• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना के बीच केरल में जीका वायरस का कहर, आज 14 नए मामले सामने आए

|
Google Oneindia News

त्रिवेंद्रम, जुलाई 09: केरल में जीका वायरस की लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है। केरल में पहला जीका वायरस केस सामने आने के एक दिन बाद, तिरुवनंतपुरम में 14 और नए मामले सामने आए हैं। परसाला की 24 वर्षीय गर्भवती महिला में पहली मरीज है जो जीका वायरस से संक्रमित मिली थी। अब बड़े स्तर पर स्वास्थ्य कर्मी इस वायरस की चपेट में आ रहे हैं। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पुणे भेजे गए इन मरीजों के नमूने पॉजिटिव आए हैं। सभी मरीजों का इलाज चल रहा है और उनकी हालत स्थिर है।

    Kerala में Zika Virus के पहले केस की पुष्टि, 24 साल की महिला संक्रमित | वनइंडिया हिंदी
    14 more cases of Zika virus detected in keralas Thiruvananthapuram

    गुरुवार को वायरस के मामले का पता चलने के बाद, वेक्टर नियंत्रण, राज्य कीट विज्ञान और रोग निगरानी इकाइयों के कर्मियों ने परसाला में उस क्षेत्र का दौरा किया था जहां 24 वर्षीय महिला रहती थी। बताया जा रहा है कि, महिला का कोई यात्रा इतिहास नहीं है, उसका घर केरल-तमिलनाडु सीमा से दूर नहीं है। स्वास्थ्य विभाग और जिला अधिकारियों ने इस मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए एडीज प्रजाति के मच्छरों के नमूने एकत्र करवाने का काम शुरू कर दिया है। सभी जिलों को इस बारे में सतर्क कर एहतियाती कदम उठाने को कहा गया है।

    बता दें कि, तिरुवनंतपुरम जिले की रहने वाली महिला ने 7 जुलाई को अपने बच्चे को जन्म दिया था। जिसमें जीका वायरस की पुष्टि की गई है। उनका कहना है कि महिला को 28 जून को बुखार, सिरदर्द और शरीर पर लाल निशान की शिकायत सामने आने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जीका वायरस गर्भवती महिला से उसके भ्रूण में भी जाकर फैल सकता है और शिशुओं को माइक्रोसेफली और अन्य जन्मजात बीमारियों के साथ पैदा कर सकता है। जीका वायरस की वजह से समय से पहले जन्म और गर्भपात जैसी स्थिति भी हो सकती है। इसके अलावा जीका वायरस की वजह से गर्भावस्था की अन्य जटिलताओं का भी सामना करना पड़ सकता है।

    Zika virus symptoms: जीका वायरस के लक्षण

    जीका वायरस के लक्षण है, हल्का बुखार, त्वचा पर लाल निशान और दाग, रैशेज, आंख आना, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द,अस्वस्थता या सिरदर्द शामिल हैं। जीका वायरस बीमारी की इन्क्यूबेशन टाइमिंग है, 3-14 दिन। जीका वायरस के लक्षण आमतौर पर 2 से 7 दिनों तक रहते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, जीका वायरस संक्रमण वाले अधिकांश लोगों में लक्षण विकसित नहीं होते हैं।

    नहीं थे बैल लाने के पैसे, तो पिता के लिए दो बेटियों ने खुद हल खींचकर जोत डाला पूरा खेतनहीं थे बैल लाने के पैसे, तो पिता के लिए दो बेटियों ने खुद हल खींचकर जोत डाला पूरा खेत

    जीका वायरस के रोकथाम और उपचार

    जीका वायरस के लिए कोई विशिष्ट उपचार या वैक्सीन नहीं बना हुआ है। जीका वायरस की वैक्सीन पर रिसर्च अभी भी किया जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी के मुताबिक जीका वायरस से संक्रमित लोगों को भरपूर आराम करना चाहिए, ज्यादा से ज्यादा लिक्विड डाइट लेना चाहिए। बुखार और बॉडी पेन के लिए नॉर्मल दवाई लेने की सलाह दी जाती है। जीका वायरस के संक्रमण को मच्छरों के काटने से बचाकर ही रोका जा सकता है। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक गर्भवती महिलाओं, प्रजनन आयु की महिलाओं और छोटे बच्चों में मच्छरों के काटने से बचाव पर खास ध्यान दिया जाना चाहिए।

    English summary
    14 more cases of Zika virus detected in kerala's Thiruvananthapuram
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X