• search
गुजरात न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कर्फ्यू में कार ​से निकले मंत्री के बेटे की धौंस पर उसे तीखा जवाब देने वाली सिपाही सुनीता को जानिए

|

सूरत। गुजरात में सूरत के वराछा क्षेत्र में स्वास्थ्य राज्यमंत्री कानाणी के बेटे प्रकाश कानाणी की धौंस का तीखा जवाब देने वाली महिला कॉन्स्टेबल सुनीता यादव सुर्खियों में हैं। मामला मंत्री के बेटे के साथ विवाद का होने के चलते सुनीता का उसकी तैनाती वाले इलाके से दूसरी जगह ट्रांसफर कर दिया गया। साथ ही विभागीय जांच भी शुरू करा दी गई। अब इसे लेकर सुनीता यादव ने फेसबुक पर लाइव वीडियो शेयर किया। जिसमें उन्होंने अपनी विवशता और राजनीति दवाब के बारे में बात की। उन्होंने मीडिया पर झूठ फैलाने के आरोप लगाए और कहा कि, मैं सचाई बताकर रहूंगी।'

सूरत की पुलिस कॉप को लेडी सिंघम कह रहे लोग

सूरत की पुलिस कॉप को लेडी सिंघम कह रहे लोग

सुनीता को ट्विटर और फेसबुक जैसे प्लेटफॉर्म्स पर लोगों का खूब रिस्पॉन्स मिल रहा है। कुछ यूजर्स तो उन्हें लेडी सिंघम भी कह रहे हैं। वहीं, कुछ का कहना है कि जिस भाषा में सुनीता ने मंत्री के बेटे और उसके दोस्तों की धमकियों का जवाब दिया, वैसा किसी पुलिसवाले ने शायद ही दिया हो। मंत्री के बेटे द्वारा 365 दिन एक ही जगह पर तैनाती करवाने की धौंस दिए जाने पर सुनीता ने उससे कहा था- 'पुलिस की वर्दी तुम्हारे बाप की गुलामी के लिए नहीं पहनी'

मूलत: सीकर की रहने वाली हैं सुनीता यादव

मूलत: सीकर की रहने वाली हैं सुनीता यादव

बता दें कि, सुनीता यादव मूलत: राजस्थान के सीकर जिले के रानोली की रहने वाली हैं। उनके चाचा-ताऊ सहित परिवार के अधिकांश लोग यहीं रहते हैं। वहीं, सूरत में उनके पिता रहते हैं। सुनीता की भी ड्यूटी सूरत में लगाई गई। वह ए-डिविजन थाने के पास तैनात रहती थीं। उन्होंने एनसीसी की थी। उसके बाद गुजरात पुलिस में उन्हें बतौर वुमन कॉप मौका मिला था।

सूरत में अन्य कॉन्सटेबल मौके पर न होते तो मेरे साथ दिल्ली जैसा निर्भया-कांड हो जाता: सिपाही सुनीता यादवसूरत में अन्य कॉन्सटेबल मौके पर न होते तो मेरे साथ दिल्ली जैसा निर्भया-कांड हो जाता: सिपाही सुनीता यादव

2017 में गुजरात पुलिस की सेवा ज्वॉइन की

2017 में गुजरात पुलिस की सेवा ज्वॉइन की

सुनीता ने वीर नार्मद साउथ गुजरात यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की थी। यह यूनिवर्सिटी सूरत में ही स्थित है। सोशल मीडिया पर दी गई जानकारी के मुताबिक, सुनीता यादव ने नेशनल चेस प्लेयर में भी काम किया। वर्ष 2017 में वह गुजरात पुलिस का हिस्सा बनी थीं। उनके भाई का नाम सुनील यादव है।

'पुलिस की वर्दी तुम्हारे बाप की गुलामी के लिए नहीं पहनी', मंत्री के बेटे को ये जवाब देने वाली कॉन्स्टेबल का हुआ ट्रांसफर'पुलिस की वर्दी तुम्हारे बाप की गुलामी के लिए नहीं पहनी', मंत्री के बेटे को ये जवाब देने वाली कॉन्स्टेबल का हुआ ट्रांसफर

भाई सुनील यादव ने बताया फेक अकाउंट्स के बारे में

भाई सुनील यादव ने बताया फेक अकाउंट्स के बारे में

सुनील यादव ने हाल ही अपनी बहन सुनीता के बारे में बताया कि ट्विटर पर सुनीता के कई सारे फेक अकाउंट्स लोगों ने बना लिए हैं। खुद सुनीता ने भी उन अकाउंट्स का खंडन किया है। सुनीता ने मंगलवार को कहा कि, मेरा ट्विटर पर अकाउंट नहीं है।'

English summary
know about Woman constable of Surat Police Sunita Yadav, she's earned the nickname of 'Lady Singham’
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X