग मेरी तुलना बोल्ट से कर रहे हैं. ये बिल्कुल ठीक नहीं है। बोल्ट पेशेवर खिलाड़ी हैं। मैं तो सिर्फ़ खेतों में दौड़ता हूं। मैं इस वजह से तेज़ दौड़ा, क्योंकि मेरी भैंसें तेज़ दौड़ीं। मैं तो सिर्फ़ उनके पीछे भाग रहा था।' उन्‍होंने कहा कि खेतों में दौड़ना और ट्रैक पर दौड़ना, इन दोनों में बहुत अंतर होता है।

आनंद महिंद्रा ने की थी अपील, जब किरेन रिजिजू ने ट्रायल पर बुलाने का लिया फैसला

आनंद महिंद्रा ने की थी अपील, जब किरेन रिजिजू ने ट्रायल पर बुलाने का लिया फैसला

श्रीनिवास का वीडियो देखने के बाद महिंद्रा ग्रुप के चैयरमैन आनंद महिंद्रा उस वीडियो को ट्विटर पर शेयर किया था। आनंद महिंद्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'एक बार इस खिलाड़ी के शरीर को देखिए यह एथलेटिक्स में काफी कुछ कर सकता है। अब या तो खेल मंत्री किरेन रिजिजू उन्हें ट्रेनिंग दें या हम कंबाला जॉकी को ओलिंपिक में शामिल करें, जो भी हो हम श्रीनिवासन के लिए गोल्ड मेडल चाहते हैं।'

Read Also- शिमला मिर्च की सब्‍जी बनाने वाला था कपल, काटा तो अंदर से निकला जिंदा मेंढक और...

उसैन बोल्‍ट का रिकॉर्ड

उसैन बोल्‍ट का रिकॉर्ड

जमैका के रहने वाले उसैन बोल्ट को दुनिया का सबसे तेज एथलीट माना जाता है। बोल्ट ने 100 मीटर, 200 मीटर और 4*100 रिले दौड़ में वर्ल्ड रिकॉर्ड बना रखा है। बोल्ट ने 11 बार दौड़ में विश्व चैंपियन होने का रिकॉर्ड बनाया है। जमैका के रहने वाले उसैन बोल्ट को दुनिया का सबसे तेज एथलीट माना जाता है। बोल्ट ने 100 मीटर, 200 मीटर और 4*100 रिले दौड़ में वर्ल्ड रिकॉर्ड बना रखा है. बोल्ट ने 11 बार दौड़ में विश्व चैंपियन होने का रिकॉर्ड बनाया है।

क्या है कंबाला रेस?

क्या है कंबाला रेस?

कंबाला रेस या बफेलो रेस कर्नाटक का पारंपरिक खेल है। मंगलौर और उडूपी में यह काफी प्रचलित है। कई गांवों में इस खेल का आयोजन होता है। इस दौरान कीचड़ वाले इलाके में युवा जॉकी दो भैंसों के साथ दौड़ लगाते हैं। जानवरों के संरक्षण के लिए काम करने वाले कार्यकर्ताओं ने कुछ साल पहले कंबाला के खिलाफ मोर्चा खोला था। उनका आरोप था कि जॉकी बल प्रयोग कर तेज दौड़ने के लिए भैंसों को मजबूर करता है। इसके बाद पारंपरिक खेल पर रोक लगा दी गई थी। हालांकि, मुख्यमंत्री सिद्धारमैया की अगुआई में तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने इस खेल को जारी रखने के लिए बिल पारित कराया था।

'प्‍यार' की तलाश में मादा भेड़िये ने पैदल किया 14000 KM का सफर, पहुंची कैलिफोर्निया और मिली मौत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Another Kambala runner Nishant Shetty recorded 143m in 13.68 seconds. If calculated for 100m he clocks it in 9.51 seconds. His speed is faster than Srinivasa Gowda who recently clocked 9.55 seconds.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X