पांच साल में चार बार बेची गई गूंगी लड़की, सैकड़ों बार हुआ रेप, पुलिस को लिखकर बताई आपबीती

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। मानव तस्करी के एक गिरोह का भंडाफोड़ करे हुए उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की पुलिस ने 19 साल की एक गूंगी लड़की छुड़ाया है। तस्करों के चंगुल से निकलने के बाद लड़की ने कागज पर लिखकर अपने ऊपर हुए जुल्मों की कहानी पुलिस को बताई। इस लड़की को बीते पांच साल में कई दफा बेचा गया और सैकड़ों बार इससे रेप और गैंगरेप हुआ। लड़की की आपबीती सुनी तो पुलिसकर्मी भी सकते में आ गए।  

पांच साल पहले पश्चिम बंगाल से आए थे माता-पिता

पांच साल पहले पश्चिम बंगाल से आए थे माता-पिता

हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार, लड़की के माता-पिता पांच साल पहले काम की तलाश में पश्चिम बंगाल से उत्तर प्रदेश के सहारनपुर आए थे। यहां उन्होंने एक फैक्ट्री में काम करना शुरू कर दिया लेकिन खराब सेहत और इलाज ना मिलने के चलते कुछ दिन बाद दोनों की की मौत हो गई। इसके बाद फुरकान नाम के शख्स के घर पर उस समय 14 साल की रही पीड़ित लड़की ने घरेलू काम करना शुरू कर दिया।

आठवीं कक्षा तक पढ़ी है लड़की, लिखकर दी पुलिस को अपनी कहानी

आठवीं कक्षा तक पढ़ी है लड़की, लिखकर दी पुलिस को अपनी कहानी

गूंगी होने के बावजूद पीड़िता आठवीं कक्षा की ड्रॉप आउट है। उसने लिखकर पुलिस को बताया कि किस तरह से उसके साथ रेप हुआ और कैसे दलालों ने उसे एक से दूसरी जगह बेचा। गाजियाबाद जिलाधिकारी ने खुद मामले पर संज्ञान लिया है और लगातार केस पर ध्यान दे रहे हैं।

बिकती रही और रेप होता रहा

बिकती रही और रेप होता रहा

लड़की की काउन्सलिंग कर रहीं प्रियांजलि मिश्रा ने बताया कि जब पीड़िता फुरकान के घर काम करने लगी तो उसने उससे कई दफा रेप किया। कुछ समय बाद उसने उसे अक्षय नाम के युवक को बेच दिया। और अक्षय ने उसे गाजियाबाद के हसन नाम के आदमी को बेच दिया। यहां से लड़की मुरादनगर के अनिल कश्यप को बेच दी गई। लड़की जिसके भी पास जाती रही वहीं उसका रेप और गैंगरेप होता रहा। कश्यप ने लड़की के साथ ना सिर्फ रेप किया बल्कि शादी करने की भी जबरदस्ती की। मिश्रा ने बताया कि उसकी आपबीती सुन कर हमारी भी आंखों में आंसू आ गए।

सहारनपुर पुलिस को फोन पर दी गई थी जानकारी

सहारनपुर पुलिस को फोन पर दी गई थी जानकारी

1 जून को सहारनपुर पुलिस की वुमन हेल्पलाइन पर लड़की के बारे में सूचना दी गई तो पुलिस ने गजियाबाद पुलिस को इस बारे में सूचित किया। इसके बाद पुलिस ने जाल बिछाया और 11 जुलाई को अनिल कश्यप के घर से उसे छुड़ाया।

पुलिस से कश्यप ने कहा कि वो उससे शादी कर चुका है और उसके पास इसके सबूत भी हैं। पुलिस ने मामले की जांच की तो पाया कि ये मामला मानव तस्करी के गिरोह से जुड़ा है। पुलिस मामले की सारी कड़ियों पर काम कर रही है और सभी आरोपियों के खिलाफ मामले दर्ज कर रही है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Raped and sold speech-impaired teen writes her story to police
Please Wait while comments are loading...