• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

88th Air Force day: किसी भी समय दुश्‍मन को जवाब देने के लिए तैयार भारतीय वायुसेना-IAF Chief

|

नई दिल्‍ली। गुरुवार 8 अक्‍टूबर को भारतीय वायुसेना (आईएएफ) ने अपना 88वां वायुसेना दिवस मनाया। गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरबेस पर राफेल से लेकर मिग और सुखोई से लेकर मिराज तक ने आसमान में जलवा बिखेरा। चिनुक और अपाचे अटैक हेलीकॉप्‍टर की गर्जना से भी आसमान गूंजता रहा। इस बार वायुसेना के लिए यह दिन इसलिए भी खास था क्‍योंकि इसका आयोजन ऐसे समय में हो रहा है जब पूर्वी लद्दाख में लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर चीन की सेना डटी हुई है। वायुसेना प्रमुख, चीफ एयर मार्शल आरकेएस भदौरिया ने इस मौके पर कहा है कि आईएएफ दुश्‍मन को जवाब देने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

iaf-chief.jpg

यह भी पढ़ें-88वां वायुसेना दिवस: भगवद्गीता के साथ वायुसेना का रिश्‍ता

    Indian Air Force Day 2020: IAF Chief ने की चीन सीमा पर तैनात एयरवॉरियर्स की तारीफ | वनइंडिया हिंदी

    हिंडन से दी गई चीन को चेतावनी

    आईएएफ मुखिया, चीफ एयर मार्शल आरकेएस भदौरिया ने वायुसेना दिवस पर बोलते हुए चीन का अप्रत्‍यक्ष तौर पर वॉर्निंग दी। उन्‍होंने कहा कि पहले भी वायुसेना कई बार अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन बखूबी कर चुकी है और आगे भी जरूरत पड़ने पर यह दुश्‍मन को प्रभावी जवाब देने के लिए तैयार है। चीफ एयर मार्शल ने का इशारा पूर्वी लद्दाख में वायुसेना की तैयारियों की तरफ था। वायुसेना प्रमुख ने इस मौके पर चीन के टकराव को प्रभावी तरीके से जवाब देने के लिए तैयारी रखने पर सभी एयर वॉरियर्स की सराहना भी की। पूर्वी लद्दाख में मई माह से भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं। आईएएफ ने लद्दाख में तैनाती को बढ़ा दिया है। वह किसी भी प्रकार की चुनौती से निबटेन के लिए पूरी तरह तैयार है। वायुसेना प्रमुख ने कहा, 'हालिया टकराव के दौरान जिस तरह से सभी एयर वॉरियर्स ने उत्‍तरी मोर्चे पर तेजी से प्रतिक्रिया दी है, मैं उसके लिए उन सभी की सराहना करता हूं। जब हमें कम समय में अपने सभी संसाधनों को तैनात करना था और सेना को समय से पहले मदद देनी थी, तो वो सभी तुरंत तैयार थे।'

    हर स्थिति के लिए रेडी IAF

    पिछले दिनों एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में वायुसेना प्रमुख चीफ एयर मार्शल ने कहा था कि सेना पाकिस्‍तान और चीन, दोनों की तरफ से किसी भी प्रकार के संघर्ष या युद्ध की स्थिति से निबटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्‍होंने कहा कि वायुसेना की स्थिति बहुत ही महत्‍वूपर्ण है। किसी भी भावी संघर्ष में जीत सुनिश्चित करने के लिए वायुसेना ही हर कसौटी पर खरी उतरेगी। उन्‍होंने यह भी स्पष्‍ट कर दिया कि आईएएफ इतनी क्षमतावान है कि वह दुश्‍मन के अड्डों पर अंदर तक जाकर हमला कर सकती है। उन्‍होंने राफेल की जिक्र भी किया और कहा कि राफेल के आईएएफ में शामिल होने पर वायुसेना पहले हमला करने में पूरी तरह से सक्षम हो चुकी है। राफेल फाइटर जेट इस समय पूर्वी लद्दाख में उड़ान भर रहे हैं। उन्‍होंने कहा, 'राफेल के शामिल होने से आईएएफ को मौका मिल गया है कि वह आगे बढ़कर पहले और बहुत अंदर तक हमला कर सके।'

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    88th Air Force day: IAF is ready to engage effectively when needed says Chief RKS Bhadauria.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X