India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

सांसदों के आरोप : Chemist Umesh Kolhe की हत्या को दबाने के प्रयास, पुलिस और MVA सरकार की साठगांठ

|
Google Oneindia News

अमरावती, 03 जुलाई : महाराष्ट्र पुलिस पर अमरावती के केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या (amravati police chemist umesh kolhe) के मामले को दबाने की कोशिश करने के आरोप लगे हैं। बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उमेश कोल्हे हत्याकांड की जांच NIA से कराने का ऐलान किया है। इस मामले में अब तक 7 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। यह मामला नूपुर शर्मा के बयान के समर्थन में सोशल मीडिया पोस्ट से भी जुड़ा हुआ है। बता दें कि नूपुर शर्मा ने एक टीवी डिबेट के दौरान पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी की थी। इसके बाद अमरावती के केमिस्ट उमेश कोल्हे और फिर राजस्थान के उदयपुर में दर्जी कन्हैया लाल की हत्या का मामला सामने आया है। हिंसा की नृशंस घटनाओं से क्षुब्ध सुप्रीम कोर्ट ने नुपूर शर्मा को कड़ी फटकार लगाई है। पढ़ें अमरावती के केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या मामले में ताजा अपडेट

    Navneet Rana बोलीं Uddhav Thackeray ने Amrawati Case दबाने की कोशिश की | वनइंडिया हिंदी | *Politics
    पुलिस ने मामला छिपाया, पत्रकारों को धमकी : सांसद

    पुलिस ने मामला छिपाया, पत्रकारों को धमकी : सांसद

    अमरावती हत्या पर निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने कहा, हमने पुलिस से बात की, उन्होंने कहा कि यह चोरी की घटना की तरह लग रही है। हमने परिवार से बात की, यह चोरी की तरह नहीं लग रही थी, क्योंकि कुछ भी गायब नहीं हुआ था। जब हमने इस पर बात की, NIA और गृह मंत्रालय को पत्र लिखा, तब जांच शुरू हुई। उन्होंने कहा, अमरावती में केमिस्ट की हत्या की जांच के लिए केंद्रीय टीम पहुंची तो पुलिस कमिश्नर आरती सिंह ने आखिरकार 12 दिन बाद कहा कि हत्या नूपुर शर्मा से जुड़े पोस्ट की वजह से है। नवनीत राणा ने कहा, पुलिस कमिश्नर की भी जांच होनी चाहिए। आखिर उन्होंने वास्तविक मामला क्यों छिपाया ? राणा का आरोप है कि पुलिस की ओर से पत्रकारों को सच्चाई का खुलासा न करने की धमकी भी दी गई।

    भाजपा सांसद का आरोप, अपराधियों को राजनीतिक संरक्षण

    भाजपा सांसद का आरोप, अपराधियों को राजनीतिक संरक्षण

    54 वर्षीय उमेश कोल्हे की 21 जून को हुई हत्या के मामले में भाजपा सांसद अनिल बोंडे ने आरोप लगाया है कि निर्मम हत्या के मामले को तत्कालीन महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार ने "दबा" दिया था। उन्होंने कहा कि पुलिस ने धमकी के बावजूद लोगों को सुरक्षा प्रदान नहीं की। बकौल अनिल बोंडे, "घटना 21 जून को उदयपुर सिर काटने की घटना से पहले की है। हत्या एक साजिश के तहत हुई थी। उसकी हत्या इसलिए की गई क्योंकि उसने नूपुर शर्मा के समर्थन में कुछ पोस्ट किया था। पुलिस ने कुछ और कहानियां बनाईं। आरोपियों ने गुनाह कबूल लिया, इसके बाद भी पुलिस ने मामले को दबा दिया। तत्कालीन महा विकास अघाड़ी सरकार ने पूरे प्रकरण को छिपाने की कोशिश की। बीजेपी सांसद बोंडे का दावा है कि अमरावती में करीब 10 लोगों को धमकी भरे फोन आए हैं। यह सांठगांठ है। पुलिस ने मामले की जांच नहीं की। न ही सुरक्षा मुहैया कराई। जिले में आतंकवादी गतिविधियों में शामिल लोगों और राष्ट्र विरोधी लोगों ने अपनी सांठगांठ बढ़ा ली है। उन्हें राजनीतिक संरक्षण प्राप्त था।

    भाजपा हिंसक पार्टी नहीं, शांतिपूर्ण विरोध करेंगे

    भाजपा हिंसक पार्टी नहीं, शांतिपूर्ण विरोध करेंगे

    बीजेपी नेता शिवराय कुलकर्णी ने कहा, अमरावती में नृशंस हत्या के खिलाफ भाजपा शांतिपूर्ण प्रदर्शन करना चाहती है। हमें नहीं लगता कि पुलिस इसकी अनुमति देने से इनकार करेगी, क्योंकि भाजपा हिंसक पार्टी नहीं है। उन्होंने कहा, पिछले 15 दिनों के दौरान, हमने कभी कोई भड़काऊ बयान नहीं दिया है। हम बस इतना चाहते हैं कि ऐसी कोई घटना दोबारा न हो।

    गृह मंत्री ने NIA को सौंपी जांच

    गृह मंत्री ने NIA को सौंपी जांच

    गौरतलब है कि अमरावती पुलिस ने उमेश कोल्हे की हत्या के मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार, हत्या नूपुर शर्मा का समर्थन करने वाले सोशल मीडिया पोस्ट से जुड़ी है। गृह मंत्री ने इस मामले को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दिया है। 32 वर्षीय मूल के इरफान खान को शनिवार को नागपुर में हिरासत में लिया गया था। पुलिस आयुक्त के अनुसार, खान ने कथित तौर पर कोल्हे की हत्या की साजिश रची थी और अन्य लोगों को भी शामिल किया था।

    क्या है Chemist Umesh Kolhe मर्डर केस

    क्या है Chemist Umesh Kolhe मर्डर केस

    दरअसल, घटना 21 जून को रात 10 बजे से 10.30 बजे के बीच हुई। उमेश कोल्हे अपनी दुकान 'अमित मेडिकल स्टोर' बंद करके घर जा रहे थे। एक अन्य स्कूटर पर 27 वर्षीय संकेत और उनकी पत्नी वैष्णवी उमेश के साथ थे। संकेत ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया, 'हम प्रभात चौक से जा रहे थे और हमारे स्कूटर महिला कॉलेज न्यू हाई स्कूल के गेट पर पहुंच गए थे। मोटरसाइकिल पर सवार दो आदमी अचानक मेरे पिता की स्कूटी के सामने आ गए। उन्होंने मेरे पिता की बाइक रोक दी और उनमें से एक ने उनकी गर्दन के बाईं ओर चाकू से वार कर दिया। मेरे पिता गिर गए और खून बह रहा था। आसपास के लोगों की मदद से कोल्हे को पास के एक्सन अस्पताल ले जाया गया जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

    ये भी पढ़ें- अमरावती हत्याकांड: भाई का खुलासा- घटना से पहले नूपुर के समर्थन में उमेश ने किए थे कई मैसेज फॉरवर्डये भी पढ़ें- अमरावती हत्याकांड: भाई का खुलासा- घटना से पहले नूपुर के समर्थन में उमेश ने किए थे कई मैसेज फॉरवर्ड

    Comments
    English summary
    Maharashtra Chemist Umesh Kolhe Murder : serious allegation of MP Navneet Rana and BJP MP Anil Bonde on Amravati Police.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X