• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Ahmed Patel Passed away: अहमद पटेल के निधन से दुखी संजय राउत ने कहा-'वफादारी कोई उनसे सीखे'

|

नई दिल्ली। 71 वर्षीय कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने आज दुनिया को अलविदा कह दिया, एक लंबा लेकिन लो-प्रोफाइल सियासी सफर तय करने वाले अहमद पटेल के निधन से ना केवल कांग्रेसी बल्कि दूसरे दलों के लोग भी बहुत ज्यादा दुखी हैं। शिवसेना सांसद संजय राउत ने अहमद पटेल के निधर पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि दो दिन पहले ही मैं अहमद पटेल के परिवार से मिला था और सीएम उद्धव ठाकरे ने भी उनकी फैमिली से बात की थी।

वफादारी कोई अहमद पटेल से सीखे: संजय राउत

मैंने उनके परिवार वालों से अहमद पटेल को एयर एंबुलेंस के जरिए मुंबई आने के लिए भी कहा था, नहीं पता था कि दो दिन बाद अहमद पटेल चले जाएंगे। राउत ने कहा कि आज कांग्रेस ने अपना मजबूत स्तंभ खो दिया है, ये पार्टी की बहुत बड़ी क्षति है। सभी कार्यकर्ताओं और राजनीतिज्ञों को अहमद पटेल से वफादारी सीखना चाहिए, वो बहुत शांत, धैर्यवान और समझदार राजनेता थे उनका जाना बहुत दुखद है, मैं उनकी आत्मा की शांति के लिए ऊपर वाले से प्रार्थना करता हूं।

अहमद पटेल ने मेंदाता अस्पताल में अंतिम सांस ली

मालूम हो कि बुधवार सुबह अहमद पटेल ने मेंदाता अस्पताल में अंतिम सांस ली, वो कोरोना से संक्रमित थे और 15 नवंबर से मेंदाता में भर्ती थे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के निधन पर बुधवार को शोक व्यक्त किया और कहा कि उनके सौम्य व मिलनसार व्यक्तित्व के चलते हर राजनीतिक दल में उनके मित्र थे तो वहीं पीएम मोदी ने भी अहमद पटेल के निधन पर दुख जताते हुए ट्वीट किया कि अहमद पटेल जी के निधन से दुखी हूं, उन्होंने सार्वजनिक जीवन में कई साल समाज की सेवा में बिताए, अपने तेज दिमाग के लिए जाने जाने वाले अहमद पटेल को कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने में उनकी भूमिका हमेशा याद की जाएगी।

देखें-संजय राउत ने क्या कहा?

जबकि गृहमंत्री अमितशाह ने ट्वीट किया कि 'कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल जी के निधन की सूचना अत्यंत दुःखद है. अहमद पटेल जी का कांग्रेस पार्टी और सार्वजनिक जीवन में बड़ा योगदान रहा, मैं दुःख की इस घड़ी में उनके परिजनों और समर्थकों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं, ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें।'

अहमद पटेल का अंतिम संस्कार उनके गांव में होगा

मालूम हो कि अहमद पटेल का अंतिम संस्कार उनके गांव में होगा। गुजरात के भरूच जिले के पीरामल के रहने वाले हैं। परिवार ने बताया कि उनकी अंतिम इच्छा थी कि उनका अंतिम संस्कार उनके गांव में हो।उनके बेटे फैजल ने जानकारी देते हुए सभी शुभचिंतकों से सामूहिक समारोहों से बचने की अपील की है। अहमद पटेल के निधन पर कांग्रेस पार्टी का झंडा 3 दिन तक आधा झुका रहेगा।

यह पढ़ें: कांग्रेस पार्टी के संकटमोचक थे अहमद पटेल, पर्दे के पीछे से निभाई अहम भूमिका

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Just 2 days back I met AhmedPatel's family, CM also spoke to them. We even offered to get him to Mumbai in air ambulance. A pillar of Congress fell today. All workers in politics can learn loyalty from him: Sanjay Raut, Shiv Sena
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X