• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अमर सिंह बोले- मैं नहीं होता तो लालू की बेटी से होती अखिलेश यादव की शादी

|

आगरा/पटना। कभी मुलायम सिंह यादव के राइट हैंड रहे पूर्व सपा नेता अमर सिंह ने अखिलेश यादव और लालू प्रसाद यादव की बेटी के बारे में बड़ा खुलासा किया है। यूपी के आगरा में 'मिशन मोदी अगेन पीएम' कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे अमर सिंह ने कहा, 'अगर मैं नहीं होता तो अखिलेश यादव न तो ऑस्‍ट्रेलिया पढ़ने जा पाते और न ही डिंपल के साथ उनकी शादी हो पाती। अमर सिंह ने इसी कार्यक्रम में लालू यादव की बेटी और अखिलेश यादव के बारे में भी हैरान करने वाली बात बताई।

अमर सिंह बोले- मैं नहीं चाहता तो अखिलेश यादव अभी तक कुंवारे होते

अमर सिंह बोले- मैं नहीं चाहता तो अखिलेश यादव अभी तक कुंवारे होते

अमर सिंह ने खुलासा किया कि अखिलेश यादव की शादी डिंपल से नहीं बल्कि लालू प्रसाद यादव की बेटी से होने जा रही थी। हालांकि, उन्‍होंने यह नहीं बताया कि अखिलेश की शादी लालू यादव की किस बेटी से होने वाली थी। अमर सिंह ने आगे कहा कि अखिलेश यादव को उनका एहसानमंद होना चाहिए, क्योंकि अगर वह नहीं होते तो उनके जीवन में डिंपल नहीं आती हैं, न ही उनका प्रेम होता और न ही मनपंसद शादी हो पाती। अमर सिंह यहीं पर नहीं रुके उन्‍होंने कहा, 'अगर मैं नहीं चाहता तो अखिलेश यादव सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी नहीं बन सकते थे और अगर मैं नहीं चाहता तो अखिलेश अभी तक कुंवारे ही होते।'

अमर सिंह ने आजम खान और लालू यादव पर साधा निशाना

अमर सिंह ने आजम खान और लालू यादव पर साधा निशाना

अमर सिंह ने कार्यक्रम में लालू प्रसाद यादव कहते हैं कि उन्‍हें मोदी ने फंसाया है। सच यह है कि उन्‍हें मोदी ने नहीं बल्कि पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने फंसाया है। आजम खान पर निशाना साधते हुए अमर सिंह ने कहा कि 'मिशन मोदी अगेन पीएम' में ही राष्‍ट्रभक्‍त मुसलमानों की इज्‍जत है, लेकिन आजम खान की नहीं। आजम खान तो कश्‍मीर को पाकिस्‍तान का हिस्‍सा बताते हैं और देश विरोधी ताकतों के पक्ष में राग अलापते हैं।

अड़ गए थे मुलायम, तब अमर सिंह ने मनाया था

अड़ गए थे मुलायम, तब अमर सिंह ने मनाया था

अखिलेश यादव और डिंपल की पहली मुलाकात लखनऊ में हुई थी। तब अखिलेश यादव 25 साल के थे और डिंपल की उम्र 21 वर्ष थी। डिंपल उस वक्‍त लखनऊ यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन कर रही थीं, इसी दौरान उनकी मुलाकात अखिलेश यादव से हुई थी। मुलायम सिंह यादव डिंपल और अखिलेश यादव की शादी के पक्ष में नहीं थे। उस वक्‍त अमर सिंह ने अखिलेश-डिंपल की शादी के लिए मुलायम को मनाया था। मुलायम सिंह यादव को शुरुआत में ये रिश्ता मंजूर नहीं था। दरअसल, मुलायम सिंह यादव चाहते थे कि अखिलेश की शादी राजनीतिक परिवार में हो, इसलिए लालू यादव की बेटी के साथ शादी की चर्चा भी चली थी, लेकिन अखिलेश यादव अड़ गए थे और अमर सिंह ने मुलायम को मनाने में उनकी काफी मदद की थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
amar singh shocking revelation about lalu yadav daughter and mulayam son akhilesh yadav
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X