• search
हिमाचल प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

हिमाचल: जय राम की ताजपोशी के बाद धूमल के तेवर को थामने की चुनौती

By Rajeevkumar Singh
|
Google Oneindia News

शिमला। नये मुख्यमंत्री को लेकर विधायक दल की बैठक में भले ही जय राम ठाकुर की ताजपोशी का रास्ता साफ हो गया हो लेकिन भाजपा नेता प्रेम कुमार धूमल के तेवर अभी ठंडे नहीं हुये हैं, न ही वह आसानी से अपने हथियार डालने को तैयार हैं। लिहाजा साफ संदेश है कि धूमल अब अपनी राह चलेंगे। भले ही उनके विरोधी शांता कुमार व जे पी नड्डा एकजुट हो रहे हों। हिमाचल भाजपा में नड्डा-शांता की जुगलबंदी ने ही राजनीति की नई इबारत लिखी व जय राम ठाकुर के रूप में नई ताकत प्रदेश की राजनीति में उभर कर सामने आ गई है लेकिन धूमल तो धूमल हैं। उन्हें इसकी परवाह नहीं है।

 After Jai Ram declared CM, Dhumal is still problem for BJP in Himachal

विधायक दल की बैठक में भाग लेने आये धूमल ने आज अपने विरोधियों पर निशाना साधते हुये कहा जिन लोगों ने घरों में पार्टी के झंडे तक नहीं लगाए वो आज अनुशासनहीनता की बात कर रहे हैं। धूमल ने नारे लगाने वालों को अनुशासनहीनता के दायरे में लाने वालों को करारा जवाब देते हुये कहा कि वह कार्यकताओं को जज्बात को नहीं समझते। काबिलेगौर है कि केन्द्रीय पर्यवेक्षक निर्मला सीतारमण व नरेन्द्र तोमर के समक्ष धूमल व जयराम के पक्ष में नारेबाजी करने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं को सांसद शांता कुमार ने ही अनुशासनहीनता करार दिया था और पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती ने उनकी बात को सही करार दिया था लेकिन धूमल की बातों से साफ है कि वह इससे अलग राय रखते हैं।

धूमल ने कहा कि वे पार्टी के सच्चे कार्यकर्ता रहे हैं। आगे भी रहेंगे, सीएम पद के लिए जो भी नाम तय किया गया है उसको मेरा पूरा समर्थन रहेगा। उन्होंने कहा कि जो भी फैसला उनके संदर्भ में पार्टी ने पहले लिया है वह उन्होंने माना और जी जान से काम किया। आगे भी ऐसा ही होगा। केंद्र में कोई अहम पद दिए जाने को लेकर धूमल ने कहा कि उन्हें इस मामले में कोई जानकारी नहीं है, जो होगा वह देखा जाएगा। सुजानपुर सीट में मिली हार पर पूर्व सीएम ने कुछ इस तरह से जवाब दिया जो बीत गई उसे बिसार रहा हूं, आगे की सुध ले रहा हूं।

धूमल की इस बयानबाजी से एकबार फिर हिमाचल भाजपा में चल रही तकरार सामने आ गई है। जिससे अब आने वाले समय में देखना होगा कि आखिर किस तरीके से पार्टी धूमल खेमे को शांत करवाती है। जानकारों का मानना है कि यह लड़ाई अब लंबी चलेगी,जिससे जय राम ठाकुर को जूझना पड़ेगा।

<strong>Read Also: जानिए आखिर कैसे पर्दे के पीछे की जंग को जयराम ठाकुर ने जीता</strong>Read Also: जानिए आखिर कैसे पर्दे के पीछे की जंग को जयराम ठाकुर ने जीता

English summary
After Jai Ram declared CM, Dhumal is still problem for BJP in Himachal.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X