• search
गाजियाबाद न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पति को खाने में पीरियड्स का खून मिलाकर देती थी पत्नी, संक्रमण फैलने से शरीर का हुआ ये हाल

|
Google Oneindia News

गाजियाबाद, 30 नवंबर: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। एक शख्स ने आरोप लगाया है कि उसकी पत्नी ने अपने पीरियड्स के खून को खाने में मिलाकर उसे खिलाया, जिससे उसे संक्रमण हो गया। शख्स ने पिछले साल 12 जून को अपनी पत्नी और उसके माता-पिता के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। इन आरोपों की जांच के लिए अब चार सदस्यीय मेडिकल टीम का गठन किया गया है।

संक्रमण की वजह से सूज गया शरीर

संक्रमण की वजह से सूज गया शरीर


शख्स ने अपने दावों को पुष्ट करने के लिए मेडिकल रिपोर्ट भी सौंपी है। पीड़ित की शिकायत पर कवि नगर पुलिस स्टेशन में पत्नी और उसके परिवार के सदस्यों के खिलाफ आईपीसी की धारा 328 (अपराध करने के इरादे से जहर आदि से चोट पहुंचाना) और 120 बी (आपराधिक साजिश) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी। शख्स ने दावा किया कि जब वह खाना खाने के बाद बीमार पड़ा तो उसने मेडिकल टेस्ट करवाया। टेस्ट में इस बात की पुष्टि हुई कि संक्रमण की वजह से उसके शरीर में सूजन है।

2015 में हुई थी शादी, एक बेटा भी है

2015 में हुई थी शादी, एक बेटा भी है

बता दें, शख्स की शादी साल 2015 में हुई थी। दोनों के एक बेटा भी है। शख्स की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत के मुताबिक, उसकी पत्नी बार-बार उसे अपने माता-पिता से अलग रहने के लिए कहती थी, लेकिन वह नहीं माना। इससे उनके बीच अक्सर छोटी-छोटी बातों पर लड़ाई हो जाती थी। शख्स ने आरोप लगाया कि महिला के माता-पिता और उसके भाई ने उसे अपने भोजन में "जहर" देने और उसके खिलाफ "विभिन्न प्रकार के जादू टोना" का इस्तेमाल करने के लिए उकसाया था।

रात के खाने में मिलाकर दिया मासिक धर्म का खून

रात के खाने में मिलाकर दिया मासिक धर्म का खून

शिकायत में कहा गया है कि रोज-रोज के झगड़े से तंग आकर व्यक्ति के माता-पिता अपना घर छोड़कर रिश्तेदारों के साथ रहने चले गए। इसके बाद ही पत्नी ने उसके भोजन में मासिक धर्म का खून मिला दिया और उसे रात के खाने के लिए दिया। शख्स से पूछा गया कि उसे इस बारे में कैसे पता चला, तो उसने बताया कि उसने अपनी पत्नी और उसकी मां के बीच एक रिकॉर्डेड फोन पर बातचीत की थी।

चार सदस्यीय मेडिकल टीम करेगी जांच

चार सदस्यीय मेडिकल टीम करेगी जांच

शख्स ने कहा कि उसने फिर जिला प्रशासन को पत्र लिखा और अनुरोध किया कि प्राथमिकी दर्ज की जाए। एक साल से अधिक समय तक जांच के बाद पुलिस ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पत्र लिखा और उनसे मामले में एक मेडिकल बोर्ड बनाने का आग्रह किया। स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मेडिकल पैनल व्यक्ति द्वारा जमा की गई जांच रिपोर्ट की जांच करेगा और जांच करेगा कि उसके द्वारा लगाए गए आरोप सही हैं या नहीं। अधिकारी ने कहा कि मेडिकल बोर्ड में एक सामान्य चिकित्सक, एक स्त्री रोग विशेषज्ञ, एक रोग विशेषज्ञ और एक हड्डी रोग सर्जन है।

UPTET 2021: यूपी टीईटी परीक्षा की नई डेट का ऐलान, जानिए अब कब होगा एग्जामUPTET 2021: यूपी टीईटी परीक्षा की नई डेट का ऐलान, जानिए अब कब होगा एग्जाम

English summary
ghaziabad man claims his wife give him food mixed with Menstrual blood
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X