• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Ambedkar Jayanti: PM मोदी और राष्ट्रपति ने बाबा साहेब को किया याद, कहा-'वो हर पीढ़ी के लिए मिसाल हैं'

|

नई दिल्ली, 14 अप्रैल। पूरे देश में आज संविधान निर्माता और भारत रत्न बाबा साहेब बीआर अंबेडकर की जयंती मनाई जा रही है। इस खास अवसर पर पीएम मोदी ने उन्हें याद करते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि ' भारत रत्न डॉ बाबा साहेब अंबेडकर को उनकी जयंती पर शत-शत नमन। समाज के वंचित वर्गों को मुख्यधारा में लाने के लिए किया गया उनका संघर्ष हर पीढ़ी के लिए एक मिसाल बना रहेगा, उनके विचार और आदर्श भारत के लाखों लोगों को ताकत देते रहते हैं।'

    Ambedkar Jayanti: PM Modi ने 130वीं जयंती पर किया नमन, ट्वीट कर कही ये बात | वनइंडिया हिंदी

    बाबा साहेब का संघर्ष हर पीढ़ी के लिए एक मिसाल बना रहेगा: PM

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी बाबा साहेब को याद करते हुए ट्वीट किया है कि 'भारतीय संविधान के प्रमुख शिल्‍पी, बाबासाहब डॉक्टर भीमराव आंबेडकर की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि! डॉ आंबेडकर ने समतामूलक न्‍यायपूर्ण समाज बनाने के लिए आजीवन संघर्ष किया। आज हम उनके जीवन तथा विचारों से शिक्षा ग्रहण करके उनके आदर्शों को अपने आचरण में ढालने का संकल्‍प लें।'

    पूरे देश में आज संविधान निर्माता और भारत रत्न बाबा साहेब बीआर अंबेडकर की जयंती मनाई जा रही है। इस खास अवसर पर पीएम मोदी ने उन्हें याद करते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि भारत रत्न डॉ बाबा साहेब अंबेडकर को उनकी जयंती पर शत-शत नमन। समाज के वंचित वर्गों को मुख्यधारा में लाने के लिए किया गया उनका संघर्ष हर पीढ़ी के लिए एक मिसाल बना रहेगा, उनके विचार और आदर्श भारत के लाखों लोगों को ताकत देते रहते हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी बाबा साहेब को याद करते हुए ट्वीट किया है कि भारतीय संविधान के प्रमुख शिल्‍पी, बाबासाहब डॉक्टर भीमराव आंबेडकर की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि! डॉ आंबेडकर ने समतामूलक न्‍यायपूर्ण समाज बनाने के लिए आजीवन संघर्ष किया। आज हम उनके जीवन तथा विचारों से शिक्षा ग्रहण करके उनके आदर्शों को अपने आचरण में ढालने का संकल्‍प लें। गौरतलब है कि बीआर अंबेडकर के बचपन का नाम भीमराव रामजी सकपाल था, जो कि उनके पिता ने स्कूल में लिखवाया था, भीमराव की प्रतिभा से प्रभावित होकर शिक्षक कृष्ण केशव ने उन्हें अपना सरनेम दिया था। अंबेडकर हिंदू महार जाति से संबंध रखते थे, जो अछूत कहे जाते थे और उनके साथ सामाजिक और आर्थिक रूप से गहरा भेदभाव किया जाता था। बाबा साहब ने देश में बौद्ध आंदोलन को चलाया। अंबेडकर को भारतीय बौद्ध भिक्षुओं ने बोधिसत्व की उपाधि प्रदान की थी तो वहीं उन्हें लंदन विश्वविद्यालय द्वारा डॉक्टर ऑफ साईंस से भी नवाजा गया था। संविधान निर्माता अंबेडकर को 31 मार्च 1990 को मरणोपरांत सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। अंबेडकर के विचार जीवन लंबा होने के बजाय महान होना चाहिए– डॉ. भीमराव अंबेडकर मुझे वह धर्म पसंद है जो स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व सिखाता है-डॉ. भीमराव अंबेडकर वे इतिहास नहीं बना सकते जो इतिहास को भूल जाते हैं-डॉ. भीमराव अंबेडकर शिक्षित बनो, संगठित रहो और उत्तेजित बनो-डॉ. भीमराव अंबेडकर धर्म मनुष्य के लिए है न कि मनुष्य धर्म के लिए है-डॉ. भीमराव अंबेडकर

    गौरतलब है कि बीआर अंबेडकर के बचपन का नाम भीमराव रामजी सकपाल था, जो कि उनके पिता ने स्कूल में लिखवाया था, भीमराव की प्रतिभा से प्रभावित होकर शिक्षक कृष्ण केशव ने उन्हें अपना सरनेम दिया था। अंबेडकर हिंदू महार जाति से संबंध रखते थे, जो अछूत कहे जाते थे और उनके साथ सामाजिक और आर्थिक रूप से गहरा भेदभाव किया जाता था। बाबा साहब ने देश में बौद्ध आंदोलन को चलाया था।

    बाबा साहेब का संघर्ष हर पीढ़ी के लिए एक मिसाल बना रहेगा: PM

    अंबेडकर को भारतीय बौद्ध भिक्षुओं ने बोधिसत्व की उपाधि प्रदान की थी तो वहीं उन्हें लंदन विश्वविद्यालय द्वारा 'डॉक्टर ऑफ साईंस' से भी नवाजा गया था। संविधान निर्माता अंबेडकर को 31 मार्च 1990 को मरणोपरांत सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

    बाबा साहेब का संघर्ष हर पीढ़ी के लिए एक मिसाल बना रहेगा: PM

    अंबेडकर के विचार

    • जीवन लंबा होने के बजाय महान होना चाहिए- डॉ. भीमराव अंबेडकर
    • मुझे वह धर्म पसंद है जो स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व सिखाता है-डॉ. भीमराव अंबेडकर
    • वे इतिहास नहीं बना सकते जो इतिहास को भूल जाते हैं-डॉ. भीमराव अंबेडकर
    • शिक्षित बनो, संगठित रहो और उत्तेजित बनो-डॉ. भीमराव अंबेडकर
    • धर्म मनुष्य के लिए है न कि मनुष्य धर्म के लिए है-डॉ. भीमराव अंबेडकर

    बाबा साहेब का संघर्ष हर पीढ़ी के लिए एक मिसाल बना रहेगा: PM

    यह पढ़ें: 14 अप्रैल को डॉ. आंबेडकर की 130वीं जयंती, जानिए उनके प्रेरणादायक विचारों कोयह पढ़ें: 14 अप्रैल को डॉ. आंबेडकर की 130वीं जयंती, जानिए उनके प्रेरणादायक विचारों को

    English summary
    bow to Bharat Ratna Dr Babasaheb Ambedkar on Ambedkar Jayanti. Babasaheb's struggle will continue to be an example for every generation says PM Narendra Modi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X