India
  • search
हिमाचल प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

हिमाचल चुनाव में अग्निपथ योजना को मुद्दा बनाने की कोशिश में कांग्रेस और आप

By विजयेंदर शर्मा, शिमला
|
Google Oneindia News

शिमला, 23 जून। चुनावी साल में हिमाचल प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के लिये देश भर में अग्निपथ योजना का विरोध गले की फांस बन गया है। प्रदेश भर में युवाओं में इस योजना के खिलाफ भारी रोष देखने को मिल रहा है और जगह-जगह धरने प्रदर्शन हो रहे हैं। जिससे चुनाव प्रचार में जुटे भाजपा नेता अब बैकफुट पर आ गये हैं और उनके चुनावी दौरे नहीं बल्कि युवाओं को योजना के लाभ गिनाने में समय गंवाना पड़ रहा है।

Congress and AAP trying to make Agnipath scheme issue in Himachal election

दबी जुबान में भाजपा नेता मानने लगे हैं कि वीर भूमि के नाम से प्रख्यात हिमाचल प्रदेश में इस योजना को लेकर युवाओं में गुस्सा हैं। और हालात जल्द न संभले तो भाजपा को इसका नुकसान उठाना पडेगा। यही वजह है कि इन दिनों केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर सहित हिमाचल भाजपा के तमाम बड़े नेता युवाओं को अगिनपथ योजना का लाभ गिनाने में व्यस्त हैं। दरअसल , हिमाचल प्रदेश से सेना में हर साल युवा भर्ती होते रहे हैं। लेकिन पिछले दो साल में कोविड के चलते सेना भर्ती रुकी थी और इस साल भर्ती की तैयारी कर रहे युवाओं को उम्मीद थी कि भर्ती होने का मौका मिलेगा। लेकिन अचानक केन्द्र सरकार की अग्निपथ योजना की घोषणा से उनकी सारी उम्मीदों पर पानी फिर गया हैं।

आंकड़ों के मुताबिक दो साल पहले हुई भर्ती में पंजाब हरियाणा और हिमाचल से 18 हजार 798 युवा सेना में भर्ती हुये थे। जिनमें पंजाब से 7813 और हिमाचल 5882 व हरियाणा से 5097 युवा भर्ती हुये थे। इन दिनों भारतीय सेना में वीरभूमि हिमाचल प्रदेश से बडी तादाद में जवान सेना में हैं। कांगडा और हमीरपुर जिलों से सबसे अधिक युवा हैं। इसी तरह पूर्व सैनिकों की तादाद में अच्छी खासी है। लेकिन यह लोग अब अपने भविष्य को चिंतित हैं। इस तबके की नाराजगी पर मरहम लगाने के लिए विपक्षी दल कांग्रेस सामने आ गया है। कांग्रेस नेताओं को लगता है कि चुनावी साल में युवाओं की नाराजगी एक ओर भाजपा पर भारी पड़ेगी, तो कांग्रेस पार्टी को इसका लाभ मिल सकता है। यही वजह है कि कांग्रेस नेता इस मुद्दे पर खासे आक्रामक नजर आ रहे हैं।

    Agnipath Scheme And Reservation: Retired सैनिकों पर चौंकाने वाली रिपोर्ट | वनइंडिया हिंदी | *News

    हिमाचल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू ने इस योजना का विरोध करते हुये अगिनपथ योजना को युवाओं के भविष्य पर कुठाराघात बताया है। उनका मानना है कि यह योजना युवा विरोधी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के कांगड़ा, हमीरपुर, बिलासपुर और उना जिलों में हर घर से एक युवा सेना में अपनी सेवाएं दे रहा है। लिहाजा नई योजना से अब यहां के युवाओं को नुकसान होगा। युवाओं में पनपे आक्रोश की कीमत चुनावों में भाजपा को चुकानी पडेगी। कांग्रेस नेता ने कहा कि सेना में अग्निवीर योजना देश वे युवाओं के साथ धोखा है।यह बेरोजगारी खत्म करने के लिए नहीं बल्कि बेरोज़गारों को ही खत्म करने की योजना है।देश का युवा इसके खिलाफ खड़ा हो चुका है।कांग्रेस पार्टी इस योजना का कड़ा विरोध करती है। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की पूरी कोशिश है कि इस योजना को चुनावी मुद्दा बनाया जाये। कांग्रेस ने जहां हर चुनाव क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन किये और योजना के खिलाफ लगातार प्रदर्शन किये हैं। शिमला में भी पार्टी ने विरोध प्रदर्शन किया है।

    वहीं आम आदमी पार्टी ने भी राज्यव्यापी प्रदर्शन योजना के खिलाफ किये हैं। हिमाचल आप के अध्यक्ष सुरजीत ठाकुर की अगुवाई में पार्टी का एक शिष्टमंडल प्रदेश के राज्यपाल से भी मिला है। आप ने भी योजना को वापिस लेने की मांग की है। ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार अग्निवीर योजना पर पूरी तरह से घिर चुकी है। जिसका विरोध न सिर्फ देश का वह युवा कर रहा है जो सेना में भर्ती होकर तन मन धन से देश की सेवा करना चाहता है बल्कि वे भूतपूर्व सैनिक और अधिकारी भी इस योजना का विरोध कर रहे हैं। देश में आज जो आग भड़की है वह भाजपा सरकार की गलत नीतियों से भड़की है जिसे शांत करने के लिए सिर्फ एक मात्र साधन है जो सेना में भर्ती होने के लिए अग्नि वीर योजना लाई है उसे तुरंत वापिस ले ताकि देश का में लगी हुई आग शांत हो सके।

    इस बीच, वरिष्ठ भाजपा नेता विधायक रमेश धवाला ने सेना भर्ती के लिए केन्द्र सरकार द्वारा लांच की गई अग्निपथ योजना का समर्थन किया है। उन्होंने आज यहां कहा कि विपक्षी दल इस निर्णय पर देश के युवाओं को भ्रमित करने का कुप्रयास कर रहे हैं। रमेश धवाला ने कहा कि युवाओं के हितों को ध्यान में रखते हुए और सेना में सेवा के उनके उत्साह को देखते हुए इस योजना को पुरानी व्यवस्था के साथ एकीकृत किया गया है। उन्होंने कहा कि यह योजना युवाओं के सशस्त्र बलों में शामिल होने और राष्ट्र की सेवा करने के सपनों को पूरा करने का सुनहरा अवसर प्रदान करेगी। इससे युवा सैन्य अनुशासन, प्रेरणा, कौशल और शारीरिक फिटनेस को आत्मसात कर सक्षम बन सकेंगे। इस योजना से बेहतरीन कौशल, प्रमाणन और डिप्लोमा, उच्चतर शिक्षा, क्रैडिट के माध्यम से वे आसानी से समाज से जुड़ने में सक्षम होंगे।

    हिमाचल कांग्रेस में वर्चस्व की लड़ाई, सीएम पद और टिकट की दावेदारी पर नेताओं में मचा है घमासानहिमाचल कांग्रेस में वर्चस्व की लड़ाई, सीएम पद और टिकट की दावेदारी पर नेताओं में मचा है घमासान

    Comments
    English summary
    Congress and AAP trying to make Agnipath scheme issue in Himachal election
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X