ट्रेन में सीट को लेकर भीड़ ने की 15 साल के बच्‍चे की हत्‍या, पुलिस देखती रही!

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

ह‍िसार। बीते गुरूवार द‍िल्‍ली से हर‍ियाणा जा रही एक ट्रेन में खौफनाक घटना को अंजाम द‍िया गया। दरअसल, बल्लभगढ़ के चार भाई दिल्ली से ईद की खरीदारी कर ट्रे्न से वापस अपने घर लौट रहे थे। तभी 15-20 लोगों की भीड़ ने सीट के पीछे व‍िवाद करना श्‍ाुरु कर द‍िया। व‍िवाद इतना बढ़ गया क‍ि उन चारों में से 15वर्षीय जुनैद की चाकू से गोदकर हत्‍या कर दी गई। हालांकि एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

ट्रेन में सीट को लेकर भीड़ ने की 15 साल के बच्‍चे की हत्‍या

देश द्रोही ट‍िप्‍पणी के साथ बढ़ा व‍िवाद 

घटना को लेकर मृतक बच्चे के 20 वर्षीय भाई ने बताया कि हम चारों शॉपिंग करके ट्रेन से आ रहे थे। ओखला स्टेशन पर 15 से 20 लोग ट्रेन में चढ़े और उन्‍होंने हमसे सीट छोड़ने के ल‍िए कहा। उनका कहना था क‍ि हमारे पास बीफ है इसलिए हम सीट पर बैठने के हकदार नहीं हैं। जब हमने इसका व‍िरोध क‍िया तो वे साम्प्रदायिक टिप्पणी करने लगे। हमें देशद्रोही कहने लगे।

फरीदाबाद स्‍टेशन के नजदीक की गई हत्‍या 

व‍िवाद बढ़ते ही 17 साल का मोईन जैसे-तैसे वहां से निकला और दूसरे डिब्बे में चला गया तो भीड़ वहां भी पहुंच गई। चारों भाई फरीदाबाद स्‍टेशन में उतरे और दूसरी ट्रेन का इंतजार करने लगे। लेक‍िन भीड़ ने उतरने नहीं दिया। इस बीच, किसी ने चाकू निकाला और जुनैद पर हमला कर दिया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

जीआरपी खड़ी देखती रही तमाशा 

करीब साढ़े तीन घंटे तक ट्रेन में यह व‍िवाद चला। मोहसीन का आरोप है कि इस घटना को जीआरपी के सामने अंजाम द‍िया गया लेकिन जीआरपी वहां पर दर्शक बनी खड़ी रही। उन्‍होंने क‍िसी को रोकने की कोश‍िश ही नहीं की। इस घटना पर हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू ने इसे दो समूहों के बीच का झगड़ा बताया। उनका कहना है कि इस वारदात में बीफ का कोई मामला नहीं है। 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
an accused of carrying beef teen killed on train horror haryana
Please Wait while comments are loading...