• search
गुजरात न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

भारी बारिश से बर्बाद हुई 10 बीघा तिल की फसल, हताश किसान ने कीटनाशक पी लिया, चली गई जान

|

सुरेन्द्रनगर। गुजरात के कई जिलों में इस साल भारी बारिश से हजारों किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा। जिससे कर्जदार किसान आत्महत्या को विवश हो गए। ताजा मामला सुरेंद्रनगर जिले का है। जहां एक किसान ने कर्ज लेकर ही अपने 10 बीघा में तिल की खेती की थी। उसकी फसल भारी बारिश के चलते तबाह हो गई। जिससे किसान बहुत दुखी हुआ।

in Surendranagar district, 25 year old farmer ends his life due to crop loss

हताशा में उसने कीटनाशक पी लिया। जिससे उसकी मौत हो गई। सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस आई। पुलिस ने लाश पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दी। संवाददाता ने बताया कि, उक्त घटना सायला तहसील के ढेढुकी गांव की है। जहां 25 वर्षीय चंदुभाई हेमंतभाई खमाणी ने कीटनाशक पीया। उसके घरवालों का कहना है कि, कर्ज बढ़ने से वह परेशान था और जब फसल खराब हुई तो हताश हो गया। उसने अपने खेत पर जाकर ही कीटनाशक पिया।

नल से जल योजना: जिलों में हर घर शुद्ध पेयजल मुहैया कराएगी गुजरात सरकार, नर्मदा से भरे 115 बांध

पता चलने पर उसे हॉस्पिटल ले जाया गया था। जहां उसकी जान चली गई। ऐसा बताया जा रहा है कि, सुरेन्द्रनगर के सायला तहसील के ढेढुकी गांव के लोग किसानी पर ही निर्भर हैं और काफी किसानों की फसल खराब हुई है। चार दिन पहले भी इसी गांव के किसान प्रतापभाई मात्राभाई वेगड ने भी जहर पीकर खुदकुशी कर ली थी और अब चंदुभाई ने भी खुदकुशी का रास्ता अपना लिया। इस प्रकार से गांव में सिर्फ चार दिनों में दो किसानों की खुदकुशी से शोक का माहौल छाया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
in Surendranagar district, 25 year old farmer ends his life due to crop loss
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X