कोटखाई केस से जुड़े सभी पुलिस अधिकारियों को हटाया गया, 3 सस्पेंड

Subscribe to Oneindia Hindi

शिमला। शिमला जिले के कोटखाई में स्कूली छात्रा से गैंगरेप मर्डर केस में लोगों के बढ़ते गुस्से को देखते हुये सरकार अब जाकर एक्शन में आई है। हलांकि इससे पहले सीएम वीरभद्र सिंह शिमला पुलिस की पीठ थपथपाते रहे। ताजा घटनाक्रम के तहत सरकार ने इस मामले से जुड़े सभी पुलिस अफसरों का तबादला कर दिया है। आईजी साऊथ रेंज एसआईटी चीफ जहूर जैदी व शिमला के एमपी डी डब्लयू नेगी के साथ नये एसआईटी चीफ भजन देव नेगी को हटा दिया है। ताजा आदेशों में आईजी साउथ जहूर एच जैदी को उनकी मौजूदा पोस्टिंग से हटाकर शिमला में आईजी वेलफेयर एंड एडमिनिस्ट्रेशन लगाया गया है। सेंट्रल रेंज मंडी के आईजी अजय कुमार यादव को साऊथ रेंज के आईजी का कार्यभार भी सौंपा गया है।

Read Also: कोटखाई गैंगरेप पर शिमला-गुम्मा बंद, सचिवालय पर पथराव, भारी तनाव

सौम्या सांंबाशिवन शिमला की नई एसपी

सौम्या सांंबाशिवन शिमला की नई एसपी

सिरमौर की सौम्या सांबाशिवन को एसपी शिमला तैनात किया गया है। शिमला के एसपी डीडब्ल्यू नेगी को शिमला में विजिलेंस ब्यूरो का एसपी बनाया गया है। किन्नौर के एसपी रोहित मालपाणी अब एसपी सिरमौर होंगे, जबकि पुलिस हैड क्वार्टर शिमला में तैनात एआईजी गुरदेव शर्मा को एसपी किन्नौर का कार्यभार सौंपा गया है। इसके अतिरिक्त शिमला के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भजन देव नेगी जो कि कोटखाई केस से ही जुड़े थे, को अपनी आगामी नियुक्ति के लिए पुलिस हैड क्वार्टर शिमला को रिपोर्ट करेंगे।

सएचओ थाना, मुंशी व संतरी सस्पेंड

सएचओ थाना, मुंशी व संतरी सस्पेंड

उधर कोटखाई थाना में लॉकअप में हुई हत्या के लिये सरकार ने बुधवार शाम तीन पुलिस कर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। सस्पेंड किए कर्मियों में एसएचओ, संतरी और मुंशी शामिल है। कोटखाई मामले के आरोपी की थाने में मौत के बाद से ही पुलिस कर्मचारी जांच के दायरे में आ गए थे। वहीं, घटना के बाद कोटखाई थाने के सारे स्टाफ को लाइन हाजिर कर दिया गया था। इस मामले की निष्पक्ष जांच के लिए सभी कर्मियों को पुलिस लाइन भेज दिया गया था। हिमाचल हाईकोर्ट में डीजीपी सोमेश गोयल की ओर दायर हलफनामे में तीन पुलिस कर्मियों को सस्पेंड करने की जानकारी दी गई है।

बता दें कि देर रात गैंगरेप के आरोपी की थाने में राजेंद्र और सूरज के बीच मारपीट हो गई, जिसमें सूरज गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस जवान उसे ठियोग अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामले की सूचना मिलते ही आईजी साउथ रेंज जहूर जैदी भी मौके पर पहुंचे और जांच शुरू कर दी थी।

सरकार और पुलिस दोनों ने लोगों में अपनी विश्वसनीयता को खो दिया : भंडारी

सरकार और पुलिस दोनों ने लोगों में अपनी विश्वसनीयता को खो दिया : भंडारी

हिमाचल प्रदेश के पूर्व डीजीपी आईडी भंडारी ने कहा कि कोटखाई मामले में सरकार और पुलिस दोनों ने लोगों में अपनी विश्वसनीयता को खो दिया है। उन्होंने कहा कि ये कैसे हो सकता है कि एक ही मामले में अपराधियों के दो सेट बनाए जाएं। एसपी शिमला का नेतृत्व पूरी तरह से फेल हुआ है। शिमला पुलिस में कॉमन सेंस की कमी के कारण ही थाने के भीतर एक आरोपी का कत्ल हुआ है। कहा कि थाने में हुए कत्ल पर एसपी शिमला की ओर से बैठाई गई मजिस्ट्रियल जांच सीआरपीसी 176 के तहत उस वक्त की जाती है, जब मौत के कारण का सही पता नहीं लग पा रहा हो। जब धारा 302 के तहत मामला पहले से ही दर्ज किया जा चुका हो तो किसी भी तरह की जांच का कोई मतलब नहीं है। पुलिस अधीक्षक ने अपने कमजोर साथियों को ठीक से अपनी सेवाएं देने के लिए प्रशिक्षित नहीं किया है। एक सेल में केवल एक ही आरोपी को रखा जाना चाहिए। अगर जगह की कमी थी तो आरोपी को दूसरे थाने में भेजा जाना चाहिए था।

संजीव गांधी ही कांगड़ा के एसपी रहेंगे!

संजीव गांधी ही कांगड़ा के एसपी रहेंगे!

संजीव गांधी ही एसपी कांगड़ा रहेंगे। सिंघम के नाम से मशहूर गांधी के तबादले का इलाके में विरोध हो रहा था। वनइंडिया तें तबादले को लेकर खबर भी आई थी लेकिन पुलिस महकमें में हुये भारी फेरबदल में कांगड़ा एसपी अंडर ट्रांसफर सौम्या को एसपी शिमला लगाया गया है। वहीं, एसपी सिरमौर रोहित मालपानी को लगाया गया है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि संजीव गांधी के तबादला आदेश आदेश रद्द हों सकते हैं। बता दें कि सिरमौर के लिए एसपी कांगड़ा के आर्डर हुए थे। लेकिन वहां पर रोहित मालपानी को लगाया गया है। हालांकि संजीव गांधी के तबादला आदेश रद होने के बारे में कोई अधिसूचना जारी नहीं की गई है। लेकिन जल्द ही इस तरह की अधिसूचना जारी होने की उम्मीद है। गांधी की ट्रांसफर को लेकर लोग सीएम से भी मिले थे और गांधी की ट्रांसफर रुकवाने के लिए मांग की थी।

Read Also: कोटखाई कांड: सूरज नेपाली की हत्या प्राइवेट पार्ट क्रश करने से हुई या गला घोंटने से!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kotkhai gang rape, Police officers transferred, three suspended.
Please Wait while comments are loading...