कभी सड़क पर मांगता था भीख, बदला ऐसा कि कोई पहचान ना पाए

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

करनाल। हरियाणा के करनाल में एक संस्था की मदद से एक शख्स को नई जिंदगी मिल गई। ये शख्स सड़क पर भीख मांगकर जीवन बिता रहा था, पैरों में इंफेक्शन के चलते ये सड़कों के ऊपर रेंग रेंग कर पिछले कई सालों से चल रहा था। करनाल की एक संस्था ने इसे देखा तो ना सिर्फ इसका इलाज कराया बल्कि रहने का भी इंतजाम किया। अब ये शख्स पहचान में भी नहीं आता है।

फेसबुक पर तस्वीरें हो रही वायरल

फेसबुक पर तस्वीरें हो रही वायरल

फेसबुक पर इस शख्स की तस्वीरें वायरल हो रही हैं। राज कुमार अरोरा नाम के यूजर ने तस्वीरें पोस्ट करते हुए लिखा है 'एक व्यक्ति जो की बहुत ही नर्क का जीवन बिता रहा था सड़कों के ऊपर रेंग रेंग कर पिछले कई सालों से चल रहा था। गंदे बाल, जुएं पड़ी हुई थी, मैले कपड़े, बरसों नहाये हुए हो गए थे और सही तरीके से चल भी नहीं पा रहा था। हाथों में और पांव में बहुत ज्यादा इंफेक्शन था एक नर्क का जीवन बिता रहा था। सेवादारों ने सेवा करने के उपरांत उसका सुंदर शरीर निकल आया और वह बहुत खुश था और सब को आशीर्वाद दिया यमुनानगर के भरे बीच चौराहे में बैठा रहता था।'

 आश्रम में मिला आशियाना

आश्रम में मिला आशियाना

पोस्ट में राजकुमार लिखत हैं, 'गंदा ही खाना, गंदा ही पहनना और गंदे में ही रहना उसका जीवन था। अब बहुत अच्छे से 'अपना आशियाना आश्रम' में उसे आश्रय मिला और हम सभी प्रभु से प्रार्थना करते हैं कि उसका आगे का जीवन सुखमय बीते।'

मदद की अपील भी की

मदद की अपील भी की

इस पोस्ट में उन्होंने आग्रह किया है कि सभी समाजसेवियों से हाथ जोड़कर प्रार्थना की जाती है कि आपके इर्द-गिर्द आस-पास कोई भी लाचार, जख्मी मंदबुद्धि बेघर हालत में कोई भी व्यक्ति दिखाई दे तो कृपया अपना आशियाना के हेल्प लाइन नंबर 9416110073 पर फोन जरुर करें।

ओखी चक्रवात पीड़ितों के लिए मनोहल लाल खट्टर ने प्रधानमंत्री राहत कोष में दान किए दो करोड़

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A man from karnal gets new life with help of NGO in haryana
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.