• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

आलोक वर्मा और अस्थाना छुट्टी पर भेजे गए, एम नागेश्वर राव को सीबीआई चीफ की जिम्मेदारी

|

नई दिल्ली। सीबीआई के भीतर चल रहे घमासान के बीच आखिरकार सीबीआई के डायरेक्टर आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना की छुट्टी कर दी गई है। राकेश अस्थाना के उपर मोईन कुरैशी मामले में घूस लेने का आरोप लगा था, जिसके बाद उन्हें इस मामले में मुख्य आरोपी बनाते हुए उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। राकेश अस्थाना ने अपने उपर दर्ज हुए मामले के बाद सीबीआई के डायरेक्टर के खिलाफ घूसखोरी के एक के बाद एक कई आरोप लगाए थे। सीबीआई के शीर्ष दो अधिकारियों के बीच चल रहे आरोप-प्रत्यारोप के बाद आखिरकार दोनों अधिकारियों को छुट्टी कर दी गई है। इसके साथ ही ओडिशा कैडर के आईपीएस अधिकारी नागेश्वर राव को सीबीआई का कार्यवाहक मुखिया बनाया गया है। इस बाबत सरकार की ओर से नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया गया है।

घूसखोरी आरोप में नपे स्पेशल डायरेक्टर

घूसखोरी आरोप में नपे स्पेशल डायरेक्टर

गौर करने वाली बात यहै कि इससे पहले सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना की मंगलवार को छुट्टी की गई थी। उनके खिलाफ यह कार्रवाई उस वक्त की गई थी जब उनकी एसआईटी टीम के सदस्य डिप्टी देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया गया था। इस गिरफ्तारी के बाद राकेश अस्थाना को उनकी सभी जिम्मेदारियों से मुक्त कर दिया गया था। देवेंद्र कुमार पर आरोप है कि उन्होंने मोईन कुरैशी मामले में राकेश अस्थाना के खिलाफ शिकायत करने वाले सतीश बाबू सना से तीन करोड़ रुपए की उगाही की थी और तथ्यों में फेरबदल किया था। जिसके बाद उन्हें सात दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है।

इसे भी पढ़ें- CBI रिश्वत केस: 9 फोन कॉल और व्हाट्सऐप मैसेज के कारण मुश्किल में फंसे अस्थाना

कई अहम मामले देख रहे थे अस्थाना

कई अहम मामले देख रहे थे अस्थाना

सीबीआई की ओर से मंगलवार को निर्देश जारी किया गया है उसमे कहा गया है कि स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को तमाम जिम्मेदारियों से तत्काल प्रभाव से मुक्त किया जाता है। आपको बता दें कि सीबीआई में नंबर दो के शीर्ष अधिकारी स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना कई संवेदनशली और हाई प्रोफाइल मामलों की जांच कर रहे थे और इन मामलों की जांच कर रही एसआईटी के मुखिया थे। इन मामलों में ऑगस्ता वेस्टलैंड, वीवीआईपी हेलीकॉप्टर केस, विजय माल्या केस, कोयला घोटाला से संबंधित केस, रॉबर्ट वाड्रा केस, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुडा के खिलाफ भूमि आवंटन का केस, दयानिधि मारन के खिलाफ केस अहम है।

राहुल गांधी ने पीएम पर बोला था हमला

राहुल गांधी ने पीएम पर बोला था हमला

आपको बता दें कि राकेश अस्थाना गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं। घूसखोरी कांड में उनका नाम आने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए सीबीआई पर सवाल खड़ा किया था। राहुल गांधी ने आरोप लगाया था कि सीबीआई का इस्तेमाल राजनीतिक बदले के लिए किया जा रहा है। सीबीआई के भीतर चल रहे घमासान के बीच तमाम विपक्षी दलों ने भी सरकार पर निशाना साधा था, जिसके बाद सीबीआई के शीर्ष दो अधिकारियों के खिलाफ इस कार्रवाई को काफी अहम माना जा रहा है।

notification

इसे भी पढ़ें- रिश्वत लेने के आरोप में सीबीआई ने अपने DSP देवेंद्र कुमार को किया सस्‍पेंड

{document1}

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Alok Verma and Rakesh Asthana sent on leave M Nageswar Rao to be the new CBI Chief.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X