• search
हैदराबाद न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Gangadhar Tilak Katnam : मिलिए हैदराबाद के रोड डॉक्टर से, पेंशन के पैसों से भरते हैं सड़कों के गड्ढे

|
Google Oneindia News

हैदराबाद, 13 जुलाई। ये हैं हैदराबाद के रहने वाले गंगाधर तिलक कटनम। इनकी उम्र 73 साल है। ये पिछले करीब 11 सालों से सड़कों के गड्ढे भरने का काम कर रहे हैं। इसकी वजह से लोग इन्हें सड़क का डॉक्टर भी कहते हैं।

    Hydrabad में Elder couple अपनी Pension के पैसों से भर रहे है Road के गड्ढें | वनइंडिया हिंदी
    अपनी गाड़ी को भी वो 'पोथोल एम्बुलेंस' यानी गड्ढे भरने वाली गाड़ी कहते हैं

    अपनी गाड़ी को भी वो 'पोथोल एम्बुलेंस' यानी गड्ढे भरने वाली गाड़ी कहते हैं

    गंगाधर तिलक अपनी पत्नी वेंकटेश्वरी कटनम के साथ कार में सवार होकर निकलते हैं और रास्ते में सड़क पर जहां कहीं भी उन्हें गड्ढा दिखाई देता है, उसे भरना शुरू कर देते हैं। अपनी गाड़ी को भी वो 'पोथोल एम्बुलेंस' यानी गड्ढे भरने वाली गाड़ी कहते हैं।

     अधिकारियों को भी सूचित किया, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ

    अधिकारियों को भी सूचित किया, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ

    मीडिया से बातचीत में गंगाधर तिलक कटनम कहते हैं कि वेभारतीय रेलवे से रिटायर होने के बाद हैदराबाद शिफ्ट हो गए। इस दौरान उन्होंने सड़क के गड्ढों की वजह से कुछ हादसे देखे जिसमें लोग बुरी तरह से जख्मी हुए। इस मामले को लेकर गंगाधर तिलक कटनम ने संबधिंत अधिकारियों को भी सूचित किया, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ।

    अब तक ये दंपत्ति करीब 2000 गड्ढे भर चुके हैं

    इसके बाद गंगाधर तिलक ने सड़क हादसों को रोकने के लिए गड्ढों को भरने की जिम्मेदारी अपने कंधों पर ली। कटनम अपनी पत्नी के साथ मिलकर ना सिर्फ गड्ढे भरते हैं बल्कि इसमें आने वाला पूरा खर्च वो अपनी पेंशन से करते हैं। अब तक ये दंपत्ति करीब 2000 गड्ढे भर चुके हैं।

    कई लोगों की जान गई

    कई लोगों की जान गई

    वहीं, इस नेक काम को लेकर कटनम और उनकी पत्नी की लोग काफी तारीफ कर रहे हैं। बुजुर्ग दंपत्ति की इस मुहिम से ना केवल सड़कों पर आने जाने वाले लोगों की राह आसान हो रही है बल्कि कितने ही लोगों की जान बच रही है और दुर्घटनाएं भी टल रही हैं। भारत में सबसे बड़ी समस्या खराब सड़कों की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हर 3.14 सेकेंड में एक व्यक्ति की मौत सड़क हादसे के जरिए होती है।

    Pooja Yadav : जर्मनी से नौकरी छोड़कर इंडिया लौटीं और IPS बन गईं पूजा यादव, कभी थीं रिसेप्शनिस्ट Pooja Yadav : जर्मनी से नौकरी छोड़कर इंडिया लौटीं और IPS बन गईं पूजा यादव, कभी थीं रिसेप्शनिस्ट

    English summary
    Gangadhar Tilak Katnam Became road doctor of Hyderabad fills the potholes of roads with pension money
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X