• search
गुजरात न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

गुजरात: परिवार के 5 लोग मृत मिले, बच्चों को खिलाकर मां-बाप ने भी खाई जहरीली मिठाई

|

दाहोद। गुजरात में दाहोद जिले के सुजाईबाग क्षेत्र में एक परिवार ने जहर खा लिया। जिससे 5 लोगों की जान चली गई। सूचना मिलने पर घर पहुंची पुलिस ने लाशें बरामद कीं। प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया कि, खुदकुशी का यह मामला माता-पिता द्वारा पहले संतानों को और फिर खुद जहर खा लेने से जुड़ा है।

दाहोद का परिवार जहर खाकर मरा

दाहोद का परिवार जहर खाकर मरा

संवाददाता ने बताया कि, परिवार सुजाईबाग में स्थित बेतुल अपार्टमेंट में रहता था। परिवार के मुखिया की पहचान सैफतभाई दूधियावाला के रूप में हुई है। वह डिस्पोजल डिश का व्यापार करते थे। कल रात को उन्होंने पत्नी महजबीन संग मिलकर बड़ी बेटी 17 वर्षीय अरवा छोटी बेटी 16 वर्षीय जेनल और सबसे छोटी बेटी 7 वर्षीय हुसैना को जहरीली मिठाई खिला दी।

घर से पुलिस ने उठवाईं लाशें

घर से पुलिस ने उठवाईं लाशें

संतानों को खिलाने के बाद खुद माता-पिता ने भी जहर खाया। इस तरह पांचों की मौत हो गई। पुलिस ने सभी की लाशों को उठाया। उसके बाद उन्हें पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। पुलिस अधिकारी ने कहा कि, मामले की जांच शुरू कर दी गई है। उनके पड़ोसियों से जानकारी ली जा रही है। साथ ही रिश्तेदारों को फोन कर पूछा जा रहा है।

कोरोना से हुई पिता की मौत, 3 बेटियों ने किया दाह संस्कार, बाढ़ के बावजूद श्मशान में पहुंचीं

राज्यभर में हो रही घटना की चर्चा

राज्यभर में हो रही घटना की चर्चा

बहरहाल, इस घटना का राज्यभर में जिक्र हो रहा है। यह फैमिली मुस्लिम थी। आखिर किस वजह से उन्होंने ऐसा कदम उठाया, यह हर कोई जानना चाहता है। बताया जा रहा है कि, परिवार के मुखिया सैफतभाई को उनके पिता भी बार-बार कॉल कर रहे थे। कॉल रिसीव नहीं होने के कारण उन्होंने पास में रहने वाली अपनी बेटी को भाई के घर जाकर देखने के लिए कहा था।

बहन अपने भाई के घर आई तो चला पता

बहन अपने भाई के घर आई तो चला पता

बेटी अपने भाई यानी कि, सैफतभाई के घर आई और दरवाजा खटखटाया। काफी खटखटाने के बाद भी अंदर से किसी ने दरवाजा नहीं खोला। जिसके चलते स्थानीयों की मदद से दरवाजा तोड़ दिया गया। फिर अंदर जो दिखा, उसे देखकर चीख-चिल्लाहट मच गई। फौरन पुलिस को फोन किया गया। साथ ही बेटी ने अपने पिता को भी सूचना दी।

बड़े ने किया छोटे भाई का कत्ल, फिर मां-बाप ने लाश के टुकड़े कराकर ठिकाने लगवाया, 7 माह बाद भेद खुला

पिता ने कहा- अब मेरा सहारा कौन होगा?

पिता ने कहा- अब मेरा सहारा कौन होगा?

इस संबंध में मृतक के पिता शब्बीरभाई दूधियावाला ने बताया कि, सैफत ने कर्जा बढ़ने के कारण अपनी ही साली से गोल्ड लिया था। जिसके चलते वह तनाव में था। उसको टॉर्चर भी किया जा रहा था। मैं बूढ़ा हो गया हूं और ठीक से बोल-चाल भी नहीं पा रहा हूं। बुढ़ापे में अब मेरा सहारा कौन होगा?

कर्ज के चलते ही खुदकुशी की?

कर्ज के चलते ही खुदकुशी की?

सैफतभाई की फैमिली के खुदकुशी के मामले में जो उनके पिता शब्बीरभाई ने बताया है, उससे तो यही अंदाजा लग रहा है कि, रुपयों की तंगी के कारण ही जहर खाकर जान देने की सोची। हालांकि, पुलिस के खुलासे का इंतजार है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
five members of a family found dead in Gujarat's Dahod city
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X