• search
हिमाचल प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

प्यार ने सिखाई हिंदी और अब तो कुल्लू के घनश्याम का पूरा ख्याल रखती है गोरी मेम

By Gaurav Dwivedi
|

शिमला। कहते हैं प्यार की कोई सीमा नहीं होती कब कौन किसे दिल दे बैठे कोई नहीं जानता। कुछ ऐसा ही वाक्या फिनलैंड से अपने दोस्तों के साथ भारत घूमने आई एक विदेशी युवती के साथ हुआ जो अब भारत की बहू बन चुकी है। जो ना केवल हिंदी बोलने लगी है बल्कि भारतीय पकवान बनाने में भी पारंगत हो चुकी है।

प्यार ने सिखाई हिंदी और अब तो कुल्लू के घनश्याम का पूरा ख्याल रखती है गोरी मेम

दरअसल बीते साल फिनलैंड की रहने वाली केट्री अपने भारत भ्रमण के दौरान हिमाचल प्रदेश के कुल्लू की खराहल घाटी के तहत आने वाले ठासीभ्रा के घनश्याम ठाकुर को अपना दिल दे बैठी। घनश्याम ने कभी नहीं सोचा था कि गोआ में घूमना उनके लिए एक दुखद संकेत लेकर आएगा। केट्री ने घनश्याम को पहली ही मुलााकत में अपना दिल दे दिया और दोनों का प्यार परवान चढ़ा तो उसे अपना जीवनसाथी चुन लिया।

वहीं दूसरी ओर केट्री के लिए भी भारत का पहला भ्रमण यादगार बन गया। दोनों के प्रेम की कहानी कि जुबानी कहें तो सितंबर, 2016 में घनश्याम ठाकुर भ्रमण करने के लिए पहली मर्तबा गोवा गए। वहां केट्री से मुलाकात हुई। पहली ही नजर में केट्री के साथ हुई बातचीत दोस्ती में बदल गई। फिर प्रेम परवान चढ़ा और आखिरकार दोनों ने गोवा में ही शादी करने का निर्णय लिया। अप्रैल, 2017 में केट्री देवघाटी कुल्लू पहुंची और यहां की संस्कृति व पहाड़ की खूबसूरती पर फिदा हुई।

प्यार ने सिखाई हिंदी और अब तो कुल्लू के घनश्याम का पूरा ख्याल रखती है गोरी मेम

अंत में कुछ दिन पहले दोनों ही कुल्लू में शादी के सूत्र में बंध गए और हंसी-खुशी अपना जीवन बिता रहे हैं। वो अब हिंदी के अलावा कुल्लू की ठेठ बोली भी सीख रही हैं। वो सभी को हाथ जोड़कर नमस्ते भी करती हैं। उन्हें यहां की वेशभूषा और खान-पान भी भा गया है। केट्री को कुल्लवी व्यंजन के चटखारे अच्छे लगते हैं।

सात संमदर पार तक कुल्लू का नाता गहरा रहा है। यहां के युवक और युवतियों ने पहले भी रिशते अपनाए हैं। जिनकी नातेदारी अब विदेश तक पहुंची है। पिछले करीब ढ़ाई दशक में कुल्लू के करीब 50 युवक-युवतियां विदेशियों के साथ रिश्तेदारी की डोर में बंध गए हैं। जहां 12 देशों की युवतियों ने अपने जीवनसाथी कुल्लू में ढूंढ लिए हैं। वहीं 11 देशों के विदेशी मेहमान यहां की युवितयों पर फिदा हुए हैं। कुल्लू के युवक-युवतियों के जिन देशों में संबंध बने हैं उनमें कनाडा, डेनमार्क, बेल्जियम, यूएसए, फ्रांस, स्विस, कोरिया, इटली, रशिया, जापान, इजरायल, ब्रिटीश आदि शामिल हैं।

Read more: चिट्ठी लिखकर जीतिए 50 हजार रुपए का इनाम, पढ़िए कैसे?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Love Marriage sucess in Himachal from forigner
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X