• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अमेरिका में 36,000 मौतों को टाला जा सकता था, जहां Covid-19 डेथ टोल अब 96,363 पहुंच चुका है!

|

नई दिल्ली। कोलंबिया विश्वविद्यालय के शो के नए अनुमानों के अनुसार अगर अमेरिका में कोरोनोवायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग जैसे कदम एक सप्ताह पहले उठा लिया गया होता तो अब तक महामारी के संक्रमण में मारे गए लोगों में से लगभग 36,000 लोगों की जान बचाई जा सकती थी।

दिल्ली: 10 दिन में तैयार हुई दुनिया की सबसे बड़ी Covid-19 केयर फैसिलिटी के बारे में सबकुछ जानिए

US

कोलंबिया यूनीवर्सिटी में सेन पेई, शशिकिरण कांडुला और जेफरी शमन द्वारा किए गए विश्लेषण में कहा गया है कि काउंटरफैक्टुअल सिमुलेशन (प्रतितथ्यात्मक अनुकरण) से संकेत मिलता है कि अगर 1-2 सप्ताह पहले Covid-19 के खिलाफ समान नियंत्रण उपायों को अमेरिका में लागू कर दिया जाता तो काफी संख्या में संक्रमणों और मौतों को रोका जा सकता था।

us

चीन से US कंपनियों को वापस लाने के लिए अमेरिकी कांग्रेस में लाया गया कानून

न्यू यॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट में विश्लेषण का हवाला देते हुए कहा गया कि अगर 1 मार्च को अमेरिका ने शहरों को बंद करना और सामाजिक संपर्क को सीमित करना शुरू कर दिया होता, तो दो हफ्ते पहले ज्यादातर लोग अपने घर के अंदर रहने लगते और वायरस के संक्रमण से मारे गए लगभग 83 फीसदी लोगों को वायरस से बचाया जा सकता था।

us

रिसर्चरों का कहना है कि इस दृष्टिकोण से मई महीने की शुरुआत तक लगभग 54,000 कम लोग मारे गए होते, लेकिन मार्च के प्रारंभ में अमेरिकी शहरों के माध्यम से फैले प्रकोप पर कार्रवाई करने की प्रतीक्षा की भारी कीमत अमेरिका को चुकानी पड़ी है।

us

क्या कोल्ड वार-2 का कारण बनेगा कोरोना? अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध से अंतर्राष्ट्रीय शांति को खतरा

शोधकर्ताओं ने पाया कि समय पर की गई कार्रवाई का छोटा अंतर भी सबसे खराब घातीय वृद्धि को रोक देता, जो अप्रैल तक न्यूयॉर्क सिटी, न्यू ऑरलियन्स और अन्य प्रमुख शहरों में पहुंच गई थी। कोलंबिया के एक महामारी विज्ञानी और अनुसंधान दल के नेता जेफरी शमन ने कहा कि मौतों की संख्या को कम करने के लिए एक छोटे से क्षण में वायरस को उसके विकास के चरण में पकड़ना अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण है।

us

चेतावनी के बावजूद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका में स्कूलों के दोबारा खोलने के लिए बढ़ाया दवाब

लेख में कहा गया है कि यह निष्कर्ष संक्रामक रोग मॉडलिंग पर आधारित हैं, जो यह अनुमान लगाते हैं कि कैसे मार्च के मध्य में लोगों के बीच संपर्क कम होने शुरू होते ही वायरस के संचरण को धीमा कर देता है। शमन की टीम द्वारा तैयार मॉडल में 3 मई तक अमेरिका में Covid-19 संक्रमण और मौतों के फैलने का अनुमान लगाया गया है।

us

Covid19: फिलहाल अधिकांश अमेरिकी फर्मों का चीन छोड़ने का कोई इरादा नहीं: सर्वे

रिपोर्ट के मुताबिक 3 मई तक अकेले न्यूयॉर्क मेट्रो क्षेत्र में 21, 800 लोग मारे गए थे और अगर नियंत्रण उपायों को एक सप्ताह पहले ही देश भर में अपनाया गया होता तो शोधकर्ताओं ने अनुमान था कि न्यूयार्क में मौत का आकंड़ा 4300 से भी कम होता।

us

कोरोनावायरस पर कथित 'झूठ' पर चीनी पलटवार के बाद चीन और अमेरिका के बीच छिड़ा वर्ड वार

इसके अलावा टेक्सास यूनिवर्सिटी ऑफ ऑस्टिन एपिडेमियोलॉजिस्ट के लॉरेन एनसेल मेयर्स ने कहा कि अनुसंधान से पता चलता है कि यदि नियंत्रण उपाय अमेरिकी में दो सप्ताह पहले लगा दिया गया होता तो कई Covid-19 मौतों और मामलों को मई की शुरुआत में रोका जा सकता था और यह केवल न्यूयॉर्क शहर में बल्कि पूरे अमेरिका में रोका जा सकता था।

केवल 5 मिनट का ये टेस्ट बताएगा कोरोना वायरस से संक्रमित तो नहीं हैं, यूएस कंपनी का दावा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
An analysis conducted by Sen. Pei, Sasikiran Kandula and Jeffrey Shaman at Columbia University stated that counterfactual simulations (if counterintuitive simulation) indicated that the same control measures against Covid-19 were implemented in the US 1-2 weeks earlier. If given, a large number of infections and deaths could have been prevented.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more