32 सप्‍ताह की प्रेग्‍नेंट 10 साल की लड़की को SC ने नहीं दी गर्भपात की इजाजत

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को 10 साल की रेप पीडि़ता को गर्भपात की इजाजत नहीं दी है। यह लड़की 32 सप्‍ताह की प्रेग्‍नेंट है। कोर्ट ने यह फैसला लड़की के मेडिकल रिपोर्ट पर विचार करते हुए सुनाया है। मेडिकल रिपोर्ट में बताया गया है अगर गर्भपात कराया गया तो यह लड़की और उसके बच्‍चे दोनों के लिए नुकसानदेह हो सकता है।

32 सप्‍ताह की प्रेग्‍नेंट 10 साल की लड़की को SC ने नहीं दी गर्भपात की इजाजत

बता दें कि इससे पहले चंडीगढ़ की जिला अदालत ने 18 जुलाई 2017 को अपने एक फैसले में पीड़िता को गर्भपात की इजाजत देने से इंकार कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने साथ ही केंद्र को सुझाव दिया है कि प्रत्येक राज्य में ऐसे मामलों में तत्परता से निर्णय लेने के लिए स्थाई मेडिकल बोर्ड गठित करे। पार्लर में पेडिक्‍योर कराने गई थी लड़की, लड़के ने किया गलत जगह मसाज, पहुंचा जेल

सगे मामा ने किया था बलात्‍कार

बच्ची के साथ बलात्कार करने का आरोपी खुद उसका सगा मामा है। बच्ची के पिता एक सरकारी कर्मचारी है जबकि उसकी मां घरेलू कामकाज करती हैं। बच्ची के साथ रेप का मामला उस समय सामने आया था जब उसने पेट दर्द की शिकायत अपने परिजनों से की थी। माता पिता उसे अस्पताल लेकर गए तो उसके गर्भवती होने की बात सामने आई। वहीं 10 वर्षीय बच्चे के गर्भवती होने पर खुद डॉक्टर हक्के-बक्के रह गए हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A 10-year-old raped by her uncle will not be allowed to have an abortion, the Supreme Court ruled today, rejecting the petition by a Supreme Court lawyer.
Please Wait while comments are loading...