• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कृषि विधेयक राज्यसभा में पेश: कांग्रेस बोली- ये किसानों के डेथ वारंट पर हस्ताक्षर करने जैसा

|

नई दिल्ली: संसद के मॉनूसन सत्र का रविवार (20 सितंबर) को सातवां दिन है। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने राज्यसभा में कृषि विधेयक पेश किया है। जिसका कांग्रेस ने राज्यसभा में विरोध किया है। कांग्रेस सांसद प्रताप सिंह बाजवा ने राज्यसभा में कहा है कि कांग्रेस पार्टी इस बिल का विरोध करती है। उन्होंने कहा है कि ये बिल किसानों की आत्मा पर हमला करने जैसा है। ये बिल लोकसभा में पहले ही पास हो चुका है।

Partap Singh Bajwa
    Rajya Sabha में Agriculture Bills 2020 पास, जानिए बिल पर सदन में किसने क्या कहा? | वनइंडिया हिंदी

    इस बिल पर सहमति किसानों के डेथ वारंट पर हस्ताक्षर करने जैसा: कांग्रेस

    कांग्रेस के सांसद प्रताप सिंह बाजवा ने कहा, ये बिल हिंदुस्तान और विशेष तौर से पंजाब, हरियाणा और वेस्टर्न यूपी के जमींदारों के खिलाफ है। पंजाब और हरियाणा के किसानों का मानना ​​है कि ये बिल उनकी आत्मा पर हमला है। इन विधेयकों पर सहमति किसानों के डेथ वारंट पर हस्ताक्षर करने जैसा होगा। किसान एपीएमसी और एमएसपी में बदलाव के खिलाफ हैं।

    मोदी सरकार का मकसद किसानों को बर्बाद करना: केसी वेणुगोपाल

    कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल ने बिल के विरोध में कहा है कि यह बहुत स्पष्ट है कि इस सरकार का मकसद हमारे किसानों को नष्ट करना और कॉर्पोरेट क्षेत्र की मदद करना है। हमारी पार्टी ने कृषि विधेयक का विरोध करने का निर्णय लिया है। सरकार को विधेयकों पर पुनर्विचार करना होगा, कम से कम उन्हें इसे चुनिंदा समिति को भेजना चाहिए।

    राज्यसभा में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा- दोनों बिल ल ऐतिहासिक है

    राज्यसभा में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि ये दोनों बिल ऐतिहासिक हैं और किसानों के जीवन में क्रांतिकारी बदलाव लाने वाले हैं। इस बिल के माध्यम से किसान अपनी फसल किसी भी जगह पर मनचाही कीमत पर बेचने के लिए आजाद होंगे। इन विधेयकों से किसानों को महंगी फसलें उगाने का अवसर भी मिलेगा।

    केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, यह विधेयक इस बात का भी प्रावधान करते हैं कि बुआई के समय ही जो करार होगा उसमें ही कीमत का आश्वासन किसान को मिल जाए। किसान की संरक्षण हो सके और किसान की भूमि के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ न हो इसका प्रावधान भी इन विधेयकों में किया गया है।

    ये भी पढ़ें- पिछले 5 साल में MSP पाने वाले किसानों की संख्या 70 फीसदी बढ़ी, फिर न्यूनतम समर्थन मूल्य पर हंगामा क्यों?

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Congress opposes Agriculture Bills in Rajya Sabha. Congress MP Partap Singh Bajwa says Congress rejects these bills. We will not sign on this death warrant of farmers. It is very clear that this government's motive is to destroy our farmers and help the corporate sector.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X