• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

इस बार मार्च-अप्रैल में ही निकलेगा पसीना, खूब सताएगी गर्मी, जानिए IMD ने क्या कहा?

|

नई दिल्ली। इस बार लोगों ने सर्दी ने काफी तंग किया है, हाड़ कंपाने वाली ठंड को झेल चुके भारत में अब गर्मी को प्रकोप बढ़ने वाला है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने मार्च से मई तक के अपने ग्रीष्मकालीन पूर्वानुमान में कहा इस बार गर्मी ज्यादा पड़ने वाली है। विभाग के मुताबिक इस बार ईस्टर्न, वेस्टर्न और वेस्टर्न इंडिया में तापमान ज्यादा रहने का अनुमान है और मार्च से ही देश के कई हिस्सों में 'लू' का प्रकोप देखने को मिल सकता है तो वहीं मिडिल इंडिया में अगले तीन महीनों में दिन का तापमान सामान्य से कम रहने का अनुमान है।

इस बार मार्च-अप्रैल में ही निकलेगा जमकर पसीना

इस बार मार्च-अप्रैल में ही निकलेगा जमकर पसीना

मौसम विभाग ने कहा है कि आगामी ग्रीष्मकाल में (मार्च से मई तक) तापमान गर्म ही रहने वाला है और इस हिसाब से छत्तीसगढ़, ओड़िशा, गुजरात, तटीय महाराष्ट्र, गोवा एवं तटीय आंध्र प्रदेश इस बार मार्च-अप्रैल में ही आग उगलेंगे।

    Weather Update: इस बार झेलनी होगी भीषण गर्मी, मौसम विभाग ने चेताया | वनइंडिया हिंदी
     'ला नीना' की स्थिति बनी हुई है

    'ला नीना' की स्थिति बनी हुई है

    मौसम विभाग ने कहा कि विषुवतीय प्रशांत क्षेत्र के ऊपर मध्यम 'ला नीना' की स्थिति बनी हुई है, जिसके कारण मौसम में बबुत जल्द तब्दीली देखी जाएगी और लोग गर्मी से रूबरू होंगे। विभाग ने ये भी कहा कि इस साल जनवरी न्यूनतम तापमान के लिहाज से 62 साल में सबसे अधिक गर्म महीना रहा है।

    आगामी 24 घंटे के मौसम का हाल

    आगामी 24 घंटे के मौसम का हाल

    मौसम विभाग ने अपने ताजा अपडेट में कहा है कि इस वक्त पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय है इस कारण देश के कई राज्यों में बारिश और बर्फबारी के आसार दिख रहे हैं। आईएमडी के मुताबिक आज से लेकर अगले दो दिन यानी कि बुधवार-गुरुवार को जम्‍मू कश्‍मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्‍तराखंड, लद्दाख और गिलगित, बाल्टिस्‍तान व मुजफ्फराबाद में बारिश व बर्फबारी संभव है, जिससे तापमान में कमी आएगी तो वहीं इसका असर मैदानी इलाकों पर पड़ेगा, जिसके कारण दिल्ली के मौसम का मिजाज बदल सकता है।

    बहुत सताएगी इस बार गर्मी

    बहुत सताएगी इस बार गर्मी

    गर्मी के बाद लोगों को मानसून का इंतजार रहता है, मौसम विभाग ने कहा है कि गर्मी इस बार ज्यादा पड़ने वाली है तो हो सकता है मानसून अपने तय वक्त से पहले दस्तक दे दे लेकिन अभी इसका अनुमान नहीं लगाया जा सकता है।

    आखिर 'मानसून' कहते किसे हैं?

    मानसून हिंद-अरब सागर की ओर से साउथ-वेस्ट कोस्ट से आने वाली एयर को कहते हैं, जिनसे इंडिया, पाकिस्तान और बांग्लादेश में बारिश होती है।

    यह पढ़ें: पश्चिमी विक्षोभ के चलते इन राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, दिल्ली का भी बदलेगा मौसमयह पढ़ें: पश्चिमी विक्षोभ के चलते इन राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, दिल्ली का भी बदलेगा मौसम

    English summary
    Be prepared for scorching heat from March to May, IMD releases summer forecast report, here is full details.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X