• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

विमान ईंधन की कीमतों में भारी उछाल, महंगी हो सकती हैं हवाई यात्राएं!

|

नई दिल्ली। कोरोनावायरस महामारी प्रेरित लॉकडाउन में हवाई यात्राओं के संचालन में मिली छूट के बाद 1 जून से विभिन्न एयरलाइन्स कंपनियों ने विभिन्न शहरों में उड़ानों की औपचारिक शुरूआत करते ही विमानों में भरे जाने जेट ईंधन की कीमतों में भारी उछाल आया है, जिससे हवाई यात्राओं के महंगे होने के पूरे आसार हैं। यानी अगर आपने अब तक टिकट नहीं लिए हैं, तो आपको अब टिकट खऱीदने पर ज्यादा मूल्य चुकाने पड़ सकते हैं।

airlines

ऐसा इसलिए हुआ है, क्योंकि एविएशन टर्बाइन फ्यूल (ATF) के दाम जून महीने के पहले ही दिन ही आसमान पर पहुंच गए हैं। दरअसल, तेल विपणन कंपनियों द्वारा विमान ईंधन की कीमतों में करीब 50 फीसदी का इजाफा किया गया है। चूंकि लगभग ढाई महीने के लॉकडाउन में वैसे ही विमानन कंपनियों का भट्टा बैठा हुआ है।

airlines

लॉकडाउन से मंडराया इंडियन एयरलाइन सेक्टर में 29 लाख कर्मचारियों की नौकरी पर खतरा!

    DGCA Guideline: Airlines कंपनियों 3 June से सभी यात्रियों को देनी होगी ये सुविधाएं | वनइंडिया हिंदी

    माना जा रहा है कि जेट ईंधन की कीमतों में ताजा वृद्धि का सीधा असर ग्राहकों के जेब पर पड़ना पूरी तरह से तय हैं, क्योंकि लॉकडाउन के चलते विमान कंपनियां पहले से ही भारी वित्तीय संकट का सामना कर रही है।

    airlines

    अगर रद्द हुई है एयर इंडिया की फ्लाइट, तो 24 अगस्त तक बिना चार्ज दिए बुक करें टिकट

    इंडियन ऑयल के अनुसार, दिल्ली में 1 जून को विमान ईंधन की कीमत 12,126.75 रुपए से बढ़कर 33,575.37 रुपए प्रति किलोलीटर हो गई है, जबकि इससे पहले यानी 16 मई से 31 मई तक इसकी कीमत 21,448.62 रुपए प्रति किलोलीटर ही थी। इस हिसाब से विमान ईंधन में 50 फीसदी से अधिक यानी 56.54 फीसदी की भारी बढ़ोतरी हुई है।

    airlines

    3 जून से सभी हवाई यात्रियों को ये सुविधाएं देना जरूरी, एयरलाइंस कंपनियों के लिए नई गाइडलाइंस जारी

    हालांकि दिल्ली की तुलना में विमान ईंधन की कीमतों में कोलकाता में कम वृद्धि हुई है, जो कीमत 45.68 फीसदी है, जिससे कोलकाता में विमान ईंधन की कीमत बढ़कर 38,543.48 रुपए हैं, लेकिन दिल्ली और मुंबई में विमान ईंधन की कीमतों में थोड़ा अंतर हैं। मुंबई में विमान ईंधन की कीमत में 57.80 वृद्धि हुई, जिससे वहां कीमत बढ़कर 33,070.56 रुपए हो गई है और चेन्नई में 56.54 फीसदी कीमत बढ़कर 34,569.30 रुपए प्रति किलोलीटर हो गई है।

    airlines

    1 जून से शुरू हो रही ट्रेनों को लेकर रेलवे ने जारी किए निर्देश, यात्रा करने से पहले जान लें

    गौरतलब है विमानन कंपनियों का 35 से 40 फीसदी खर्च केवल ईंधन पर ही होता है। क्रिसिल (Crisil) की एक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोनावायरस महामारी के प्रकोप और उसके बाद लागू किए गए लॉकडाउन के चलते घरेलू विमानन उद्योग को चालू वित्त वर्ष के दौरान कुल कमाई में 24,000-25,000 करोड़ रुपए का भारी नुकसान हो सकता है।

    लॉकडाउन: बकरियां बेचकर एयर टिकट खरीदने वाले मजदूर आखिरकार भरेंगे उड़ान

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Following the relaxation of air travel in the Coronavirus epidemic-induced lockdown since June 1, various airlines have sprung up a surge in jet fuel prices as soon as flights are launched in various cities, prompting the possibility of air travel becoming expensive. Huh. That is, if you have not taken tickets till now, you may have to pay a higher price on buying the ticket now.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more