• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

शरत सक्सेना का छलका दर्द, बोले- बुजुर्गों के सारे अच्छे रोल अमिताभ के लिए, हमारे हिस्से सिर्फ बचे-खुचे किरदार

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 14 जुलाई। बॉलीवुड की कई फिल्मों में अभिनय कर चुके बेहतरीन एक्टर शरत सक्सेना अपने अलग तरह के किरदार के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने मिस्टर इंडिया, बागबान, क्रिश, गुलाम जैसी कई बेहतरीन फिल्मों में काम किया। शरत सक्सेना फिल्म इंडस्ट्री को युवा कलाकारों की इंडस्ट्री बताते हैं। वो कहते हैं कि सीनियर किरदार के लिए जो अच्छी स्क्रिप्ट लिखी जाती है वो सभी अमिताभ बच्चन के पास जाती है, हमारे जैसे लोगों के पास बचे-खुचे हुए रोल आते हैं।

इसे भी पढ़ें- क्या पूजा भट्ट दोबारा करेंगी शादी, खुद एक्ट्रेस ने दिया ये जवाबइसे भी पढ़ें- क्या पूजा भट्ट दोबारा करेंगी शादी, खुद एक्ट्रेस ने दिया ये जवाब

इंडस्ट्री को बुजुर्गों की जरूरत नहीं

इंडस्ट्री को बुजुर्गों की जरूरत नहीं

इससे पहले शरत सक्सेना ने इंस्टाग्राम पर अपनी एक तस्वीर शेयर की थी जिसमे वह काफी फिट दिख रहे हैं। तस्वीर को शेयर करते हुए शरत सक्सेना ने लिखा कोई बनने के लिए काफी मेहनत कर रहा हूं। हाल ही में रिलीज हुई शेरनी में शरत सक्सेना दिखे थे। रेडिफ को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि यह फिल्म इंडस्ट्री युवा लोगों के लिए है, बुजुर्ग लोगों की यहां कोई जरूरत नहीं है। दुर्भाग्य से हम लोग मर भी नहीं रहे हैं। हम अभी भी जिंदा हैं और अभी भी हम काम करना चाहते हैं।

बुजुर्ग अभिनेताओं के लिए स्क्रिप्ट बहुत कम

बुजुर्ग अभिनेताओं के लिए स्क्रिप्ट बहुत कम

शरत सक्सेना ने कहा आखिर कितने रोल बुजुर्ग किरदारों के लिए लिखे जाते हैं इस फिल्म इंडस्ट्री में, सभी अच्छे रोल जो बुजुर्ग लोगों के लिए लिखे जाते हैं वो अमिताभ बच्चन के पास चले जाते हैं। इसके बाद जो बचे खुचे रोल होते हैं वो हमारे जैसे लोगों के पास आते हैं और हम ज्यादातर इन रोल के लिए मना कर देते हैं। ऐसे में हमारे जैसे लोगों के लिए काम लगभग जीरो हैं।

खुद को यंग रखता हूं

खुद को यंग रखता हूं

शरत ने कहा कि बुजुर्ग अनुभवी अभिनेताओं के लिए किरदार की कमी की वजह से मैं अपने आपको फिट रखता हूं ताकि युवा दिखूं। लिहाजा 71 साल की उम्र में भी मैं हर रोज दो घंटे वर्कआउट करता हूं जिससे कि मैं 25 साल के युवा के साथ टक्कर ले सकूं और टफ मैन दिखूं। मैं अपने बाल और मूंछों को ब्लैक रंग से कलर करत हूं, आपने मुझे शेरनी में देखा होगा, मैं 71 साल का हूं लेकिन मुझे खुद को 50-55 साल का दिखाना होता है, वरना मुझे काम नहीं मिलेगा।

कैमरे के सामने आने की भूख

कैमरे के सामने आने की भूख

फिल्मों में अपने काम को लेकर शरत कहते हैं कि मुझे काम करना पसंद है, मुझे रिटायर्ड जिंदगी जीना अच्छा नहीं लगता है, मैं कैमरे के सामने आने के लिए भूखा रहता हूं। बता दें कि शरत सक्सेना ने अपनी एक्टिंग की शुरुआत 1970 में सहायक अभिनेता के तौर पर की थी। उन्होंने गुलाम, साथिया, फिर हेराफेरी, बजरंगी भाईजान जैसी बड़ी फिल्मो में भी देखा गया है।

English summary
All good roles of aged man for Amitabh Bachchan says Sharat Saxena.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X