• search
हिमाचल प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

लेह से मनाली तक 10,000 फीट से ज्यादा लंबी अटल टनल हुई तैयार, 10 साल में 3200 करोड़ लागत में बनी

|

मनाली। हिमाचल प्रदेश के मनाली से लद्दाख के लेह तक 10 हजार फीट से भी ज्यादा लंबी सुरंग बनाकर तैयार कर दी गई है। इसे बनाने में 10 साल का वक्त लगा। यह परियोजना अटल सुरंग के नाम से जानी जा रही है। चीन से तनाव के बीच यह सुरंग सामरिक दृष्टि से अति महत्वपूर्ण है। इसे दुनिया में ऐसी सबसे लंबी सुरंग भी बताया जा रहा है, जो कि पहाड़ियां चीरकर बनाई गई है।

उद्घाटन कार्यक्रम की तैयारियां जोरों पर

उद्घाटन कार्यक्रम की तैयारियां जोरों पर

बीआरओ अब इस सुरंग के उद्घाटन की तैयारी में जुट गया है। इसी के तहत बीआरओ एडीजी आज जायजा लेने पहुंचे। संवाददाता ने बताया कि, खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 सितंबर को इसके उद्घाटन के लिए मनाली आ सकते हैं। पीएम के कार्यक्रम की तैयारियां जोरों पर हैं। हेलिकॉप्‍टर के माध्‍यम से प्रधानमंत्री सासे हेलीपैड पहुंचेंगे। वहां उनकी सुरक्षा को देखते हुए हेलीपैड के आसपास जांच पड़ताल शुरू हो गई है। हालांकि पहले पीएम माेदी के 29 सितंबर को मनाली आने की उम्‍मीद जाहिर की जा रही थी। लेकिन अब पीएम 25 सितंबर को मनाली आ सकते हैं।

बनाने में आईं काफी दिक्कतें

बनाने में आईं काफी दिक्कतें

स्थिति का जायजा लेने बीआरओ के एडीजी अनिल कुमार मनाली पहुंच गए हैं। इससे पहले बीआरओ डीजी लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह तैयारियों का जायजा लेने मनाली आए थे। पिछले दस साल से दस हजार फीट की ऊंचाई पर पीर पंजाल पर्वत श्रृंखला में बीआरओ की देखरेख में एफकॉन स्ट्रॉबेग व स्‍मेक कंपनी 12 महीने 24 घंटे इस महत्वपूर्ण सुरंग को पूरा करने में जुटे हुए थे। टनल के दोनों छोर मिलने में करीब आठ साल का समय लग गया। सेरी नाले के रिसाव के कारण महज 600 मीटर हिस्से को पार करने में साढ़े तीन साल का समय लग गया।

इसी माह होगा उद्घाटन

इसी माह होगा उद्घाटन

इंजीनियरों के अनुसार, इन टनल का अनुभव मनाली-लेह नेशनल हाईवे पर बनने वाली अन्य चार महत्वपूर्ण सुरंगों के निर्माण में काम आएगा। गौर रहे कि अटल टनल के निर्माण कार्य का बजट चार हजार करोड़ रुपये था। लेकिन इंजीनियरों के कुशल रणनीतिक बदलाव के कारण न केवल 800 करोड़ की बचत हुई है, बल्कि उस पैसे का इस्तेमाल टनल की देखरेख और बेहतरी के लिए इस्तेमाल में लाया जाएगा।

अब पूरा भर गया सबसे बड़ा बांध, 138 मीटर के वाटर लेवल को निहारेंगे इस बार CM, पूजा की तैयारियां शुरू

3200 करोड़ रुपए आई लागत

3200 करोड़ रुपए आई लागत

बीआरओ अटल रोहतांग टनल के चीफ इंजीनियर विशेष सेवा मेडल प्राप्त केपी पुरसोथमन ने बताया कि यह टनल 3200 करोड़ में बनकर तैयार हुई है। इसी महीने यह टनल देश को समर्पित कर दी जाएगी। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि, 3200 करोड़ की यह अटल टनल बनकर अब तैयार है और इसे प्रधानमंत्री मोदी देखने आएंगे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
World's Longest Atal Tunnel Connecting From Leh To Manali Is now Ready for inauguration
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X