• search
गुजरात न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कोरोना पर फर्ज भारी: अपनी माताओं के अंतिम संस्कार के बाद फिर मरीजों को बचाने हॉस्पिटल लौटे 2 डॉक्टर

|

वडोदरा। कोरोना महामारी से मौत के आंकड़े लगातार बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में कोविड हॉस्पिटलों में सेवा दे रहे डॉक्टरों को बिल्‍कुल भी फुरसत नहीं है। गुजरात के वडोदरा में कोरोना से डॉक्टरों की फैमिली भी संकट में है। दो डॉक्‍टरों की मांताओं की कोरोना के कारण जान चली गई। उन डॉक्‍टरों ने अपनी माताओं के अंतिम संस्कार में हिस्‍सा लिया और उसके बाद फिर अपनी ड्यूटी पर लौट पड़े। अपने-अपने अस्‍पतालों में वे मरीजों को बचाने में जुट गए।

VADODARA: doctors in Gujarat back at work Within a few hours of the demise of their mothers

मां का अंतिम संस्‍कार कर लौटी एक डॉक्‍टर ने कहा कि, मेरी मां ने कहा था कि कर्तव्य से बड़ी कोई जिम्‍मेदारी नहीं, जिसे निभाया जाए। गुरुवार को 3.30 बजे, मां कोविड आईसीयू में वायरस से एक हफ्ते की लड़ाई के बाद गुजर गई थीं। छह घंटे बाद, राज्य-संचालित एसएसजी अस्पताल में से उन्‍हें इसकी सूचना मिली। वहां संबंधित विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ शिल्पा पटेल ने बचाने की काफी कोशिश की, हालांकि मां बच नहीं पाईं। अपनी 77 वर्षीय मां कांता अंबालाल पटेल का अंतिम संस्कार करने के बाद, उन्होंने (डॉक्‍टर) ने अपनी मां की कही हुई बात का अनुसरण करते हुए एक बार फिर अपना PPE सूट पहना और काम पर लौट पड़ीं।

VADODARA: doctors in Gujarat back at work Within a few hours of the demise of their mothers

इसी तरह डॉ राहुल परमार ने भी, अपनी मां, कांता परमार (67) को खो दिया, जो गुरुवार को गांधीनगर में चल बसीं। परमार, जो कि कोविड मैनेजमेंट के लिए नोडल अधिकारी हैं और मध्य गुजरात के सबसे बड़े अस्पताल में शवों के निपटारे वाली टीम का हिस्सा हैं, ने अपनी मां के निधन पर अंतिम संस्कार की रस्म पूरी की। उसके कुछ ही समय बाद वे शुक्रवार को फिर ड्यूटी पर वापस चले गए।

गुजरात में 24 घंटे के भीतर मिले अब तक के सबसे ज्यादा 6690 कोरोना मरीज, ऐसे टूटे कई रिकॉर्डगुजरात में 24 घंटे के भीतर मिले अब तक के सबसे ज्यादा 6690 कोरोना मरीज, ऐसे टूटे कई रिकॉर्ड

परमार ने कहा, "मेरी मां नहीं रहीं। वे उम्रदराज थीं और बीमारी से उनकी जान नहीं गई। बल्कि स्वाभाविक मौत थी। मैंने अपने परिवार के साथ उनके अंतिम संस्कार की रस्म पूरी की और उसके बाद वडोदरा लौट आया।"

    Coronavirus: Delhi में हाल बेहाल, मरीज हलकान, परिजन परेशान | वनइंडिया हिंदी

    English summary
    VADODARA: doctors in Gujarat back at work Within a few hours of the demise of their mothers
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X