• search
गुजरात न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

प्रधानमंत्री मोदी को चिट्ठी लिखकर बोले मछुआरे- पाकिस्तान से हमें बचाएं, आए रोज कर रहा अगवा

|

अहमदाबाद। पाकिस्तान की मरीन सिक्योरटी एजेंसी द्वारा समुद्र में भारतीय मछुआरों को अक्सर निशाना बनाया जाता रहा है। इसी महीने 48 भारतीय मछुआरों को अगवा कर लिया गया। उसके कुछ दिन बाद पाकिस्तान की ओर से मछुआरों की बोट पर गोलियां बरसा दी गईं। जिसमें एक मछुआरा गंभीर रूप से जख्मी हो गया। घबराए मछुआरों के समूह की ओर से अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम चिट्ठी लिखी गई है। जिसमें उन्होंने मछुआरों को पाकिस्तान से बचाने की अपील की।

प्रधानमंत्री को लिखी मछुआरों ने चिट्ठी

प्रधानमंत्री को लिखी मछुआरों ने चिट्ठी

चिट्ठी के बारे में बताते हुए फिशरमेन बोट एसोसिएशन के प्रमुख तुलसीभाई गोहेल ने कहा कि, ''राज्य में 2 लाख से ज्यादा मछुआरे हैं, जो हर रोज जान की बाजी लगाते हुए अपना पेट पालने के लिए समंदर में जाते हैं और कई कुदरती मुसीबतों का सामना भी करते हैं। किंतु इस दौरान कभी वह गलती से पाकिस्तानी सीमा के करीब चले जाते हैं तो पाकिस्तानियों द्वारा हमारी नावें कब्जा ली जाती हैं। लूटपाट की जाती है और मछुआरों को बंदी बना लिया जाता है।'

मछुआरों के साथ ऐसा सलूक करता है पाक

मछुआरों के साथ ऐसा सलूक करता है पाक

''भारतीय मछुआरों को पाकिस्तान के कैद खानों में ले जाया जाता है। वहां जेलों में सालों तक रखा जाता है और यातनाएं दी जाती हैं। काफी मछुआरे तो 10 साल बाद भी वापस नहीं आ पाते। ऐसे में जरूरी है कि सरकार कुछ ठोस कदम उठाए, ताकि मछुआरों को इस तरह खतरा मोल न लेना पडे। सरकार को अपने यहां के मछुआरों को बचाना चाहिए।' गौरतलब है कि, पाकिस्तान के साथ गुजरात की सैकडों किमी लंबी सीमा है। साथ ही गुजरात का 1600 किलोमीटर का समुद्र तट भी है।

टेक्नोलॉजी को भी अपग्रेड करना चाहिए

टेक्नोलॉजी को भी अपग्रेड करना चाहिए

मछुआरों की ओर से प्रधानमंत्री से जो गुहार लगाई गई है, उसके पीछे की वजह पाकिस्तानी मरीन सिक्योरटी एजेंसी के हालिया हमले बताए जा रहे हैं। मछुआरों की ओर से कहा गया है कि, मछली पकडने जाने वाले मछुआरे जब काफी दूर निकल जाते हैं तो तकनीक के अभाव में 15 नॉटिकल मील से ज्यादा दूर चले जाने पर किसी से संपर्क नहीं हो पाता। मुश्किल के समय वे बिल्कुल अकेले पड़ जाते हैं और कोई मदद को नहीं आ पता। ऐसे में टेक्नोलॉजी को अपग्रेड करना भी आवश्यक है, ताकि मछुआरों को कुदरती या पाकिस्तान की तरफ से आ रही मुश्किलों में समय पर मदद मिल सके।

यहां बना इंडियन रेलवे का पहला ओवर हेड वायर इंटरलॉकिंग सिस्टम, अधिकारियों ने बताए फायदे

900 से ज्यादा नावें पाकिस्तानियों ने लूटीं

हाल ही पाकिस्तान मरीन सिक्योरटी एजेंसी द्वारा तकरीबन 15 से ज्यादा नाव और 50 से ज्यादा मछुआरों को अगवा कर लिया गया था। वहीं, 300 से ज्यादा मछुआरे पाकिस्तान की जेलों में भी बंद हैं। इसके अलावा 900 से ज्यादा नावें भी पाकिस्तानियों द्वारा लूटी जा चुकी हैं। हर साल ऐसी घटनाएं होती हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
gujarati Fishermen wrote letter to PM Narendra Modi, says- Save us from Pakistan
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X