• search
हरियाणा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

हरियाणा: सिंघु बॉर्डर पर एक और किसान की जान गई, 4 माह से धरने का हिस्सा थे राजेंद्र

|

सोनीपत, अप्रैल 12: केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध में महीनों से धरना दे रहे किसानों में से फिर एक किसान की जान चली गई। यहां सिंघु बॉर्डर के धरनास्थल पर सोनीपत जिले के गांव बीचपड़ी निवासी राजेंद्र को दिल का दौरा पड़ा। जिससे उनकी मौत हो गई। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि, राजेंद्र चार महीने से धरने का हिस्सा थे। 10 दिन पहले परिचित की मौत होने के बाद वह कल ही धरने पर वापस लौटे थे।

    Kisan Andolan : Singhu Border पर एक और Farmer की गई जान, अब तक 250 से ज्यादा की मौत | वनइंडिया हिंदी

    sonipat farmer lost life on the Singhu border during farmers protest against farm laws

    धरना दे रहे किसानों का कहना है कि, इस तरह किसानों की अकाल मौत के लिए सरकार जिम्मेदार है। उन्होंने मांग की कि, सरकार अपनी हठधर्मिता को छोड़ तीनों कृषि कानूनों को वापस ले। एक वृद्ध रोते बोले कि, सरकार आखिर कब तक यूं ही अन्नदाता की बलि लेती रहेगी। वहीं, डॉक्टर ने बताया कि, राजेंद्र के हृदय की गति रुक गई थी और उनकी मौत हो गई।

    sonipat farmer lost life on the Singhu border during farmers protest against farm laws

    स्वास्थ्य मंत्री विज बोले- हरियाणा-दिल्ली सीमा पर किसानों का बड़ा जमावड़ा, मुझे उन्हें भी कोरोना वायरस से बचाना है

    राजेंद्र के शव को उनके पैतृक गांव बिचपड़ी ले जाया गया। जहां स्थानीय लोगों की मौजूदगी में उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

    राकेश टिकैत बोले- किसानों से शाहीन बाग जैसा सलूक न करे सरकार, आप कॉल तो करो, हमें है इंतजार

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    sonipat farmer lost life on the Singhu border during farmers protest against farm laws
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X