• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अमिताभ ने तोड़ी 36 साल पुरानी परंपरा, Tweet करके कहा-सोचा ना था BIG News बन जाऊंगा

|

मुंबई। सदी के महानायक अमिताभ बच्चन को लेकर उनके चाहने वाले काफी परेशान हैं, वजह है उनका बीमार होने वाला एक Tweet, दरअसल सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहने वाले अमिताभ बच्चन ने रविवार सुबह Twitter पर अपनी बीमारी का जिक्र करते हुए लिखा था कि वो रविवार को अपने फैंस से, अपने घर 'जलसा' के गेट पर मिल नहीं पाएंगे, जिसके बाद तो हंगामा ही मच गया क्योंकि उनके चाहने वाले उनकी सेहत को लेकर बहुत ज्यादा ही परेशान हो गए।

अमिताभ ने Tweet में किया अपनी बीमारी का जिक्र

अमिताभ ने Tweet में किया अपनी बीमारी का जिक्र

उनके चाहने वालों की परेशानी इसलिए ज्यादा थी क्योंकि उन्हें लगा कि अमिताभ गंभीर रूप से बीमार हैं और इसी वजह से उन्होंने इस रविवार को अपनी 36 साल की परंपरा को तोड़ दिया, दरअसल अमिताभ बच्चन हर रविवार को अपने निवास स्थान जलसा पर फैन्स से मिलते हैं। पिछले 36 साल से यह सिलसिला जारी है, लेकिन इस रविवार ऐक्टर ने फैन्स को जानकारी दी कि वह रविवार को उनसे जलसा गेट पर नहीं मिल पाएंगे।

यहां पढ़ें: लोकसभा चुनाव का विस्तृत कवरेज

बीमारी के कारण अमिताभ फैंस को नहीं दे पाएं 'जलसा दर्शन'

उनका Tweet पढ़कर फैन्स को उनकी चिंता होने लगी। यूजर्स ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर उनसे उनकी सेहत के बारे में सवाल किया। एक यूजर ने पूछा 'सर आप ट्रैवल कर रहे हैं या तबीयत ठीक नहीं है?' एक अन्य ने लिखा 'उम्मीद करते हैं कि आपकी सेहत ठीक है'। लोगों ने उनके लिए ट्वीट किया 'सर थोड़ा ब्रेक ले लीजिए और अपनी हेल्थ का ध्यान रखिए'।

सोचा ना था इतनी बड़ी खबर बन जाऊंगा: अमिताभ बच्चन

फिलहाल अब अमिताभ एकदम ठीक हैं और उन्होंने फिर से एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि मैं नहीं जानता था की , एक दिन इतवार को अपने चाहने वालों से 'जलसा' के द्वार पे न मिल पाने पर इतनी बड़ी ख़बर बन जाएगी ! आप सब को स्नेह , मेरा आदर और सम्मान।

अमिताभ की बीमारी से डरते हैं लोग...

अमिताभ की बीमारी से डरते हैं लोग...

दरअसल अमिताभ के बीमार होने की खबर अक्सर लोगों को भयभीत कर देती है, उसके पीछे बहुत बड़ा कारण है 37 साल पुराना फिल्म 'कुली' के सेट को वो दर्दनाक हादसा है, जिसके कारण अमिताभ अस्पताल पहुंच गए थे। उस वक्त शूटिंग के दौरान एक फाइट सीन में विलेन पुनीत इस्सर का घूंसा उनके पेट में जोर से लगा था जिससे कि उन्हें गहरी चोट आई थी, इसके बाद कई हफ्तों तक बिग बी अस्पताल में भर्ती रहे थे। अस्पताल में अमिताभ जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे थे तो वहीं अस्पताल के बाहर लोग उनके लिए दुआएं मांग रहे थे।

लोगों ने मांगी थी दुआएं

लोगों ने मांगी थी दुआएं

उस दौर को गौर से देखने वाले लोग आज भी बताते हैं कि केवल मुंबई में ही नहीं बल्कि पूरे भारत में लोगों ने अमिताभ के लिए ऊपर वाले से दुआएं मांगी थी। लोगों ने हवन किए थे, मन्नतें मांगी थीं और उपवास किया था, जिससे कि अमिताभ सही सलामत घर लौट आएं और उन सबकी दुआएं रंग लाईं और अमिताभ सही होकर घर लौट आए थे।

Get Well Soon. Amitabh...

हालांकि इस चोट के बाद से बिग बी के कंधे और गर्दन में अक्सर दर्द होता है। हालांकि फैंस की दुआएं बिग बी के साथ हैं जो उन्हें हर प्रकोप से बचा लेती हैं और इस बार भी लोग उनके लिए दुआएं मांग रहे हैं और कह रहे हैं... Get Well Soon. Amitabh...

यह पढ़ें: Ramadan 2019: 7 मई को होगा पहला रोजा, जानिए कुछ खास बातें

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Bollywood superstar Amitabh Bachchan on Sunday canceled his weekly meet and greet with his fans, a ritual he has maintained for the past 36 years.
For Daily Alerts

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more