• search
हापुड़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

CAA: जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए लगी भीड़, 1947 के बाद का डेटा निकालने में कर्मचारी परेशान

|

हापुड़। नागरिकता संशोधन कानून बनने के बाद जनता में भ्रम की स्थिति अभी भी बनी हुई है, जिसको लेकर कई जगह हिंसा जैसी घटना भी देखने को मिली थी। अब CAA को लेकर नगर पालिका में अपने जन्म प्रमाण पत्र बनवाने वालों की भीड़ बढ़ती जा रही है।

एक सप्ताह में 360 लोगों ने किए आवेदन

एक सप्ताह में 360 लोगों ने किए आवेदन

दरअसल, मामला उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ का है, जहां नगर पालिका परिसर में जन्म और मृत्यु प्रमाण पत्र कार्यालय पर काफी भीड़ देखने को मिल रही है। पिछले 1 सप्ताह के दौरान करीब 360 लोगों ने व 30 साल से अधिक उम्र के लोगों ने अपने जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आवेदन जमा करने शुरू कर दिए हैं। इसको लेकर नगर पालिका ऑफिस के काउंटर पर भीड़ का नजारा देखने को मिल रहा है।

कर्मचारियों को भी हो रही परेशानी

कर्मचारियों को भी हो रही परेशानी

1947 से लेकर अब तक के लोग भी अपने जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए नगर पालिका परिसर के ऑफिस पहुंच रहे हैं। वहीं, कागजों का मिलान नहीं होने के कारण नगर पालिका कर्मचारी को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

एनआरसी में आने का डर

एनआरसी में आने का डर

बताया जा रहा है कि आजादी के बाद के लोग भी जो आज जीवित हैं, वह भी अपना प्रमाण पत्र बनवाने के लिए अप्लाई कर रहे हैं। नागरिकता संशोधन कानून बनने के बाद हुए उपद्रव को लेकर लोग भयभीत हैं और उन्हें लग रहा है कि वह एनआरसी में ना जाएं, इसलिए वह अपना अपने परिवार के लोगों का नाम दर्ज कराना चाह रहे हैं।

CAA हिंसा: रामपुर में प्रशासन ने 28 लोगों को भेजा 14 लाख का रिकवरी नोटिस

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
people rush to get birth certificate in hapur due to caa and nrc
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X