रेप पीड़िता ने वापस नहीं लिया केस तो सरेराह रोककर प्राइवेट पार्ट पर डाला तेजाब

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। हरियाणा के गुरुग्राम में एक रेप पीड़िता के पुलिस केस वापस ना लेने पर उसके प्राइवेट पार्ट पर तेजाब डाल देने का खौफनाक मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि आरोपी काफी समय से लड़की पर केस वापस ले लेने के लिए दबाव बना रहा था लेकिन लड़की ने साफ किया कि वो पीछे नहीं हटेगी। आरोपी ने लड़की को रास्ते में रोकते हुए कहा कि वो माफी मांगना चाहता है। लड़की जैसे ही रुकी तो उसने मारपीट करते हुए उसके निजी अंग पर ही तेजाब फेंक दिया और फरार हो गया। मामला बीते हफ्ते का है। 

 आठ महीने पहले कराई थी एफआईआर

आठ महीने पहले कराई थी एफआईआर

पुलिस ने बताया कि पीड़िता क्षेत्र के गांव डूंडाहेड़ा की रहने वाली है। 18 मार्च 2017 को उसने उद्योग विहार थाने में रेप की एफआईआर दर्ज कराई थी। इसमें गांव का ही शैलेंद्र मिश्रा आरोपी है। पीड़िता का आरोप है कि शैलेंद्र मिश्रा ने उसके साथ रेप किया था। मामला इस समय कोर्ट में है।

22 नवंबर को फेंका तेजाब

22 नवंबर को फेंका तेजाब

22 नवंबर को रेप के मामले में कोर्ट में सुनवाई के बाद घर लौट रही थी। डूंडाहेड़ा गांव में हनुमान मंदिर के पास आरोपी ने माफी मांगने के बहाने पीड़िता को रोक लिया। आरोपी ने अपने एक साथी की मदद से युवती को जबरन खींचकर पास के एक खाली प्लॉट में ले गया और वहां उन दोनों ने महिला के गुप्तांग पर तेजाब डाल दिया।

महिला का आरोप, पुलिस ने नहीं की मदद

महिला का आरोप, पुलिस ने नहीं की मदद

महिला का आरोप है कि घटना के बाद उसने कई बार 100 नंबर पर कॉल की लेकिन पुलिस से कोई मदद नहीं मिली। एसिड अटैक के बाद वह मौका-ए-वारदात पर दर्द से तड़पती रही। घटना के आठ दिन बाद हालत में सुधार होने पर महिला थाने पहुंची। मामले के बारे में मीडिया में छपा तो पुलिस ने भी सक्रियता दिखाई और आरोपी की तलाश शुरू की है।

नौ साल की बच्ची के साथ स्कूल टीचर ने की अश्लील हरकत, करणी सेना को चल गया पता

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Acid attack on rape victim in gurugram
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.