कोटखाई मर्डर: घर में की दरिंदगी, जंगल में फेंका, हुए नए खुलासे

Subscribe to Oneindia Hindi

शिमला। हिमाचल प्रदेश में कोटखाई मर्डर एवं गैंगरेप केस की जांच कर रही एसआईटी को इलाके के सात युवकों को शक के आधार पर अपने रडार पर लिया व मंगलवार शाम चार युवकों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार युवकों को शिमला में किसी गुप्त स्थान पर रखा गया है व पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। कुछ युवकों ने अपना गुनाह भी कबूल लिया है। इस मामले में पुलिस को एक जीप चालक सहित तीन युवकों की अब तालाश है।

Read Also: कोटखाई गैंगरेप केस: पुलिस ने 4 आरोपियों को किया गिरफ्तार

सात आरोपियों में से चार गिरफ्तार

सात आरोपियों में से चार गिरफ्तार

फिलवक्त पुलिस आरोपियों के नाम उजागर नहीं कर रही ताकि जांच प्रभावित न हो बाकि आरोपी भी पकड़े जा सकें। पुलिस इस बारे में बुधवार को खुलासा कर सकती है। मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस को सभी सात आरोपियों पर पहले ही दिन से शक था। इलाके में दबी जुबान में लोगों ने इन पर शक जता दिया था।

यह युवक कोटखाई के महासू के सटे हलाईला, मडोग व बलसन गांवों के हैं लेकिन आरोपियों की पृष्ठभूमि को देखते हुये उन पर हाथ डालना आसान नहीं था। कोटखाई में सेब की अच्छी खासी फसल होती है व सेब कारोबारी करोड़पति हैं जिनका राजनिति में भी अच्छा खासा रसूख रहता है इसलिये पहले सबूतों को जुटाने पर जोर दिया गया। पुलिस को सबूतों की कड़ियां जोड़ने में पांच दिन लग गये। जिसके चलते मृतका छात्रा के शरीर पर मिले फिंगरप्रिंट का कुछ आरोपियों के फिंगरप्रिट का मैच होना व युवकों का अपने गांव से बाहर निकल जाना और आपस में मोबाइल पर संपर्क में रहना पुलिस के शक को मजबूत कर गया। पुलिस ने आरोपियों के मोबाइल को ट्रेकिंग पर डालकर रिकार्ड भी खंगाले व उनकी लोकेशन पर भी नजर रखी गई। कुछ आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में अपना गुनाह कबूल लिया है।

दरिंदों के कब्जे में 36 घंटे तक रही छात्रा

दरिंदों के कब्जे में 36 घंटे तक रही छात्रा

शिमला जिला के तहसील कोटखाई के महासू स्कूल में 10वीं में पढ़ने वाली 15 साल की नाबालिग छात्रा जो अपने मामा के घर रह रही थी, ने कभी कल्पना भी नहीं की होगी कि चार जुलाई की शाम 4 बजे वह अंतिम बार स्कूल के गेट से बाहर निकलेगी और कभी स्कूल नहीं लौटेगी। उसे इस बात की जरा भी भनक नहीं थी कि उसके साथ ऐसी दरिंदगी होगी। छात्रा को दरिंदों ने लगभग 36 घंटे तक कब्जे में रखा और उसके साथ गैंगरेप किया। मौके पर शराब की खाली बोतलें भी मिली हैं। उनसे भी फिंगर प्रिंटस लिए गए हैं।

घर में दरिंदगी, गाड़ी से जंगल में फेंका

घर में दरिंदगी, गाड़ी से जंगल में फेंका

हैवानियत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आरोपियों ने उसके हाथ और पैर भी तोड़ दिए थे। पोस्टमॉर्टम में खुलासा हुआ है कि पहले छात्रा से गैंग रेप हुआ है फिर उसका गला घोंटा गया है। बताया जा रहा है कि छात्रा के साथ गैंगरेप जंगल में नहीं आरोपियों में से एक युवक के घर में हुआ। उसके बाद उसका गला घोंटा गया व जंगल में फेंका गया। पुलिस गैंगरेप वाले घर से भी सबूत जुटाने का प्रयास कर रही है। वहीं पुलिस को यह भी शक है कि जंगल में वाहन से लेकर शव को फेंका गया इसलिये उस वाहन की भी तालाश की जा रही है।

स्कूल से घर लौटते समय हुई गायब

स्कूल से घर लौटते समय हुई गायब

गौरतलब कि 15 वर्षीय छात्रा शिलगिरी लौटते समय अचानक चार जुलाई की शाम को गायब हो गई। 5 जुलाई की शाम को जब मृतका का छोटा भाई स्कूल से घर पंहुचा तो उसने मां-बाप को बताया कि दीदी 4 जुलाई को घर आई थी लेकिन अभी तक घर नहीं लौटी। बेटे का जवाब सुनकर मां-बाप के होश उड़ गए और खोज-खबर में जुट गए। घर न पहुंचने पर 6 जुलाई को माता-पिता और परिजनों ने खोज खबर लेनी शुरू की। परिजन बेटी की खोज के लिए रिश्तेदारों और जंगलों की और निकल पड़े। उन्होंने सोचा कि कहीं बेटी जंगली-जानवरों का शिकार तो नहीं बन गई लेकिन जब वास्तविकता सामने आई तो सबके होश उड़ गए। स्कूल से महज 4 किलोमीटर दूर जंगल में नाबालिग की लाश को गड्ढे में फेंका गया था। 6 जुलाई की सुबह 9 बजे छात्रा की लाश नग्न अवस्था में स्कूल से 4 किलोमीटर दूर घने जंगल में मिली।

घर से सात किलोमीटर दूर है स्कूल, जंगल से जाता है रास्ता

घर से सात किलोमीटर दूर है स्कूल, जंगल से जाता है रास्ता

नाबालिग को भी घर से करीब 7 किलोमीटर घने जंगलों से होकर स्कूल जाना पड़ता था और डेढ़ घंटे का सफर कर स्कूल पहुंचते थे। अगर स्कूल पास होता तो शायद यह घटना ही न होती। प्रदेश में कानून व्यवस्था पर भी ऐसी घटना ने सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं। शिक्षा विभाग से लेकर शासन-प्रशासन भी सवालों के घेरे में है।

Read Also: ड्रग्स, सेक्स का कॉकटेल बनी रेव पार्टियां, कुल्लू के जंगल में रेड

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Priyanka was gang raped in home and thrwon in forest of Kotkhai, Himachal Pradesh.
Please Wait while comments are loading...