International Aids Day:एड्स के मरीज को नहीं दिया कंबल, ठंड लगने से मौत

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

धनबाद। अंतरराष्ट्रीय एड्स दिवस को मनाए जाने के पीछे बड़ा मकसद था लोगों को इसके प्रति जागरूक करना ताकि इस बीमारी के चलते लोगों को अपनी जान नहीं गंवानी पड़े। लेकिन धनबाद के पाटलीपुत्र मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में बुधवार को एड्स पीड़ित मरीज को इलाज के अभाव में अपनी जान गंवानी पड़ी है, यह घटना अंतरराष्ट्रीय एड्स दिवस से ठीक दिन पहले की है, ऐसे में इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि अंतरराष्ट्रीय एड्स दिवस को मनाया जाना कितना सार्थक साबित हो रहा है।

aids

72 घंटे तक कोई देखने नहीं आया

जिस मरीज की बीमारी के अभाव में मृत्यु हुई है उसके परिवार का कहना है कि मरीज की ठंड के चलते मौत हो गई क्योंकि नर्स ने उसे ओढ़ने के लिए कंबल देने से मना कर दिया। मरीज को पिछले रविवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, आरोप है कि 72 घंटे तक कोई डॉक्टर उसे देखने तक नहीं आया। पिछले दो महीने के भीतर यह दूसरा मामला है जब इतने बड़े अस्पताल में डॉक्टर, नर्स और इलाज के अभाव में मरीज को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है।

डॉक्टर-नर्स को नोटिस जारी

अक्टूबर माह में भी एड्स का मरीज जोकि देवघर का रहने वाला था, उसकी भी इलाज के अभाव में मृत्यु हो गई थी। बुधवार की घटना सामने आने के बाद पीएमसीएच के सुप्रीटेंडेंट डॉक्टर कामेश्वर विश्वास ने गुरुवार को जो डॉक्टर व नर्स ड्यूटी पर थे उनके खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। विश्वास ने बताया कि हमे मरीज के परिवार की ओर से शिकायत मिली थी, जिसके बाद हमने इस मामले में संबंधित डॉक्टर से रिपोर्ट मांगी है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि मरीज को कंबल नहीं दिया गया जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई, चीफ सिस्टर से भी इस मामले में जवाब मांगा गया है।

मेडिसिन विभाग में कराया गया था भर्ती

आपको बता दें कि अस्पताल में एड्स के मरीजों के लिए चार बेड का स्पेशल आईसोलेशन वार्ड हैं, लेकिन वह काम नहीं करते हैं, एड्स के मरीजों को अस्पताल में मेडिसिन वार्ड में भर्ती कराया जाता है। जिस मरीज की मौत हुई है उसकी मां का कहना है कि बुधवार की रात मेरे बेटे की मौत हो गई, उसे मेडिसिन वार्ड में भर्ती किया गया था, लेकिन किसी भी डॉक्टर और नर्स ने उसकी सुध नहीं ली। अस्पताल के सूत्रों की मानें तो मरीज दो दिन तक महिलाओं के मेडिसिन वार्ड में पड़ा रहा और उसे कोई देखने तक नहीं आया। वहीं डॉक्टर विश्वास का कहना है कि डॉक्टर व नर्स को निर्देश दिए हैं कि वह नियमों का पालन करें और एड्स के मरीजों का इलाज करें। जिस मरीज की मौत हुई है वह धनबाद के केंडुडिहा का रहने वाला है, जिसका एंटी रेट्रोवायरल ट्रीटमेंट चल रहा था। रविवार को उसकी स्थिति काफी बिगड़ गई, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसकी ठंड लगने से मौत हो गई।

इसे भी पढ़ें- World Aids Day 2017: भारत में खतरनाक है HIV+ महिलाओं की स्थिति, समाज में भी नहीं मिलती जगह

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Aids patient died due to cold no doctor or nurse attended him. He was not given blanket by the hospital later died due to cold.
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.