• search
गुजरात न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

दिवाली पर सरकार का तोहफा- कर्मचारियों को मिलेगा 10 हजार का फेस्टिवल एडवांस

|

गांधीनगर। राज्य सरकार ने राज्य कर्मियों को इस त्यौहारी सीजन में बिना ब्याज फेस्टिवल एडवांस देने का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने यह घोषणा की। रूपाणी ने कहा कि, गुजरात में लाखों सरकारी कर्मचारियों को 10 हजार रुपए का फेस्टिवल एडवांस (स्पेशल पैकेज) दिया जाएगा। इस पैकेज से राज्य के 5 लाख से अधिक राज्यकर्मी लाभान्वित होंगे। धनराशि की मांग को बढ़ावा मिलने के साथ लोगों को त्यौहार मनाने में भी तसल्ली मिलेगी।

मिलेगा 10 हजार का फेस्टिवल एडवांस

मिलेगा 10 हजार का फेस्टिवल एडवांस

मुख्यमंत्री ने कैश पैकेज के बारे में बताते हुए कहा कि, सरकार की ओर से यह राशि डिजिटल लेनदेन को प्रोत्साहित करने के लिए RuPay कार्ड के रूप में अधिकारियों और कर्मचारियों को दी जाएगी। उसके बाद 10 हजार रुपए की यह राशि कर्मचारियों को 10 मासिक किश्तों में वापस करनी होगी। राज्य सरकार के अधिकारियों और कर्मचारियों से किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं लिया जाएगा। सिर्फ 10 समान मासिक किश्तों में उनको ये रकम लौटानी पड़ेगी। इस राशि को बैंक से भी प्राप्त कर सकते हैं।

9.61 लाख कर्मचारियों-पेंशनधारकों को डीए

9.61 लाख कर्मचारियों-पेंशनधारकों को डीए

सरकार ने इससे पहले लाखों कर्मचारियों और पेंशनधारकों के लिए महंगाई भत्ता देने की घोषणा की थी। राज्य के डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने कहा था कि, सरकार महंगाई भत्ते के 6 महीने के बाकी एरियर्स में से 3 महीने का एरियर्स दिवाली से पहले चुका देगी। इसके लिए सरकार अपनी तिजोरी से 464 करोड़ रुपए खर्च करेगी। बताते चलें कि, राज्य सरकार ने कर्मचारियों को 1 जुलाई 2019 से 5 प्रतिशत महंगाई भत्ता देने का निर्णय लिया था, जो कि कोरोना के चलते अटक गया। अब दिवाली के पहले 9.61 लाख कर्मचारियों और पेंशनधारकों को पैसे चुकाए गए हैं।

3500 रुपए का बोनस भी मिलेगा

3500 रुपए का बोनस भी मिलेगा

राज्य सरकार से गुजरात में वर्ग-4 वाले सरकारी कर्मचारियों को 3500 रुपए का बोनस भी मिलेगा। इस बारे में डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने बताया कि, हमारी सरकार सूबे में सरकारी, पंचायत, ग्रांट इन एड स्कूल, कॉलेज और संस्थाओं के वर्ग-4 के 30,960 कर्मचारियों को प्रति कर्मचारी 3500 रुपए बोनस प्रदान करेगी। पटेल बोले कि, कोरोना महामारी के चलते सरकार की आय पर असर पड़ा था। आय कम हो गई। तरह तरह के उद्योग इंडस्ट्रीज थम गई थीं। जिसके कारण कर्मचारियों को पिछले 6 महीने का महंगाई भत्ता भी नहीं दिया जा सका। मगर अब क्योंकि, सरकार की आय बढ़ रही है और कर्मचारी अपने परिवार के साथ दिवाली मना सकें, इसके लिए सीएम रूपाणी से परामर्श के बाद एरियर्स की 50% रकम चुकाने का निर्णय लिया है।दिवाली एवं अन्य पर्वों के इस अवसर पर लाखों कर्मचारियों के लिए यह बड़ी भेंट मानी जा रही है।

कोरोना के प्रकोप के बीच गुजरात में परिवहन सेवा बहाल, अब एसटी द्वारा चलाई जाएंगी 400 से ज्यादा एक्स्ट्रा बसेंकोरोना के प्रकोप के बीच गुजरात में परिवहन सेवा बहाल, अब एसटी द्वारा चलाई जाएंगी 400 से ज्यादा एक्स्ट्रा बसें

कोरोना की वजह से नहीं हो सका तब ऐसा

कोरोना की वजह से नहीं हो सका तब ऐसा

संवाददाता ने बताया​ कि, सरकार द्वारा महंगाई भत्ता जनवरी 2020 से वेतन के साथ हर माह चुकाया जाता है, लेकिन 1 जुलाई 2019 से 31 दिसंबर तक 6 महीने के महंगाई भत्ते के अंतर की रकम (एरियर्स) के तहत 950 करोड़ रुपए चुकाने थे। जो कि कोरोना की वजह से नहीं हो सका। अब दीवाली के पहले उन्हें 3 महीने का महंगाई भत्ता दिया जा रहा है। उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने आधिकारिक तौर पर घोषणा की है कि, सभी कर्मचारियों को 3 महीने का महंगाई भत्ता दिया जाएगा और यह पैसा दीवाली से पहले उनके खाते में पहुंच जाएगा। सरकार बोनस के रूप में हर कर्मचारी को 3500 हजार रुपए भेजेगी।

English summary
Rupani govt announces- Employees Will Get Interest Festival Advance, They Will Be Able To Take Money via digital transaction
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X