• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

1947 में जम्मू-कश्मीर पाकिस्तान जाना चाहता तो चला जाता, लेकिन ऐसा कियाः फारूक अब्दुल्ला

|

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार द्वारा पिछले वर्ष अगस्त महीने में जम्मू-कश्मीर राज्य से विशेष राज्य का दर्जा छीनने के निर्णय पर तंज कसते हुए शुक्रवार को नेशनल कांग्रेस नेता उमर अब्दुल्ला ने सरकार से पूछा है कि जम्मू-कश्मीर में विकास कार्य कहां हैं? उन्होंने आगे जोड़ते कहा कि 1 साल 3 महीने इस तरह की परियोजनाओं पर काम शुरू करने के लिए काफी लंबा समय होता है।

omar

दिल्ली के दुकानदारों ने दिवाली तक ग्रीन पटाखों की बिक्री की मांगी अनुमति

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले के निर्णय का गलत बताते हुए कहा, हम हमेशा कहेंगे कि यह गलत धारणा के तहत विशेष राज्य के दर्जे को हटाया गया। यह गलत धारणा है कि 370 और 35A हटने से जम्मू-कश्मीर सभी समस्याओं को हल जाएगा। यह जम्मू-कश्मीर के लिए उठाया गया सबसे बड़ा गलत कदम है। हम अपनी भूमि पर सुरक्षित नहीं हैं।

JK

पाकिस्तान: कराची में प्राचीन हिंदू मंदिर में तोड़फोड़, भगवान गणेश की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त किया

बकौल उमर अब्दुला, वो कहते हैं कि अनुच्छेद 370 और 35A हटाने से भारतीय प्रशासन से परेशान लोगों को देश के बाकी हिस्सों में पूरी तरह से आत्मसात किया जाएगा, लेकिन मैं विश्वास के साथ कहना चाहूंगा कि इसके द्वारा लोग पहले से भी अधिक अलग-थलग हो गए हैं।

दिल्ली से लंदन जाने वाली एयर इंडिया के दो विमानों को मिली धमकी, बोले 'फ्लाइट लंदन नहीं पहुंचने देंगे'

jk

वहीं, जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे के खिलाफ लड़ाई में अगुआ नेशनल कांफ्रेस चीफ फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि अगर जम्मू-कश्मीर पाकिस्तान जाना चाहता था, तो उन्होंने 1947 में ऐसा किया, जिसे कोई भी रोक नहीं सकता था, लेकिन हमारा राष्ट्र महात्मा गांधी का भारत है, बीजेपी का भारत नहीं।

JK

अक्टूबर में फिर रोजगार दर में आई गिरावट, रिकवरी और त्योहारी सीजन का भी नहीं दिखा असर

गौरतलब है गत 5 अगस्त, 2019 को मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर को संविधान के अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए के तहत मिले विशेष राज्य के दर्जे को छीन लिया था और जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के रूप में दो केंद्र शासित राज्यों को पुनर्गठन किया था, जिसको वापस लाने के लिए कश्मीर के सभी राजनीतिक दल एकजुट होकर आंदोलनरत हैं।

पार्षद बना रहेगा दिल्ली दंगों का आरोपी ताहिर हुसैन, दिल्ली हाईकोर्ट ने लगाई रोक

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Taunting the decision of the Modi government at the Center to withdraw special status from Jammu and Kashmir state in August last year, National Congress leader Omar Abdullah on Friday asked the government where the development works are in Jammu and Kashmir. He further added that 1 year 3 months is a long time to start work on such projects.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X