• search
हरियाणा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

हरियाणा में गेहूं की खरीद 1 अप्रैल से शुरू होगी, जानिए कैसी चल रही है अनाज मंडियों की तैयारी

|

चंडीगढ़। हरियाणा में गेहूं की सरकारी खरीद 1 अप्रैल से शुरू होगी। पहली बार जौ की फसल भी एमएसपी पर खरीदी जाएगी। राज्य सरकार का कहना है कि आगामी रबी सीजन की फसलों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीदने के लिए हरियाणा सरकार ने मंडी स्तर की सभी तैयारियां कर ली है। रबी फसलों की खरीद दो चरणों में शुरू होगी।"

इस बारे में जानकारी देते हुए उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि, ट्रांसपोर्टरों को 48 घंटों के भीतर उठान करने के आदेश दिए गए हैं अन्यथा वे जुर्माना भरने के लिए तैयार रहें।" दुष्यंत चौटाला ने कहा कि, "अब तक करीब साढ़े 7 लाख किसानों ने अपनी फसल बेचने के लिए पंजीकरण करवाया है। उन्होंने कहा कि, किसानों को उनकी फसल मंडियों में बेचने लाने के लिए अग्रिम सूचित किया जाएगा।"

govt will purchase wheat crops on MSP from april 1st

एक-एक दाना एमएसपी पर खरीदेंगे

उपमुख्यमंत्री ने फसल खरीद की जानकारी देते हुए कहा, "हरियाणा सरकार 'अपनी फसल अपना ब्यौरा' पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवाने वाले किसानों का गेहूं, सरसों, जौ, दाल-चने की फसल का एक-एक दाना एमएसपी पर खरीदेगी। उक्त बैठक में अधिकारियों को कहा गया कि, किसी भी स्तर पर कमी नहीं आनी चाहिए। साथ ही, खरीद प्रक्रिया को सुगम बनाने और किसानों-आढ़तियों को किसी प्रकार की समस्या न आए, समय पर उठान बारे आवश्यक निर्देश दिए गए।

चना और दालों की खरीद 10 अप्रैल से

दुष्यंत चौटाला ने बताया- गेहूं व सरसों की सरकारी खरीद हरियाणा सरकार एक अप्रैल से शुरू करेगी तथा जौ, चना और दालों की एमएसपी पर खरीद 10 अप्रैल से होगी।" बता दिया जाए कि, दुष्यंत चौटाला ने रबी की फसलों की खरीद को लेकर खरीद प्रक्रिया से जुड़े उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की है। इस बैठक में खरीद प्रक्रिया को सुगम बनाने और किसानों-आढ़तियों को किसी प्रकार की समस्या न आए, समय पर उठान बारे आवश्यक निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि किसानों को अपनी फसल बेचने में किसी प्रकार की समस्या किसी भी स्तर पर नहीं आनी चाहिए।"

..तो लग जाएगा जुर्माना

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि, अगर किसी ट्रांसपोर्टर ने 48 घण्टे में मंडी से फसल का उठान नहीं किया तो उस पर जुर्माना किया जाएगा। उन्होंने कहा कि, किसानों को अपनी फसल बेचने में किसी प्रकार की समस्या न हो, इसका ध्यान रखा जाएगा।' बता दें कि, चौटाला ने रबी की फसलों की खरीद को लेकर खरीद-प्रक्रिया से जुड़े उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की थी। उस बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के प्रधान सचिव वी उमाशंकर, अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास तथा अनुराग रस्तोगी, आईएएस अधिकारी डी के बेहरा, हरदीप सिंह समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

सरकार ने कहा- किसान की फसल का 48 घंटे में मंडी से उठान न होने पर लगेगा जुर्माना

कुरुक्षेत्र में मंडियों में सफाई व्यवस्था बदहाल

हालांकि, सरकार के दावे के उलट प्रदेश के कई स्थानों पर अनाज मंडियों में सफाई व्यवस्था बदहाल पड़ी है। मंडियों में फड़ों पर जगह-जगह कूड़े के ढेर लगे हैं। बताया जा रहा है कि, जिला भर में करीब 12 अनाज मंडियों 10 खरीद केंद्रों पर गेहूं की सरकारी खरीद का काम होता है। लेकिन कई जग​ह सफाई के बदतर हालात बने हुए हैं, ऐसे में खरीद केंद्रों पर तो हालत और भी खराब हैं। वहीं, सफाई व्यवस्था को लेकर थानेसर मार्केट कमेटी के सचिव हरजीत सिंह का कहना है कि, सफाई कर्मी साफ-सफाई में लगे हैं। उन्होंने कहा कि, कर्मचारियों को शौचालयों और वाटर कूलर की सफाई भी जल्द करने के लिए कहा गया है। दो दिन में सब कर लिया जाएगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
govt will purchase wheat crops on MSP from april 1st
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X