• search
गुजरात न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

गुजरात में बारिश का कहर: कहीं बच्चे डूबे तो कहीं पशु, उफने नदी-नाले, कई जिलों में रिकॉर्ड 10 इंच वर्षा

|

राजकोट। गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र में भारी बारिश का सिलसिला जारी है। यहां गिर सोमनाथ, अमरेली, द्वारका, वलसाड एवं राजकोट जिलों में वर्षा कहर बरपा रही है। राजकोट में 18 घंटे में ही रिकॉर्ड 10 इंच पानी बरस गया। कई जिलों में पिछले दो दिनों से भारी वर्षा हो रही है। बाढ़ और जलभराव से कोहराम मच गया है। नदी-नाले उफान पर हैं। कहीं बच्चे डूब गए हैं तो कहीं पशु। वाहन खिलौनों की तरह बहे जा रहे हैं। जगह जगह के हालत देखकर ऐसा लग रहा है, जैसे जलप्रलय आ गई हो।

भारी बारिश से नदी-नाले उफान पर

भारी बारिश से नदी-नाले उफान पर

संवाददाता ने बताया कि, राजकोट स्थित पडधरी तहसील के मोटा खिजडिया गांव की गौशाला जलमग्न हो गई। यहां करीब 40 पशु थे, जो तेज बहाव में बहते नजर आए। हालांकि कई पशु किसी तरह सुरक्षित जगहों तक पहुंच गए। मौसम विभाग के अनुसार राजकोट जिले में शाम तक 9 इंच से ज्यादा रिकॉर्ड बारिश दर्ज की गई। इसके अलावा द्वारका, खंभालिया, अमरेली एवं गिर सोमनाथ के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश हुई। गिर सोमनाथ जिले के सूत्रपाड़ा तालुका और द्वारकानगरी में सिर्फ 4 घंटे के दौरान 10 इंच वर्षा हुई।

    Gujrat Heavy rain :कहीं बच्चे डूबे तो कहीं पशु,कई जिलों में,रिकॉर्ड तोड़ बारिश | वनइंडिया हिंदी
    कहीं बच्चे तो कहीं डूबे पशु

    कहीं बच्चे तो कहीं डूबे पशु

    इन नगरों में जलभराव के चलते जन-जीवन अस्त व्यस्त हुआ जा रहा है। घरों में पानी भर गया है और सड़क-पगडंडियां डूब गई हैं। जिसके चलते वाहन डूब रहे हैं। वहीं, प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि, सतर्कता रि वजह से जन-हानि नहीं हुई है।

    संवाददाता द्वारा भेजे गए वीडियोज में आप देख सकते हैं कि, राजकोट जिले के गोंडल, देरडीकुंभाजी, जेतलपुर, धोराजी, जामकंडोरणा आदि इलाकों में ​कैसी बारिश हुई है।

    गुजरात के 6 जिलों में भयंकर बारिश, अहमदाबाद में भरा पानी, बिजली ने लील ली लड़की की जान

    किसानों में खुशी, कहीं हुई परेशानी

    किसानों में खुशी, कहीं हुई परेशानी

    भारी बारिश की वजह से कुछ स्थानों पर किसानों में आनंद का माहौल है, तो वहीं निचले इलाकों के लोग जलभराव से परेशान हैं। बारिश के कारण आजी व न्यारी डेम ओवरफ्लो होने की कगार पर पहुंच गए हैं और सभी डेमो के दरवाजे खोले गए हैं।

    गुजरात: सौराष्ट्र-कच्छ में 18 जून तक बारिश होने की मौसम विभाग ने दी चेतावनी, कई जिलों में मेघ बरसे

    इन इलाकों में बरसा दो इंच से अधिक पानी

    इन इलाकों में बरसा दो इंच से अधिक पानी

    इधर, अमरेली जिले की तालाला तहसील के सुरवा, धावा, माधुपुर, जाशाधार, जाशापुर, सहित गांवों में दो इंच से अधिक बारिश हुई। जिले के विविध भागों में सोमवार तड़के 4 बजे से 8 बजे तक बारिश हुई।

    अगले 5 दिनों तक गुजरात में बरसते रहेंगे मेघ, महाराष्ट्र-मप्र में भी भारी बारिश होगी

    सरस्वती नदी में आई बाढ़, मंदिर घिरा

    सरस्वती नदी में आई बाढ़, मंदिर घिरा

    वहीं, सोमनाथ जिले में सरस्वती नदी में बाढ़ आ गई है। जिससे यहां प्राची स्थित माधवराय मंदिर परिसर में चार से पांच फीट पानी भर गया। इसके अलावा भावनगर जिले के विविध भागों में भी हल्की से मध्यम बारिश हुई है। सौराष्ट्र के जूनागढ़, अमरेली, मोरबी, जामनगर व कच्छ जैसे जिलों में भारी बारिश दर्ज की गई।

    गुजरात: तेज गरज के साथ बरस रहे मेघ, अहमदाबाद में डूबी सड़क, बिजली गिरने से लड़की की मौत

    अगले तीन दिनों तक भारी वर्षा होते रहने का अंदाजा

    अगले तीन दिनों तक भारी वर्षा होते रहने का अंदाजा

    मौसम विभाग के मुताबिक, अभी अगले तीन दिनों के दौरान सौराष्ट्र, उत्तरी व दक्षिणी गुजरात में भारी बारिश की संभावना है। जिसके चलते प्रशासन द्वारा जगह-जगह एनडीआरएफ की टीमों को तैनात किया गया है।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Watch: flood came due to heavy rain at saurashtra, many districts face waterlogging, animals and children drown in rainywater; Video goes to viral
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more