• search
गोरखपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

तीन सगे भाइयों की एक साथ लगी पुलिस की नौकरी, तीनों की एक ही जगह पोस्टिंग, जुलाई में ही जन्मदिन

|

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के रहने वाले प्रधानाध्यापक सत्यप्रताप यादव और उनके तीन बेटे दिग्विजय यादव, गौरव यादव और सौरभ यादव। ये चार नाम आज पूरे जिले में चर्चा का विषय का बने हुए हैं। वजह है एक अजब संयोग। दरअसल, तीनों भाई दिग्विजय यादव, गौरव यादव और सौरभ यादव की एक साथ एक ही थाने में तैनाती हुई है। बात इतनी नहीं है, तीनों भाई एक ही माह में पैदा हुए थे, तीनों ने एक साल ही पुलिस में भर्ती के लिए आवेदन किया था और एक दिन एग्जाम भी हुआ था। तीनों भाई एक साथ ही पास हो गए और पॉसिंग आउट परेड में भी तीनों ने एक साथ ही की।

यूपी पुलिस की वर्दी पर लगतार बढ़ रहे हैं बदनामी के तमगे, योगी राज में क्या हो रहा है

साल 2018 में तीनों भाइयों ने किया था पुलिस भर्ती में आवेदन

साल 2018 में तीनों भाइयों ने किया था पुलिस भर्ती में आवेदन

गीडा क्षेत्र के वसुधा गांव के रहने वाले सत्यप्रताप यादव प्राथमिक विद्यालय कुरमौल में प्रधानाध्यापक हैं। पत्नी विमला देवी गृहणी हैं। सत्यप्रताप के तीन बेटे दिग्विजय यादव, गौरव यादव और सौरभ यादव की की प्रारंभिक शिक्षा पिपरौली और 10वीं व 12वीं की मुरारी इंटर कॉलेज सहजनवा में हुई। इंटरमीडिएट के बाद दिग्विजय ने इलाहाबाद से बीटेक किया और गौरव ने गोरखपुर यूनिवर्सिटी से बीकॉम और सौरभ ने लिटिल फ्लावर पालीटेक्निक गोरखपुर से डिप्लोमा किया। साल 2018 में तीनों भाइयों ने पुलिस भर्ती के लिए एक साथ आवेदन किया। दिसंबर 2018 में रिजल्ट आया तो तीनों पास हो गए। तीनों को शारीरिक परीक्षा गोरखपुर में हुई थी, जबकि लिखित परीक्षा फैजाबाद में हुई।

पिता ने कहा- कभी पढ़ाई के लिए नहीं डाला दबाव, लेकिन...

पिता ने कहा- कभी पढ़ाई के लिए नहीं डाला दबाव, लेकिन...

पास होने के बाद ट्रेनिंग के लिए तीनों भाइयों को मिर्जापुर में पीएसी 39वीं वाहिनी आवंटित हुई। तीनों ने एक साथ ट्रेनिंग पूरी की। पॉसिंग आउट परेड के बाद निकले तो तीनों भाइयों को एक साथ पहली तैनाती गाजीपुर जिले के रेवतीपुर थाने पर मिली। पिता सत्यप्रताप यादव कहते हैं कि सब ईश्वर की मर्जी से एक साथ होता गया। उन्होंने कहा कि कभी बच्चों पर पढ़ाई के लिए दबाव नहीं डाला, लेकिन उनकी पढ़ाई का मूल्यांकन जरूर करता था। तीनों भाई आपस में कॉम्पटीशन करते थे कि किसका परिणाम बेहतर आएगा।

एक ही ​थाने में तैनात हैं तीनों भाई

एक ही ​थाने में तैनात हैं तीनों भाई

तीनों सगे भाई दिग्विजय, गौरव और सौरभ रेवतीपुर थाने में सिपाही के रूप में तैनात हैं। मिर्जापुर पुलिस ट्रेनिंग सेंटर से गाजीपुर स्थानांतरित होकर विशेष अनुरोध पर एक ही थाने में तैनाती दी गई है। रेवतीपुर थाने में तैनात दिग्विजय ने बताया, ''हम तीनों भाई साथ में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं। तीनों भाई ड्यूटी के साथ ही सिविल सर्विसेस की तैयारी में भी जुटे हैं। कोरोना के चलते कई परीक्षाएं कैंसल हो गई हैं, लेकिन जल्द ही फार्म भरकर परीक्षा में शामिल होंगे।'' बता दें, दिग्विजय और सौरभ सिविल में और गौरव पुलिस में अधिकारी बनना चाहते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
motivational story of three brothers who got job and posting same day and same place in up police
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X